राजा भइया के पिता नहीं करा पाए मोहर्रम पर भण्डारा, महल में हुए हाउस अरेस्ट, 44 विहिप कार्यकर्ता हिरासत में

Rafatuddin Faridi

Publish: Oct, 01 2017 04:50:45 PM (IST) | Updated: Oct, 01 2017 04:52:15 PM (IST)

Varanasi, Uttar Pradesh, India
राजा भइया के पिता नहीं करा पाए मोहर्रम पर भण्डारा, महल में हुए हाउस अरेस्ट, 44 विहिप कार्यकर्ता हिरासत में

प्रतापगढ़ में मोहर्रम पर भण्डारा नहीं करा सके राजा भइया के पिता, पुलिस ने किया हाउस हरेस्ट, विहिप कार्यकर्ता भी लिये गए हिरासत में।

प्रतापगढ़. सरकार और पुलिस प्रशासन की सख्ती के बाद एक बार फिर राजा भइया के पिता महाराज उदय प्रताप सिंह मोहर्रम के मौके पर भंडारा नहीं करा सके। पिछले साल भी हाईकोर्ट के आदेश के बाद भण्डारा रोक दिया गया था, उनके अड़ जाने के बाद उन्हें हाउस अरेस्ट कर लिया गया था। वैसा ही कुछ इस बार भी हुआ। भण्डारे की तैयारियां होने लगीं और आमंत्रण का संदेश देने वाले केसरिया झण्डे खेशपुरा आशिक स्थित उस मंदिर के पास सड़क के दोनों ओर फहरा दिये गए। इस पर विश्व हिन्दू परिषद ने भी महाराज उदय प्रताप सिंह का समर्थन कर, ऐलान कर दिया कि भण्डारा होके रहेगा। इसके बाद पुलिस प्रशासन ने शनिवार की रात ही भदरी महल पहुंचकर राजा भइया के पिता को हाउस हरेस्ट कर लिया। इधर रविववार को मोहर्रम के दिन जैसे ही विहिप के लोग कुण्डा में इकट्ठा हुए पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।


कोर्ट से रोक के बावजूद भण्डारे की तैयारियों की खबरों के बाद ही कुण्डा के शेखपुरा आशिक गांव में स्थित उस मंदिर के पास जहां भंडारा होता है भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। इसके बाद विहिप की ओर से भी भण्डारा कराने का समर्थन कर दिया गया। इसके बाद पुलिस अधीक्षक और डीएम ने इस मुद्दे को लेकर मीटिंग की। बताया गया है कि जिले के दोनों आलाधिकारी शनिवार की देर रात महाराज उदय प्रताप सिंह के भदरी स्थित महल पहुंचे। वहां उन्हें समझाने की कोशिश की और खूब मान-मनौव्वल किया। जब बात नहीं बनी तो उन्हें वहीं हाउस अरेस्ट कर लिया गया।


इसके बाद रविवार को पुलिस ने विहिप के ऐलान से निपटने और किसी भी तरह भण्डारा न होने देने के लिये कमर कस ली। शेखपुरा आशिक गांव स्थित हनुमान मंदिर के आस-पास भारी मात्रा में कई थानों की फोर्स लगा दी गयी। डीएम और एसपी खुद वहां मौजूद रहे। बावजूद इसके कुण्डा के बाबूगंज बाजार में बड़ी तादाद में विहिप के कार्यकर्ता इकट्ठा होने लगे। सूचना के बाद तत्काल वहां पुलिस पहुंची और 44 लोगों को हिरासत में ले लिया गया। इनमें विहिप के महिला व पुरुष कार्यकर्ता शामिल थे। सभी को पुलिस वैन में भरकर कोतवाली ले जाया गया। उधर बताया गया है कि राजा भइया के पिता शाम सात बजे तक हाउस अरेस्ट रहेंगे। दरअसल मोहर्रम की 10वीं के कई जुलूस भदरी से निकलते हैं। यह बेंती होते हुए दोपहर करीब दो से तीन बजे के बीच शेखपुरा आशिक गांव में हनुमान मंदिर वाले रास्ते से होते हुए अंदर गांव में जाकर ताजिया दफ्न करते हैं। शाम करीब पांच से छह बजे तक जुलूस फिर इसी रास्ते से वापस हो जाते हैं।

 

पहली बार राजा भइया के मंत्री रहते सपा सरकार ने रोका था भण्डारा
राजा भइया के पिता महाराज उदय प्रताप सिंह की ओर से कराए जाने वाले भण्डारे को प्रशासन की ओर से रोकने का यह मामला दूसरी बार है। दरअसल पहली बार पिछले साल सपा सरकार में भण्डारा पुलिस प्रशासन को तब रोकना पड़ा था जब हाईकोर्ट में दाखिल याचिका के बाद इस पर रोक का आदेश आया। उस समय सपा सरकार में खुद राजा भइया मंत्री थे। पर मामला प्रशासनिक होने के चलते उन्होंने इसमें हस्तक्षेप नहीं किया। उस समय भी राजा भइया के पिता को भदरी महल में हाउस हरेस्ट कर लिया गया था।

by SUNIL SOMVANSHI

 

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned