पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र पहुंचे मोहन भागवत, संसदीय चुनाव की तैयारियों को देंगे धार

पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र पहुंचे मोहन भागवत, संसदीय चुनाव की तैयारियों को देंगे धार

Devesh Singh | Publish: Feb, 15 2018 08:40:18 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

पीएम मोदी के संसदीय सीट पर भी हो सकता है निर्णय, सप्ताहव्यापी दौरे पर आये हैं आरएसएस चीफ

वाराणसी. आरएसएस चीफ मोहन भागवत गुरुवार को पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र पहुंच गये हैं। दोपहर में श्रमजीवी एक्सप्रेस से पहुंचे मोहन भागवत के लिए सुरक्षा के सख्त बंदोबस्त किये गये थे। सप्तहाव्यापी प्रवास के दौरान मोहन भागवत संसदीय चुनाव 2019 की तैयारियों को धार देंगे। पीएम नरेन्द्र मोद की संसदीय सीट पर भी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की बैठक में हो सकता है।
यह भी पढ़े:-जापान के पीएम के बाद अब फ्रांस के राष्ट्रपति देखेंगे पीएम मोदी के साथ गंगा आरती


RSS Chief Mohan Bhagwat
IMAGE CREDIT: Patrika

बीजेपी के लिए बेहद खास है आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत की बैठक
आरएसएस ने दावा किया है कि यह संघ की रुटीन बैठक है, लेकिन सूत्रों की माने तो आने वाले संसदीय चुनाव को देखते हुए यह बैठक बेहद खास है। गुजरात के तत्कालीन सीएम नरेन्द्र मोदी ने वर्ष २०१४ में गुजरात के बड़ोदरा से नामांकन किया था और संघ के कहने पर ही वाराणसी संसदीय सीट से भी चुनाव लड़ा था। संघ ने ही तय किया था कि वाराणसी से पीएम मोदी चुनाव लड़ते हैं तो यूपी सहित बिहार की कई सीटों पर बीजेपी को फायदा होगा। संघ की रणनीति काम आयी और पहली बार संसदीय चुनाव में बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिला है इसके बाद से पीएम नरेन्द्र मोदी वाराणसी के सांसद भी बने हुए हैं जबकि गुजरात की सीट से उन्होंने इस्तीफा दे दिया। अब संघ फिर तय करेगा कि पीएम मोदी किस संसदीय सीट से चुनाव लड़़ेंगे।
यह भी पढ़े:-बनारस की मेहमान बनेगी जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल

पीएम नरेन्द्र मोदी की संसदीय सीट पर लगी है सबकी निगाहे
बीजेपी से लेकर विरोधी दलों की निगाहे पीएम नरेन्द्र मोदी की संसदीय सीट पर टिकी है। आरएसएस इस विषय पर महत्वपूर्ण निर्णय कर सकता है। यदि पीएम नरेन्द्र मोदी फिर से वाराणसी संसदीय सीट से चुनाव लड़ते हैं तो अधिक दिक्कत नहीं होगी। विरोधी भी काशी के विकास को लेकर पीएम मोदी पर हमला करेंगे। संघ के इच्छानुसार पीएम नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी की जगह किसी अन्य संसदीय सीट से चुनाव लड़ा तो बीजेपी को तगड़ा झटका लग सकता है। पूर्वांचल में यह संकेत जायेगा कि काशी का विकास नहीं कर पाये हैं इसके चलते ही पीएम मोदी को दूसरी सीट से चुनाव लडऩा पड़ रहा है। फिलहाल संघ के निर्णय के बाद स्पष्ट हो जायेगा कि पीएम नरेन्द्र मोदी किस सीट से चुनाव लड़ेंगे।
यह भी पढ़े:-जिससे था अवैध संबंध, उसकी जगह दूसरे लड़की की लगायी थी फोटो, यह हुआ अंजाम

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned