Teachers Day: प्राइमरी टीचर्स ने मनाया शिक्षक सम्मान बचाओ दिवस, योगी सरकार के खिलाफ बोला हल्ला

Teachers Day पर योगी सरकार के प्रेरणा एप का प्राइमरी टीचर्स ने किया विरोध
बोले, टीचर एक तरफ सीएम कहते हैं ढाई साल में प्राइमरी स्कूलों में बढी गुणवत्ता फिर भी अविश्वास
शिक्षा विभाग के अफसरों पर लगाया नकारात्मक प्रचार का आरोप

By: Ajay Chaturvedi

Published: 05 Sep 2019, 04:07 PM IST

वाराणसी. Teachers Day को जिले के प्राइमरी टीचर्स ने शिक्षक सम्मान बचाओ दिवस के रूप में मनाया। स्कूलों में नियमित पठन-पाठन के बाद वे जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पहुंचे और मुख्य द्वार पर धरना दिया। इस मौके पर उन्होंने यूपी सरकार पर जम कर हमला बोला। कहा कि एक तरफ मुख्यमंत्री कहते हैं कि ढाई साल में प्राथमिक स्कूलों की गुणवत्ता में सुधार आया है, वहीं दूसरी तरफ जिनकी बदौलत गुणवत्ता में सुधार आया है उन्हीं पर अविश्वास किया जा रहा है। वे समय से स्कूल पहुंचते हैं कि नहीं, पूरे समय तक स्कूल में रहते हैं कि नहीं इसके लिए प्रेरणा एप लाया जा रहा है, जिसका हम सभी शिक्षक एक स्वर से विरोध करते हैं।

ये भी पढें- Teachers Day Special: वो शिक्षक जिसने मुफलिसी से सीखी जीने की कला फिर बदल दी गांव की तस्वीर

इस मौके पर जिलाध्यक्ष संतोष कुमार सिंह ने कहा कि शिक्षकों के मान-सम्मान के साथ सरकार और अधिकारी जो खिलवाड़ कर रहे हैं उसे किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। कहा कि सेवा शर्तों में छेड़-छाड़, नित नए प्रयोग कर शिक्षकों को गैर शिक्षण कार्यों में लगा कर गुणवत्ता की बात करना बेमानी है। फिर भी हम शिक्षक सीमित संसाधनों में अपना संपूर्ण देने का प्रयास करते हैं और प्राथमिक शिक्षा में हमारे शिक्षकों के प्रयास से बहुत तेजी से तस्वीर बदल रही है। बावजूद इसके शासन-प्रशासन शिक्षकों के विरुद्ध नकारात्मक प्रचार कर रहे हैं इसे हम किसी कीमत पर स्वीकार नहीं करेंगे। अपने मान-सम्मान के लिए किसी भी स्तर तक जाने को तैयार हैं।

उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के वरिष्ठ जिला उपाध्यक्ष व काशी विद्यापीठ ब्लॉक इकाई के अध्यक्ष सनत कुमार सिंह ने कहा कि वैसे तो हम शिक्षकों की कई मांगें हैं, जिनमें पुरानी पेंशन व्यवस्था लागू करने से लेकर प्रत्येक विद्यालय में शिक्षक-छात्र अनुपात सही करने की खातिर शिक्षकों की नियुक्ति, गैर शिक्षण कार्यों से मुक्ति प्रमुख है लेकिन इस समय हम सभी शिक्षक अपने सम्मान की खातिर संघर्षरत हैं। विभाग स्तर पर भ्रम फैलाया जा रहा है, शिक्षकों और शिक्षिकाओं को डराया जा रहा है, कहा जा रहा है कि सूबे में 50 हजार शिक्षकों ने प्रेरणा एप डाउनलोड कर लिया है। लेकिन इससे हम डरने वाले नहीं हैं। हम शिक्षक प्रेरणा एप का विरोध कर रहे हैं और अंतिम दम तक करेंगे।

जिला मंत्री कैलाश नाथ यादव ने प्रेरणा एप के विरोध सहित 12 सूत्री मागों की चर्चा की। बताया कि संघ के प्रांतीय नेतृत्व के निर्णय के तहत हम सभी शिक्षक यहीं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर 11 से 13 सितंबर तक धरना-प्रदर्शन करेंगे। अंतिम दिन यानी 13 सिंतबर को मुख्यमंत्री को संबोधित 12 सूत्री ज्ञापन जिलाधिकारी के माध्यम से भेजा जाएगा। इससे पूर्व अन्य शिक्षक वक्ताओं ने योगी सरकार के खिलाफ अपना पक्ष रखा।

इस मौके पर जितेंद्र पांडेय, सुनील सिंह, उमाकांत शर्मा, ज्योति भूषण, बृजेश यादव, अनूप सिंह, दुर्गा सिंह, संजय कुमार सिंह, विश्वास पांडेय, सुरेंद्र सिंह, वीरेंद्र प्रताप सिंह, कौशल कुमार सिंह, वीरेंद्र गुप्ता, राकेश चंद्र पाठक, संजीव राय, प्रणव राय, संजय सिंह, पार्थेश्वर पांडेय, राम सेवक यादव, श्याम नारायण, सुरेंद्र यादव, अरविंद पांडेय, कुंवर भगत सिंह, नीरज मिश्र, क्षमानंद त्रिपाठी, रमाशंकर यादव, राजपति साहनी, विवेकानंद सिंह, सुरेंद्र वर्मा, अशोक सिंह, रूपेश राय, सरिता राय, श्रद्धा मिश्रा, शिप्रा पांडेय आदि मौजूद रहे। संचालन अजय तिवारी ने किया।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned