पुलिस एनकाउंटर में इनामी बदमाश प्रोफेसर गिरफ्तार, रावण फरार होने में कामयाब

पुलिस एनकाउंटर में इनामी बदमाश प्रोफेसर गिरफ्तार, रावण फरार होने में कामयाब
Criminal Rupesh Verma

Devesh Singh | Publish: Apr, 13 2019 04:34:23 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

बीएचयू एमसीए छात्र गौरव सिंह की हत्या में वांछित थे बदमाश, एसएसपी ने बताया दवा के दुकानो से वसूली भी करते थे आरोपी

वाराणसी. बीएचयू छात्र गौरव सिंह हत्याकांड में शामिल एक मुख्य अभियुक्त प्रोफेसर बीती रात पुलिस एनकाउंटर में घायल होने के बाद पकड़ा गया है जबकि उसका साथी रावण पुलिस को चकमा देकर भागने में कामयाब रहा है। शनिवार को एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने पत्रकार वार्ता कर बीएचयू छात्र मर्डर से जड़ी जानकारी साझा की।
यह भी पढ़े:-पहली बार दो बाहुबली आ सकते हैं आमने-सामने, एक ने थामा कांग्रेस का दामन


SSP Anand Kulkarni
IMAGE CREDIT: Patrika

एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि बीएचयू एमसीए छात्र गौरव सिंह की हत्या वर्चस्व को लेकर हुई थी। पहले ही कुछ आरोपियों की गिरफ्तारी हो चुकी थी लेकिन प्रोफेसर उर्फ सनी उर्फ रूपेश वर्मा व राजा दुबे उर्फ रावण निवासी बक्सर बिहार की पुलिस तलाश कर रही थी। प्रोफेसर पर २५ हजार का इनाम भी रखा गया था। बीती रात लंका थाना प्रभारी भारत भूषण तिवारी को मुखबिर से सूचना मिली थी कि प्रोफेसर व रावण दोनों ही मलहिया से बाईपास की तरफ जाने वाले हैं। लंका पुलिस ने लौटूबीर मंदिर के पास घेराबंदी की थी। इसी बीच बाईपास की तरफ से बाइक सवार दो युवक आते हुए दिखायी पड़े। पुलिस ने उन्हें रोकने का इशारा किया तो युवको ने फायरिंग कर दी। पुलिस व बदमाशों के बीच आठ से दस राउंड फायरिंग हुई। गोली चलने बंद होने पर पुलिस ने देखा कि एक युवक के जांघ में गोली लगी है और संकटमोचन चौकी प्रभारी ईश्वर दयाल दुबे भी बदमाशों की गोली से घायल हो गये हैं। पुलिस ने घायल युवक की पहचान इनामी बदमाश प्रोफेसर के रुप में की। अंधरे का लाभ उठा कर प्रोफेसर का सहयोगी रावण फरार होने में कामयाब रहा। एनकाउंटर स्थल से पुलिस को अपाचे बाइक, देसी पिस्टल व दो कारतूस भी मिले। चौकी प्रभारी व घायल बदमाश को इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने बताया कि बीएचयू छात्र मर्डर में अभी रावण व अन्य एक आरोपी फरार चल रहे हैं जिन्हें भी जल्द गिरफ्तार किया जायेगा। पत्रकार वार्ता में एसपी सिटी दिनेश सिंह व सीओ भेलूपुर अनिल कुमार भी उपस्थित थे।
यह भी पढ़े:-काशी विद्यापीठ के छात्रावास पर पुलिस का छापा, चलाया गया तलाशी अभियान

दवा के दुकानों से होती थी वसूली, वर्चस्व की लड़ाई में मारा गया था गौरव सिंह
बीएचयू के एमसीए छात्र गौरव सिंह वर्चस्व की लड़ाई में मारा गया था। पुलिस के अनुसार गौरव व उसके समर्थक बीएचयू के पास स्थित दवा की दुकानों से धन वसूली करते थे। वसूली में रूपेश तिवारी, पवन मिश्रा, मंंगलम सिंह, आशुतोष त्रिपाठी हस्तक्षेप करने लगे थे। गौरव व उसकी टीम ने इसका विरोध किया। इसके बाद ही दूसरे गुट के लोगों ने गौरव को रास्ते से हटाने के लिए उनकी जान ले ली।
यह भी पढ़े:-प्रत्याशियों की संख्या सैकड़ों होने पर भी यहां होगा EVM से चुनाव

बेहद शातिर अपराधी है प्रोफेसर, आधा दर्जन मामलों में खा चुका है जेल की हवा
रूपेश वर्मा उर्फ प्रोफेसर काफी शातिर किस्म का अपराधी है। जरायम की दुनिया में प्रोफेसर का पहली बार नाम बक्सर में सोना लूटने के मामले में आया था। इसके बाद कई आपराधिक मामलों में वह पांच बार जेल की हवा खा चुका है। बीएचयू छात्र गौरव सिंह का मर्डर, डाफी बाइपास पर बाइक लूट, जोमेटो वालों से लूट आदि मामलों में वह आरोपी था। पुलिस का मानना है कि रावण के पकड़े जाने के बाद परिसर में अराजक तत्वों की हरकतो पर लगाम लगाने में आसानी होगी।
यह भी पढ़े:-मनोज सिन्हा ने बीजेपी की जीत के लिए मजार में की चादरपोशी, कहा पश्चिम यूपी में इतनी सीटो पर मिलेगी विजय

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned