उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पीएम मोदी होंगे चेहरा

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में पीएम मोदी होंगे चेहरा
pm modi will face of up election

यूपी में जातीय समीकरण को देखते हुए पार्टी विजय पताका फहराने के बाद घोषित करेगी सीएम उम्मीदवार

विकास बागी

वाराणसी. उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी मुख्यमंत्री का चेहरा प्रोजेक्ट नहीं करेगी। मिशन 2017 भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का चेहरा आगे करके भारतीय जनता पार्टी पूरा करने की तैयारी में जुटी है। दिल्ली में मुख्यमंत्री का चेहरा प्रोजेक्ट करने के बाद वहां मिली करारी हार से सबक और यूपी में जातीय समीकरण को ध्यान में रखते हुए शीर्ष नेतृत्व ने यह निर्णय लिया है। शीर्ष नेतृत्व का यह फैसला योगी, स्मृति ईरानी व वरुण गांधी समेत उन दिग्गजों के लिए झटका है जो सीएम की रेस में खुद को दौड़ा रहे थे। 

एक चेहरा अर्श से ला देगा फर्श पर 

भारतीय जनता पार्टी की कोर कमेटी को फीडबैक है कि यदि उत्तर प्रदेश में किसी को सीएम का चेहरा बनाया गया तो बिहार जैसे परिणाम सामने आ सकते हैं। फिलहाल उत्तर प्रदेश में जनता सपा और बसपा से ऊब चुकी है। बीजेपी यदि फूंक-फूंककर कदम रखे तो यूपी फतह हो जाएगा वरना फिर पांच साल का लंबा इंतजार। योगी, वरुण गांधी को बीते कुछ दिनों से सीएम के रूप में कुछ पार्टी कार्यकर्ता प्रोजेक्ट कर रहे हैं। अंदरखाने की खबर है कि योगी व वरुण गांधी के तीखे तेवर पार्टी को नुकसान पहुंचा सकते हैं। स्मृति ईरानी भी अक्सर विवादों में घिरी रहती हैं। ऐसे में यदि बीजेपी ने किसी को मुख्यमंत्री के तौर पर पेश किया तो विरोधी दलों को मौका मिल जाएगा और जनता के बीच गलत संदेश जाएगा। पार्टी यह बखूबी समझ रही है कि सिर्फ हिंदूत्व का झंडा फहराने से विधानसभा के द्वार नहीं खुलेंगे। बीते दिनों वाराणसी आए भाजपा प्रदेेश अध्यक्ष केशव मौर्य ने भी इसके संकेत दिए थे कि उत्तर प्रदेश का चुनाव पीएम मोदी की अगुवाई में लड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री उम्मीदवार का फैसला चुनाव बाद विधायकों की कोर कमेटी करेगी। 

कलह-भीतरघात से बचेगी पार्टी 

बीजेपी द्वारा यूपी में सीएम प्रोजेक्ट न करने की एक बड़ी वजह यह भी है कि पार्टी को अंदरुनी कलह व भीतरघात का भय सता रहा है। पार्टी को डर है कि किसी एक को सीएम का चेहरा बनाने पर अन्य के दिग्गजों के समर्थक पूरी ताकत से चुनाव में प्रदर्शन नहीं करेंगे जिससे संख्याबल पर असर पड़ सकता है। 

फिलहाल मोदी सबकी पसंद

बीजेपी भी मानती है कि लोकसभा चुनाव में जनता ने पार्टी को नहीं पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को वोट दिया था। बीते दिनों हुए सर्वे में भी मोदी पीएम के रूप में पसंद के मामले में नंबर एक बने हुए हैं। सर्वे रिपोर्ट और पिछली गलतियों से सबक लेते हुए पार्टी ने इसका निर्णय लिया है। वाराणसी से सांसद होने के नाते मोदी का उत्तर प्रदेश से जुड़ाव है और यहीं जुड़ाव मिशन 2017 में पार्टी के लिए संजीवनी का काम करेगा। 
 
जातीय समीकरण भी ध्यान में 

उत्तर प्रदेश की राजनीति में जातीय समीकरण का खासा दखल है। पार्टी ने बीते दिनों केशव मौर्य को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर अपनी एक चाल तो चल दी लेकिन सीएम के रूप में किसी को प्रोजेक्ट नहीं करने के पीछे की रणनीति यहीं है कि यदि किसी अगड़े को सीएम के रूप में दिखाया तो पिछड़े नाराज हो सकते हैं और पिछड़े को प्रोजेक्ट किया तो सवर्ण नाराज होंगे। ऐसे में पार्टी ने फार्मूला निकाला कि पीएम मोदी के चेहरे को आगे करके पार्टी प्रदेश में चुनाव लड़ेगी और विजय मिलने के बाद कमेटी फैसला करेगी कौन सीएम बनेगा। 

दिल्ली में मिला था सबक, पीएम-सीएम में फर्क

लोकसभा चुनाव में मिली ऐतिहासिक जीत से उत्साहित भाजपा ने बीते साल दिल्ली विधाानसभा चुनाव में वहीं रणनीति अपनाते हुए किरण बेदी को मुख्यमंत्री के रूप में प्रोजेक्ट किया। बीजेपी दिल्ली में चुनाव हार गई। किरण बेदी पर पार्टी के कई पुराने साथियों ने हार का ठीकरा फोड़ा और कहा कि दिल्ली फतह हो जाती यदि किरण बेदी को पार्टी सीएम का चेहरा न बनाती। पीएम और सीएम के बीच का फर्क समझ में आते ही पार्टी बैकफुट पर आ गई। बिहार, महाराष्ट्र, झारखंड, हरियाणा के चुनाव में पार्टी ने कहीं पर भी सीएम उम्मीदवार घोषित नहीं किया। नतीजा-बिहार छोड़कर अन्य तीनों राज्यों में बीजेपी की सरकार बनी। हालांकि बिहार चुनाव के दौरान महागठबंधन ने नीतीश कुमार को अपना मुख्यमंत्री घोषित कर रखा था। बीजेपी पर भी दबाव पड़ा कि वह सीएम के रूप में किसी को सामने लाए लेकिन पार्टी ने अंदरूनी कलह व दिल्ली से सबक लेते हुए अंत तक सीएम उम्मीदवार घोषित नहीं किया।  
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned