प्रियंका गांधी चुनार फोर्ट से पहुंचीं वाराणसी, काशी विश्वनाथ, काल भैैरव का किया पूजन, बोलीं संघर्ष रहेगा जारी

सोनभद्र नरसंहार पीड़ितों से चुनार में ही मिल कर उनकी पीड़ा सुनी
किया वादा कांग्रेस देगी हर पीड़ित परिवार को 10-10 लाख रुपये की सहायता राशि

By: Ajay Chaturvedi

Published: 20 Jul 2019, 04:17 PM IST

वाराणसी. नारायणपुर से चुनार किला तक के बीच 26 घंटे का धरना खत्म कर प्रियंका गांधी पहुंचीं बनारस। यहां वह सीधे श्री काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंची और शुरू किया पूजन-अर्चन। प्रियंका गांधी बाबा विश्वनाथ दरबार से निकल कर काशी के कोतवाल काल भैरव का भी दर्शन पूजन किया। उनके साथ उत्तर प्रदेश विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू, मुकुल वासनिक, ललितेश पति त्रिपाठी, अजय राय भीं हैँ। मीडिया से बातचीत में कहा प्रियंका ने मेरा संघर्ष जारी रहेगा। भगवान से कुछ नहीं मांगा। बस धन्यवाद दिया। दर्शन-पूजन के बाद वह बाबतपुर स्थिति लालबहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से दिल्ली के लिए रवान हो गईँ। विश्वनाथ मंदिर में उन्होंने 3:40 से 3:53 बजे तक पूजन किया।

बता दें कि प्रियंका गांधी शुक्रवार की सुबह बनारस आई थीं यहां बीएचयू के ट्रामा सेंटर में सोनभद्र नरसंहार के घायलों से मिलने के बाद सोनभद्र के लिए रवाना हुईँ लेकिन बीच रास्ते नारायणपुर में ही उन्हें रोक लिया गया। इस पर वह पहले नारायणपुर पुलिस चौकी के समीप धरने पर बैठ गईं। वहां से मिर्जापुर प्रशासन उन्हें लेकर चुनार कोर्ट गया। वहां उन्होंने पार्टी के नेताओं के साथ रात गुजारी। सोनभद्र नरसंहार पीड़ितो को जैसे ही यह पता चला कि प्रियंका गांधी उनसे मिलने आ रही थीं पर प्रदेश शासन उन्हें आने नहीं दे रहा तो वो खुद ही चुनार पहुंच गए। पीड़ितो से बातचीत करने के बाद दोपहर करीब दो बजे उन्होंने धरना समाप्त किया।
प्रियंका ने कहा कि हमारा मकसद पूरा हो गया है। प्रियंका ने सभी पीड़ित परिवारों को 10-10 लाख रुपये कांग्रेस से देने का वादा किया है। साथ ही ट्रस्ट की जमीन आदिवासियों को देने की बात भी कही है।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned