प्रियंका गांधी ने मोदी के गढ़ में दिखाई ताकत, हजारों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ किया रोड शो

प्रियंका गांधी ने मोदी के गढ़ में दिखाई ताकत, हजारों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ किया रोड शो

Ajay Chaturvedi | Publish: May, 15 2019 10:57:53 PM (IST) | Updated: May, 16 2019 08:26:22 AM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

-लंका से गोदौलिया तक के पांच किलो मीटर का रास्ता पटा रहा स्थानीय लोगों से
-बनारस की जनता के हांथों-हांथ लिया कांग्रेस महासचिव को
-नाले में तब्दील असि नदी की हकीकत भी जानी
-गाड़ी से उतर पुराने कांग्रेसी संपूर्णानंद तिवारी के पांव छू कर लिया आशीर्वाद
-रविदास गेट पर बीएचयू का छात्र हुआ बेहोश तो गाड़ी से उतर उसे उठा कर भिजवाया अस्पताल
-बाबा विश्वनाथ और काशी के कोतवाल बाबा काल भैरव का दर्शन कर मांगा आशीर्वाद
-गोदौलिया पर जनता से कहा, ये है कबीर की नगरी, सत्य की नगरी, सत्या का साथ दें अजय को जिताएं

 

डॉ अजय कृष्ण चतुर्वेदी


वाराणसी. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार को नरेंद्र मोदी के गढ़ में मेगा रोड शो किया। आलम यह था कि लंका स्थित महामना मालवीय की प्रतिमा से गोदौलिया तक के पांच किलो मीटर के रास्ते में केवल सिर ही दिखाई दे रहा था। हर तरफ ढोल नगाड़े की थाप पर लोग अपनी प्रिय नेता का स्वागत करते रहे। जगह-जगह लोगों ने उनके ऊपर गुलाब की पंखुड़ियां भी बरसाईं। कई जगहों पर तो ऐसा लग रहा था मानों ज्वार उतर आया हो जनता का। लोग चल नहीं रहे थे बल्कि भीढ़ उन्हें चलाए जा रही थी। इसमें क्या बाल, क्या वृद्ध, क्या पुरुष क्या महिला, सबकी सहभागिता रही। सभी प्रियंका को एक नजर देखने को बेताब दिखा। लोग मोबाइल कैमरे से फोटो लेते रहे। कुछ लोग कैमरे को जूम कर दूर से ही सेल्फी लेते भी देखे गए। महिलाएं छतों और बारजों पर डटी रहीं। यही नहीं लोगों को यह भी कहते सुना गया कि ये काशी की जनता है, ये यहीं की मतदाता है। प्रियंका ने भी काशी की जनता को बेशुमार प्यार लुटाया। बिना थके, बिना रुके वह कभी दोनों हाथ जोड़ कर तो कभी हाथ हिला कर लोगों का अभिवादन स्वीकर करती रहीं। गोदौलिया चौराहे पर रात करीब सवा नौ बजे जब रोड शो पूरा हुआ तो उन्होंने अपने संक्षिप्त भाषण में सिर्फ इतना ही कहा, ये कबीर की नगरी है, सत्य की नगरी है, सत्य का साथ दें, अजय राय को विजयी बनाएं।

 

वाराणसी में प्रियंका गांधी का रोड शो

बता दें कि प्रियंका गांधी का रोड शो शाम पांच बजे शुरू होना था लेकिन सलेमपुर से आने में विलंब हुआ जिसके कारण रोड शो करीब डेढ घंटे विलंब से शुरू हो सका। लेकिन बनारस की जनता उनके रोड शो में शरीक होने के लिए डटी रही। बनारस के कांग्रेसियो का उत्साह देखते बन रहा था। लंका से लेकर गोदौलिया, ज्ञानवापी, मैदागिन, काल भैरव मंदिर तक लोग तीसरे पहर से ही जमे रहे। इस पाक रमज़ान के महीने में अल्पसंख्यकों ने भी अपनी प्रिय नेता का जोरदार खैरमकदम किया। अल्पसंख्यक बहुल इलाके में तो तिल रखने की जगह नहीं थी। लेकिन अस्सी जिसे ब्राह्मणों का क्षेत्र कहा जाता है, बुद्धिजीवियों का इलाका कहा जाता है वहां भी लोगों ने प्रियंका गांधी का झूम कर स्वागत किया। इस दौरान लंका और अस्सी पर कुछ लोगों ने मोदी जिंदाबाद के नारे भी लगाए जिसका कांग्रेसियों जमकर विरोध भी किया। कुछ देर के लिए हंगामे की स्थिति बनी रही। लेकिन पुलिस और वरिष्ठ कांग्रेसियों ने स्थिति को तुरंत नियंत्रित कर लिया। गोदौलिया पर भी कुछ लोगों ने नरेंद्र मोदी जिंदाबाद के नारे लगाने की कोशिश की तो पुलिस ने उन्हें खदेड़ा।

 

वाराणसी में प्रियंका गांधी का रोड शो

लंका स्थित महामना मालवीय की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद जैसे-जैसे प्रियंका गांधी के रोड शो का काफिला आगे बढ़ा लोग जुटते गए और कारवां बनता गया। लंका तिराहे के यानी संत रविदास गेट पर काफिला पहुंचा तो गर्मी के चलते बीएचयू का एक छात्र प्रशांत नामक 28 वर्षीय युवक बेहोश हो गया, इसकी सूचना मिलते ही प्रियंका ने गाड़ी रुकवा दी, वह गाड़ी से उतरीं और उसे सरसुंदर लाल अस्पताल भिजवाया।

इससे आगे बढ़ा काफिला तो जैसे ही नाले में तब्दील असि नदी के पास पहुंचा तो इस बार नाला ढंका नहीं था, सो प्रियंका ने उसे देख गाड़ी में सवार कांग्रेस प्रत्याशी अजय राय से पूछा और हकीकत जानते ही वह फिर गाड़ी से उतरीं और नाले के समीप जा कर वास्तविकता से रू-ब-रू हुईं। वह गौर से उस असि नदी के समाप्त हो चुके वजूद को निहरती रहीं जिसके नाम पर यह शहर वाराणसी बसा है। यहां वह काफी देर तक रुकी रहीं, पूरी जानकारी हासिल करने के बाद ही आगे बढ़ीं।

 

पुराने कांग्रेस संपूर्णानंद तिवारी

असि नदी के पुलिया से अस्सी चौराहा होते वह जैसे ही काफिला पुरातन कांग्रेसी संपूर्णानंद तिवारी के आवास के पास पहुंचा तो वहां गाड़ी फिर रुकी। यहां जिला कांग्रेस प्रचार समिति के प्रभारी अनिल श्रीवास्तव अन्नू के साथ वह लगभग चार फीट ऊंचे चबूतरे पर चढ़ीं और पुरातन कांग्रेसी संपूर्णानंद तिवारी के पांव छू कर आशीर्वाद लिया। संपूर्णानंद ने प्रियंका के सिर पर हांथ रख कर विजयी होने का आशीर्वाद दिया। तिवारी ने पत्रिका को बताया कि प्रियंका मुझसे मिलने, मेरा आशीर्वाद लेने मुझ तक आईं। अपनी गाड़ी रुकवा कर इतने ऊंचे चबूतरे पर चढ़ कर आईं। ये है गांधी परिवार। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि इतने सालों से कांग्रेस ने मुझ जैसे लोगों को भुला रखा था, लेकिन अब लगता है कि प्रियंका के राजनीति में आने के बाद पुराने कांग्रेसियों की भी सुधि ली जाएगी। मुझे तो बड़ा ही अच्छा लगा। दिल खुश हो गया। वहीं तिवारी जी के पौत्र का तो खुशी के मारे ठिकाना नहीं था। वह प्रियंका से हाथ मिला कर इतना खुश था कि उसके बोल ही नहीं निकल रहे थे।

 

बीजेपी सरकार के पांच साल की खामियां उजागर करते बच्चे

इसी चबूतरे पर अन्नू, डॉ जितेंद्र सेठ, मीरा तिवारी, पूनम कुंडू आदि ने बच्चियों के माध्यम से नरेंद्र मोदी के पांच साल की खामियों को दिखाने की कोशिश की थी। इसमें नोटबंदी, जीएसटी से बेहाली, बदहाल किसान, बेकार किसान, अबला नारी जैसे चित्रण प्रदर्शित किए गए थे। प्रिंयका गांधी ने इसे भी सराहा।

अस्सी से भदैनी, पांडेय हवेली, पहुंचीं तो लोगों ने उन्हें शहर के प्राचीन विद्यालयों में एक बंगाली टोला इंटर कॉलेज के बारे में बताया। उसका इतिहास बताया, कि यह स्वतंत्रता सेनानियों का गढ़ हुआ करता था। इस पर प्रियंका अपलक उस कॉलेज को देखती रहीं। यहीं उन पर फूलों की वर्षा भी की गई।

पांडेय हवेली से अल्पसंख्यक बहुल इलाके मदनपुरा पहुंचते ही रमजान में तवारीह का समय हो गया था सो उनका काफिला तेजी से आगे बढ़ा। वह कुछ ही देर में गोदौलिया पहुंच गईं। गोदौलिया पर रोड शो पूरा हुआ तो वह कुछ देर के चौराहे पर रुकीं और जनता से मुखातिब होते हुए उन्होंने इतना ही कहा, यह सत्य की नगरी है, संत कबीर की नगरी है। सत्य को परखिए, सत्य का साथ दीजिए और कांग्रेस प्रत्याशी अजय राय को विजयी बनाइए।

यहां से वह कार से छत्ताद्वार (ज्ञानवापी) पहुंची और बाबा विश्वनाथ मंदिर पहुंच कर बाबा के भोग आरती में शरीक हुईं। पूजन-अर्चन कर वह पहुंचीं काशी के कोतवाल बाबा काल भैरव और बाबा का दिव्य दर्शन कर आशीर्वाद मांगा।

इस रोड शो में प्रियंका के साथ गाड़ी पर छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेंद्र सिंह बघेल, राजीव शुक्ल, सावित्री बाई फूले, अनिल श्रीवास्तव, प्रजानाथ शर्मा, राघवेंद्र चौबे, रामनगर पालिका परिषद की चेयरमैन रेखा शर्मा आदि मौजूद रहे।

 

UP News से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Uttar Pradesh Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

UP Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ा तरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App .

 

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned