पोस्टर प्रदर्शनी लगा कर छात्रों को बताया महात्मा गांधी का जीवन दर्शन

आशा ट्रस्ट के सौजन्य से गांधी पोस्टर प्रदर्शनी का आयोजन किया गया

By: Ajay Chaturvedi

Published: 18 Dec 2018, 07:35 PM IST

वाराणसी. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वें जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में वाराणसी में स्वयंसेवी संस्थाओं की ओर से जगह-जगह पोस्टर प्रदर्शनी लगाई जा रही है। इसका शीर्षक है, 'आओ बापू को जानें'। इसका उद्देश्य छात्र-छात्राओं को महात्मा गांधी के जीवन दर्शन, उनके संदेश, उनके विचारों को बताना है। इसी कड़ी में मंगलवार को चौबेपुर के दी इलीट इंग्लिश स्कूल में गांधी पोस्टर प्रदर्शनी लगाई गई।

सामाजिक संस्था आशा ट्रस्ट के तत्वावधान में "आओ बापू को जाने" अभियान के तहत गांधी जी के जीवन के विभिन्न आयामों एवं उनके संदेशों को बच्चो और युवाओं तक पहुंचाने के लिए यह प्रदर्शनी का आयोजन किया जा रहा है। कार्यक्रम संयोजक वल्लभाचार्य पांडेय ने बताया कि जयंती वर्ष में कुल 150 विद्यालयों में गांधी प्रदर्शनी लगाएंगे। कुल 150 पोस्टर के माध्यम से गांधी जी के व्यक्तित्व और संदेश की जानकारी देने की कोशिश है।

इस अवसर पर बच्चो को संबोधित करते हुए विद्यालय के प्रबधंक कुमुद उपाध्याय ने कहा कि गांधी जी जीवन संदेश से हमें सदैव प्रेरणा मिलती है। उनके संदेशों को बच्चों को जीवन में अपनाना चाहिए। विद्यालय के प्रधानाचार्य विजय कृष्ण सेठ ने कहा कि गांधी जी के विचार आज भी दुनिया भर के लिए प्रासंगिक हैं, इन्हें नई पीढ़ी तक पहुंचाने की जरूरत है। सबसे रोचक यह कि छात्र-छात्राओं में राष्ट्रपिता के बारे में जानने की उत्सुकता प्रबल दिखी। उन्होंने पोस्टर प्रदशनी में न केवल रूचि दिखाई बल्कि नोट्स बनाए।

प्रदर्शनी में प्रदीप कुमार सिंह, अंजना उपाध्याय, प्रेम लता चौबे, अतुल चौबे, पूनम मालवीय, उमाशंकर प्रसाद , मिथिलेश, रमाशंकर दीक्षित, गंगाराम, समिता आदि का प्रमुख योगदान रहा।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर आधारित पोस्टर प्रदर्शनी
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned