वराणासी में पान मसाला और गुटखा पर रोक, कोरोना संक्रमण को देखते हुए लिया गया फैसला

बिक्री करते या सार्वजनिक स्थानों पर खाते पाए जाने पर होगी कार्रवाई।

वराणासी. पिछले 10 दिनों में बनारस में कोरोना पॉज़िटिव केस लगातार बढ़ रहे हैं। बुधवार को 29 पॉज़िटिव व एक मौत के बाद गुरुवार को दिन की पहली रिपोर्ट में ही 11 मरीज़ पॉज़िटिव आए और एक और मौत हुई। इस तरह अब तक कोरोना से बनारस में 21 मौतें हो चुकी हैं, जबकि संक्रमितों की संख्या 536 पहुंच गयी। हालांकि गुरुवार की दोपहर तक 307 मरीज़ ठीक होकर डिस्चार्ज किए जा चुके थे। जबकि बनारस के तीन अस्पतालों में 208 लोगों का इलाज चल रहा है।

प्रशासन ने इसको देखते हुए वराणासी में धारा 144 लागू कर दी है। सिर्फ ज़रूरी सेवाओं को छोड़कर कई प्रतिबंध लगाए गए हैं। थूकने की वजह से कोरोना संक्रमण ज्यादा फैलता है। स्वास्थ्य विभाग के द्वारा थूकने से कोरोना केस बढ़ने का मुख्य कारण गुटखे/पान मसाले का प्रयोग बताया गया है। बढ़़े हुए संक्रमण की विशेष परिस्थितियों को देखते हुए सभी प्रकार के पान मसाला/गुटखा की बिक्री को प्रतिबन्धित किया गया है। सार्वजनिक स्थानों पर गुटखा या पान मसाला के सेवन पर प्रतिबन्ध लगाया गया है।

पान की दुकानों पर पान केवल घर ले जाकर खाने के लिए बिक्री किया जायेगा। पान की दुकानों पर पान मसाला या गुटखा नहीं बेचा जाएगा। कोई व्यक्ति किसी भी दुकान पर पान नहीं खाएगा। किसी भी व्यक्ति का पान खाकर या इसके अतिरिक्त भी खुले में व सार्वजनिक स्थल पर थूकना प्रतिबंधित है और दंडनीय है।

coronavirus Coronavirus Pandemic
रफतउद्दीन फरीद Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned