scriptPolice action continues in Nilgiri fraud case property worth 6 crores seized | नीलगिरि इंफ्रासिटी फर्जीवाड़ा प्रकरण में पुलिस की कार्रवाई जारी, MD और प्रबंधक की 6 करोड़ की प्रापर्टी सीज | Patrika News

नीलगिरि इंफ्रासिटी फर्जीवाड़ा प्रकरण में पुलिस की कार्रवाई जारी, MD और प्रबंधक की 6 करोड़ की प्रापर्टी सीज

जमीन और अन्य स्कीम में निवेश के नाम पर लोगों को करोड़ो का चूना लगाने वाली कंपनी नीलगिरि इंफ्रासिटी के खिलाफ पुलिस कार्रवाई का सिलसिला जारी है। इस कड़ी में पुलिस सप्ताह भर के भीतर ही कंपनी के MD और प्रबंधक की करीब 6 करोड़ की संपत्ति जब्त कर ली है।

वाराणसी

Published: May 29, 2022 10:15:14 am

वाराणसी. जमीन के नाम पर निवेश व अन्य स्कीम के तहत पैसा दोगुना करने का लालच देकर लोगों के खून-पसीने की कमाई के कोरोड़ों रुपये हजम करने वाली नीलगिरि इंफ्रासिटी के खिलाफ वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट की कार्रवाई का सिलसिला जारी है। इस क्रम में सप्ताह भर में ही दूसरी बड़ी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने कंपनी के MD और प्रबंधक की करीब 6 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर ली है।
नीलगिरि इंफ्रासिटी के एमडी व प्रबंधक की जमीन सील करती वाराणसी पुलिस
नीलगिरि इंफ्रासिटी के एमडी व प्रबंधक की जमीन सील करती वाराणसी पुलिस
सिसवा रामपुर की जमीन की हुई जब्ती

नीलगिरि इंफ्रासिटी के खिलाफ चल रही कार्रवाई के तहत सिगरा थाने की पुलिस ने गैंगस्टर एक्ट के तहत बड़ागांव थाना क्षेत्र के सिसवां रामपुर गांव में 5 करोड़ 95 लाख रुपये मूल्य की जमीन को कुर्क कर लिया। इस दौरान शनिवार को सिगरा पुलिस और राजस्व विभाग की टीम ने डुगडुगी बजवाकर जमीन पर नोटिस बोर्ड भी लगवा दिया। बता दें कि इससे पूर्व तीन दिन पहले ही रोहनिया के दरेखू में कंपनी की 2.21 करोड़ रुपये कीमत की जमीन जब्त की थी।
पुलिस ने दी चेतावनी
जमीन जब्ती की कार्रवाई के दौरान पुलिस ने चेताया कि जब्त जमीन पर किसी ने भी किसी तरह का निर्माण या अन्य कार्य किया तो संबंधित के विरुद्ध भी विधिक कार्रवाई की जाएगी।
9 महीने से जेल में बंद हैं कंपनी के पदाधिकारी

बता दें कि जमीन, गोल्ड और टूर पैकेज जैसे प्रलोभन दे कर लोगों को करोड़ों का चूना लगाने वाले नीलगिरि इंफ्रासिटी के सीएमडी विकास सिंह, एमडी ऋतु सिंह, प्रबंधक प्रदीप यादव 31 अगस्त 2021 से जिला कारागार में बंद है। इन सभी के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। उसी के तहत संपत्ति जब्त करने की कार्रवाई चल रही है।
कई राज्यों में फैला था कारोबार
नीलगिरि इंफ्रासिटी के पदाधिकारियों के विरुद्ध न केवल वाराणसी बल्कि लखनऊ, गोरखपुर, बिहार, झारखंड, एमपी, छत्तीसगढ़, गुजरात, नई दिल्ली और मुंबई सहित अन्य राज्यों के लोगों ने नीलगिरी इंफ्रासिटी में निवेश किया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Domestic cylinder price: घरेलू गैस सिलेंडर महंगा, कमर्शियल सिलेंडर के दाम घटेMp local body elecation: इंदौर में तोडफ़ोड़, भाजपा नेता ने वायरल कर दी ईवीएम की फोटोMumbai News Live Updates: मुंबई में बारिश बनी आफत, कई जगहों पर लगा ट्रैफिक जाम, जलभराव के बाद चार सबवे बंदLalu Prasad Yadav की तबीयत में नहीं हो रहा सुधार, आज एयर एंबुलेंस से लाए जाएंगे दिल्लीKaali Poster Controversy: कानाडा के म्यूजियम ने हिंदू आस्था को ठेस पहुंचाने पर मांगी माफी, नहीं दिखाई जाएगी फिल्मएक के बाद एक दर्ज हो रहे मुकदमों पर छलका आजम का दर्द, बोले सारे मुकदमे हम पर ही होंगे क्या?Maharashtra Politics: शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे पर सीएम एकनाथ शिंदे ने कसा तंज, कहा- ऑटोरिक्शा ने मर्सिडीज को पीछे छोड़ दियादो दिग्गज सांसद आज आखिरी बार कैबिनेट मीटिंग में लेंगे हिस्सा! जानिए क्या है वजह
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.