नए सत्र से 'हिंदू स्टडीज' की शुरुआत, स्पेशल कोर्स में छात्रों को पढ़ाया जाएगा रामायण- महाभारत

काशी हिंदी विश्वविद्यालय (Banaras Hindu University) के छात्रों को सनातन धर्म की परंपरा और पद्धति की जानकारी दी जाएगी

By: Karishma Lalwani

Published: 19 Jan 2021, 05:44 PM IST

वाराणसी. काशी हिंदी विश्वविद्यालय (Banaras Hindu University) के छात्रों को सनातन धर्म की परंपरा और पद्धति की जानकारी दी जाएगी। नए सत्र से बीएचयू के भारत अध्ययन केंद्र में 'हिन्दू स्टडीज' पीजी कोर्स की शुरुआत होगी। इसमें रामायण- महाभारत जैसे धार्मिक विषयों के पाठ पढ़ाए जाएंगे। बीएचयू के कला संकाय प्रमुख की अध्यक्षता और प्रमुख आचार्यों के बोर्ड ऑफ स्टडीज ने कोर्स पर अपनी मुहर लगा दी है।

दो वर्षीय कोर्स का पाठ्यक्रम तैयार

नए सत्र 2021-22 से शुरू होने वाले इस कोर्स में छात्रों को हिन्दू धर्म की परंपराओं और सिद्धांतों को पढ़ाया जाएगा। कला संकाय के प्रफेसर विजय बहादुर सिंह ने इस पर कहा है कि नई पीढ़ी को पुरातन परंपराओं और हिन्दू धर्म की जानकारी देने के लिए इस पीजी कोर्स की शुरुआत की जा रही है। यह दो साल का कोर्स होगा जिसमें रामायण, महाभारत जैसी धार्मिक पुस्तकों के अलावा वाद परंपरा, शास्त्रों के अर्थ निर्धारण की पद्धति, लोकवार्ता, हिन्दू कला, ज्ञान मीमांसा, भाषा विज्ञान और सैन्य विज्ञान जैसे विषयों को पढ़ाया जाएगा।

ये भी पढ़ें: आईआईटी कानपुर ने तैयार किया ऐसा सॉफ्टवेयर, ऐप से तलाशे जाएंगे डिस्लेक्सिया पीड़ित छात्र

ये भी पढ़ें: राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना में करें आवेदन, इलाज के लिए फिर नहीं देना होगा खर्च

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned