scriptRuckus in BHU ABVP and AISA face to face on Roza Iftar issue | रोजा इफ्तार मुद्दे पर BHU में घमासान, एबीवीपी और आइसा आमने-सामने, कहीं हनुमान चालीसा पाठ तो कहीं प्रतिरोध सभा | Patrika News

रोजा इफ्तार मुद्दे पर BHU में घमासान, एबीवीपी और आइसा आमने-सामने, कहीं हनुमान चालीसा पाठ तो कहीं प्रतिरोध सभा

काशी हिंदू विश्वविद्यालय के महिला महाविद्यालय में कुलपति की मौजूदगी में हुए रोजा अफ्तार को लेकर दो छात्र संगठन आमने सामने आ गए हैं। एक गुट बीएचयू कुलपति आवास के सामने धरने पर बैठ गए तो उधर आइसा कार्यकर्ताओं ने विश्वविद्यालय के सिंह द्वार पर विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया।

वाराणसी

Published: April 28, 2022 07:58:54 pm

वाराणसी. काशी हिंदू विश्वविद्यालय में रोजा अफ्तार को लेकर दो छात्र संगठन (अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद और आइसा) आमने-सामने हो गए हैं। एक गुट जहां कुलपति आवास के सामने धरने पर बैठ कर हनुमान चालीसा का पाठ करने लगा है तो दूसरा गुट विश्वविद्यालय के सिंह द्वार (मुख्य द्वार) पर धरने पर बैठ गया है। वो यहां प्रतिरोध सभा कर रहे हैं।
बीएचयू सिंह द्वार पर आइसा की प्रतिरोध सभा
रोजा इफ्तार मुद्दे पर BHU में घमासान, एबीवीपी और आइसा आमने-सामने, कहीं हनुमान चालीसा पाठ तो कहीं प्रतिरोध सभा
कुलपति आवास के सामने हनुमान चालीसा पाठएबीवीपी कार्यकर्ताओं ने कुलपति आवास पर किया हनुमान चालीसा पाठ

रोज़ा अफ्तार प्रकरण के विरोध में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता काशी हिंदू विश्वविद्यालय के कुलपति आवास के सामने धरने पर बैठ गए और हनुमान चालीसा का पाठ करने लगे। देखते ही देखते वीसी आवास के सामने छात्रों की भीड़ इकट्ठा हो गई। इस दौरान उन्होंने बजरंगबली का जमकर जयकारा लगाया। सामूहिक हनुमान चालीसा पाठ के दौरान छात्र कुलपति आवास की ओर मुखातिब हो कर जयकारे लगा रहे थे।
एबीवीपी छात्रो ने कहा बीएचयू परिसर में परिसर में रोज़ा अफ्तार हो सकता है तो हनुमान चालीसा क्यों नहीं?

इस दौरान एबीवीपी के कार्यकर्ता छात्रों का कहना रहा कि विश्वविद्यालय परिसर में रोज़ा अफ्तार हो सकता है तो हनुमान चालीसा क्यों नहीं? उनका कहना रहा कि विश्वविद्यालय में रोज़ा अफ्तार की नई परंपरा शुरू की गई है जिसका हम विरोध करते हैं। उन्होंने कुलपति के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की। उन्होंने कुलपति को मौलाना तक की संज्ञा से विभूषित किया। इस दौरान ढोलक की ताली पर हनुमान जी की मूर्ति रखकर चालीसा का पाठ किया गया। कुलपति आवास के सामने जय श्री राम के नारे लगाए गए। छात्रों ने कहा कि बीएचयू को एएमयू और जेएनयू नहीं बनने देंगे।
बीएचयू प्रशासन ने कहा माहौल बिगाड़ने का हो रहा प्रयास

इस बीच बीएचयू प्रशासन ने इस संबंध में कहा है कि इस तरह की हरकतों से विश्वविद्यालय का शैक्षणिक व सद्भावपूर्ण वातावरण बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है जो निंदनीय है। विश्वविद्यालय प्रशासन का कहना है कि बीते कई साल से महिला महाविद्यालय में रोज़ा इफ्तार पार्टी होती आ रही है, जिसमें कुलपति शरीक होते रहे हैं। पिछले दो साल कोरोना महामारी के चलते कुलपति, रोज़ा इफ्तार पार्टी में शामिल नहीं हो सके थे।
नई नहीं है रोज़ा अफ्तार पार्टी की परंपरा

विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा कि बीएचयू, शिक्षा की गुणवत्ता, शोध, अनुसंधान और अपनी समग्रता के लिए दुनिया भर में विख्यात है। महामना ने जिन मूल्यों के साथ विश्वविद्यालय को स्थापित किया उनका अनुसरण करते हुए विश्वविद्यालय में विभिन्न त्योहारों और उत्सवों का आयोजन होता है। इसमें विश्वविद्यालय परिवार के सदस्य आपसी प्रेम और सद्भाव के साथ उत्साहपूर्वक शामिल होते हैं। बीएचयू परिवार के मुखिया के रूप में कुलपति जब भी परिसर में उपलब्ध होते हैं ऐसे आयोजनों में शरीक होते है और विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन करते हैं।
बीएचयू सिंह द्वार पर आइसा की प्रतिरोध सभा

उधर महिला महाविद्यालय में रोज़ा इफ्तार पार्टी के हो रहे विरोध के खिलाफ आइसा भी मैदान में उतर आया। आइसा कार्यकर्ता विश्वविद्यालय सिंह द्वार (मुख्य द्वार) पर धरने पर बैठ गए और प्रतिरोध सभा करने लगे। उन्होंने कहा कि बीएचयू किसी एक धर्म संप्रदाय की जागीर नहीं है। यहां हर वर्ग, जाति, संप्रदाय के छात्र पड़ते हैं और जाहां तक रोज़ा इफ्तार का सवाल है तो यह विश्वविद्यालय की परंपरा का अंग है। इसका विरोध करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई होनी चाहिए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

DGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्डIPL 2022 के समापन समारोह में Ranveer Singh और AR Rahman बिखेरेंगे जलवा, जानिए क्या कुछ खास होगाबिहार की सीमा जैसा ही कश्मीर के परवेज का हाल, रोज एक पैर पर कूदते हुए 2 किमी चलकर पहुंचता है स्कूलकर्नाटक के सबसे अमीर नेता कांग्रेस के यूसुफ शरीफ और आनंदहास ग्रुप के होटलों पर IT का छापाPM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहाOla, Uber, Zomato, Swiggy में काम करके की पढ़ाई, अब आईटी कंपनी में बना सॉफ्टवेयर इंजीनियरपंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतें
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.