Panchayat Election: भाजपा ने वाराणसी में 15 बागी नेताओं को पार्टी से निकाला

Panchayat Election में भारतीय जनता पार्टी से बगावत करने वाले वाराणसी के 15 नेताओं और कार्यकर्ताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है। ये सभी पंचायत चुनाव में पार्टी से बगावत कर भााजपा प्रत्याशियों के मुकाबले में निर्दलीय चुनाव लड़ रहे थे।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

वाराणसी. पंचायत चुनाव में बगावत करने वालों को भारतीय जनता पार्टी बख्शने के मूड में नहीं है। चेतावनी के बाद भी न मानने वाले बागियों पर कार्रवाई का सिलसिला शुरू हो चुका है। भदोही के बाद वाराणसी में भी बागियों पर कार्रवाई की गई है। बनारस में पार्टी से बगावत कर मैदान में उतरे 15 बागी पत्याशियों को भाजपा ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा ने इन सभी कार्यकर्ताओं को छह साल के लिए निष्कासित कर दिया है।

इसे भी पढ़ें- पार्टी से बगावत कर चुनाव लड़ने पर विधायक के भाई-भतीजे भाजपा से निकाले गए


बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने पहले ही चेताया था कि पंचायत चुनाव में पार्टी के अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले भाजपा कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई की जाएगी। बावजूद इसके 15 कार्यकर्ताओं ने बागी प्रत्याशी के तौर पर नामांकन कर दिया। पार्टी जिलाध्यक्ष द्वारा समझाने पर भी नहीं मानने पर हाईकमान के आदे सभी को पार्टी से निकाल दिया गया।

इसे भी पढ़ें- भजपा विधायक रवींद्रनाथ त्रिपाठी के परिवार में बगावत, बीजेपी ने टिकट नहीं दिया तो भाई-भतीजे निर्दल चुनाव मैदान में कूदे


बताते चलें कि इसके पहले पार्टी ने भदोही में भी ऐसी ही कार्रवाई की। भदोही से भाजपा विधायक रविंद्रनाथ त्रिपाठी के भाई व दो भतीजों समेत 11 लोगों को पार्टी से निकाल दिया गया। विधायक के भाई भतीजों ने भाजपा से टिकट मांगा था। पार्टी के मना करने के बाद तीनों ने पार्टी प्रत्याशी के खिलाफ निर्दलीय नामांकन कर दिया था, जिसके बाद ये कार्रवाई की गई।

BJP
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned