पीएम मोदी के मुस्लिम महिला से संवाद कार्यक्रम पर संशय के बादल

जल्द होगा अंतिम निर्णय, जानिए क्या है कहानी

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी के काशी आगमन के दौरान मुस्लिम महिलाओं के साथ संवाद कार्यक्रम पर संशय के बादल छाने लगे हैं। पीएम के लिए जारी आरंभिक प्रोटोकॉल में ऐसे कार्यक्रम का उल्लेख नहीं किया गया है। इसके अतिरिक्त अधिकांश मुस्लिम संगठनों के मुस्लिम महिलाओं को नहीं ले जाने के चलते भी संवाद पर अनिश्चिता के बादल छाने लगे हैं।। फिलहाल एक-दो दिन में सही स्थिति स्पष्ट हो जायेगी।
यह भी पढ़े:-


पीएम नरेन्द्र मोदी २२ सितम्बर को दो दिवसीय दौरे पर काशी आने वाले हैं। इस दौरे के दौरान डीरेका के ऑडिटोरियम में पीएम मोदी व मुस्लिम महिलाओं के बीच संवाद कार्यक्रम कराने की योजना बनायी गयी थी। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए शासन की तरफ से मदरसों को पत्र जारी किया गया था, जिसको लेकर काफी हंगामा मचा था। मुस्लिम महिला फाउंडेशन की महिला सदस्यों ने पीएम मोदी के संवाद कार्यक्रम में भाग लेने की तैयारी की है,लेकिन उन्हें भी कट्टरपंथियों से धमकी मिलने लगी है। इसी बीच डीरेका में होने वाली पीएम मोदी की सभा स्थगित हो चुकी है और आरंभिक प्रोटोकाल में संवाद कार्यक्रम का कही पर जिक्र नहीं किया गया है। खुफिया विभाग के सूत्रों की माने तो अधिकांश संगठनों ने सुरक्षा एवं अन्य कारणों से मुस्लिम महिलाओं को कार्यक्रम मे ले जाने का नाम पर अपने हाथ खड़े कर दिये हैं। पीएम मोदी की मुस्लिम महिलाओं से संवाद हो पाता है कि नहीं। इस पर संशय के बादल छा गये हैं।
यह भी पढ़े:-

पीएम मोदी से मिलने खुद जा सकती है मुस्लिम महिला
पीएम मोदी से मिलने मुस्लिम महिला खुद जा सकती है। केन्द्र सरकार ने तीन तलाक के मुद्दे पर मुस्लिम महिलाओं का खुल कर साथ दिया है और बीजेपी को विश्वास है कि आने वाले संसदीय चुनाव में मुस्लिम महिलाओं का वोट भी पार्टी को मिलेगी। इसी क्रम में पीएम मोदी के संवाद कार्यक्रम को बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा है। फिलहाल संवाद कार्यक्रम का क्या होता है इस पर एक-दो दिन में अंतिम निर्णय हो जायेगा।
यह भी पढ़े:-

Narendra Modi pm modi PM Narendra Modi
Show More
वाराणसी उत्तर प्रदेश
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned