बंद करो बीएचयू का भगवाकरण, जानिए किसने लगाए बीएचयू के बाहर ये नारे और किया प्रो. संदीप का समर्थन

बंद करो बीएचयू का भगवाकरण, जानिए किसने लगाए बीएचयू के बाहर ये नारे और किया प्रो. संदीप का समर्थन
vijay julus bhu

कुलपति से इस्तीफा मांगने वालों ने निकाला प्रो. पांडेय के बीएचयू में पुन: बहाली पर विजय जुलूसफेरी-पटरी वाले बोले- हमे तो दुत्कार दिया था लेकिन अब हाईकोर्ट का सम्मान करें कुलपति

वाराणसी.  हाईकोर्ट द्वारा प्रो. संदीप पांडेय के बीएचयू में पुन: बहाली के संबंध में दिए गए आदेश की खुशी में शनिवार को बीएचयू के छात्रों व लंका क्षेत्र के फेरी-पटरी वालों के साथ ही समर्थकों ने विजय जुलूस निकाला। विजय ुजुलूस में शामिल लोगों ने बीएचयू के कुलपति पर परिसर के भगवाकरण का आरोप लगाते हुए उनसे अपने पद से इस्तीफा देने की मांग की। 
मैग्सेसे पुरस्कार प्राप्त प्रो. संदीप पांडेय पर गंभीर आरोप लगाते हुए बीएचयू प्रबंध समिति ने उन्हें बीते दिनों बीएचयू से बर्खास्त कर दिया था। हाईकोर्ट ने बीएचयू के इस कदम को गलत ठहराते हुए प्रो. पांडेय को पुन: बहाल करने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट के फैसले से प्रसन्न प्रो. पांडेय के समर्थकों ने बीएचयू के सिंहद्वार पर विजय जुलूस निकाला। समर्थक प्रो. पांडेय को तत्काल बहाल करो, बीएचयू का भगवाकरण बंद करो, कुलपति इस्तीफा लिखे नारों की तख्तियां हाथों में लिए थे। इस दौरान हुई एक सभा में फेरी-पटरी कारोबार से जुड़े चिंतामणि सेठ ने प्रो. पांडेय में अपनी निष्ठा जताते हुए कहा कि बीएचयू के कुलपति ने हम फेरी पटरी वालों से कहा था कि आप लोग मत समझाइए कि बीएचयू को कैसे चलाना है, आज हाईकोर्ट ने कुलपति को आईना दिखा दिया है कि उनकी तानाशाही नहीं चलेगी। इस दौरान मौजूद छात्रों ने बीएचयू के कुलपति पर गंभीर आरोप लगाते हुए उनसे इस्तीफा मांगा। विजय जुलूस और सभा में विकास सिंह, प्रेम सोनकर, धर्मा देवी, धनंजय त्रिपाठी, शोभनाथ, डा. इंदू पांडेय, आकाश यादव समेत अन्य लोग शामिल रहे। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned