BREAKING NEWS मानसून की मार न झेल सकी रामनगर थाने की बैरक

BREAKING NEWS मानसून की मार न झेल सकी रामनगर थाने की बैरक
up police
बाल-बाल बचा सिपाही, जानिए क्या हुआ था

वाराणसी. 
वाराणसी के रामनगर थाना परिसर की बैरक की छत शुक्रवार देर रात बैठ गई। संयोग था कि उस समय बैरक में भोजन कर रहे सिपाही पर जब छत का एक छोटा हिस्सा गिरा तो वह तुरंत बैरक से बाहर भागा और उसकी जान बच गई। आम दिनों में आधा दर्जन से अधिक सिपाही सोते हैं, ऐसे में यदि छत उस समय बैठती जब वे सो रहे होते तो सोचिए क्या होता। 

जर्जर हो चुके बैरक में रामनगर थाने पर तैनात आधा दर्जन सिपाहियों के दैनिक उपयोग से जुड़ी वस्तुएं थी। सिपाही उसी बैरक में भोजन करते थे। काशी में हो रही झमाझम बारिश ने बैरक की छत को और कमजोर कर दिया और शुक्रवार रात अचानक भरभरा कर गिर पड़ा। 
  
उत्तर प्रदेश की जर्जर कानून व्यवस्था की तरह ही पुलिसकर्मियों के लिए बने भवनों की हालत भी खस्ता है। पुलिसकर्मियों के लिए बने भवन जब मानसून की मार नहीं झेल पा रहे हैं तो आप अंदाजा लगा सकते हैं कि हमारी पुलिस किन हालात से गुजर रही है। हमारी सुरक्षा में चौबीस घंटे ड्यूटी करने वाले पुलिस कर्मियों के ठिकाने ही नहीं सुरक्षित हैं तो वह अपनी ड्यूटी कैसे निभा पाएंगे।   
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned