निकाय चुनावः कांग्रेस ही नहीं सपा भी पिछड़ी तैयारी में, इस पार्टी ने बनाई बढ़त

Ajay Chaturvedi

Publish: Oct, 12 2017 09:23:24 (IST)

Varanasi, Uttar Pradesh, India
निकाय चुनावः कांग्रेस ही नहीं सपा भी पिछड़ी तैयारी में, इस पार्टी ने बनाई बढ़त

सपा प्रदेश नेतृत्व नाराज, जिलों को भेजा पत्र, मांगे प्रत्याशियों के नाम।

डॉ अजय कृष्ण चतुर्वेदी

वाराणसी. नगर निकाय चुनाव को लेकर कांग्रेस ही लापरवाह है ऐसा नहीं है। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की साथी रही समाजवादी पार्टी का भी वही हाल है। आलम यह कि चुनाव सिर पर है और अभी तक प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया पूरी करने को कौन कहे उसके लिए कमेटी तक का गठन तक नहीं हो सका है। यह हाल दोनों ही पार्टियों का है। यह हाल तब है जब उम्मीद की जा रही है कि राज्य निर्वाचन आयोग 25 अक्टूबर तक अधिसूचना जारी कर सकता है। उधर भारतीय जनता पार्टी की तैयारी जोर-शोर से जारी है। अंदर ही अंदर सूची को फाइनल करने का काम चल रहा है। ऐसे में कांग्रेस भले ही अभी चुप्पी साधे हो पर सपा प्रदेश अध्यक्ष ने इसे गंभीरता से लिया है और गुरुवार दोपहर बाद प्रदेश के सभी जिला व महानगर अध्यक्षों को कड़ा पत्र जारी कर हर हाल में 23 अक्टूबर तक सूची प्रदेश मुख्यालय भेजने को कहा है। प्रत्याशी चयन के लिए दिशा निर्देश जारी करने के साथ ही संभावित प्रत्याशियों की सूची प्रदेश मुख्यालय भेजने के लिए प्रारूप पत्र भी जिलों को भेजा है।

लापरवाह समाजवादी पार्टी की जिला व महानगर इकाइयों पर प्रदेश नेतृत्व ने गहरी नाराजगी जताते हुए प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने जिला और महानगर इकाइयों को पत्र जारी कर कहा है कि नगर निगम, नगर पंचायत और नगर पालिका परिषद के चुनाव के लिए प्रेदश निर्वाचन आयोग 25 अक्टूबर तक कार्यक्रम घोषित कर सकता है। उन्होंने कहा है कि पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव पहले ही घोषित कर चुके हैं कि पार्टी इस बार निकाय चुनाव अपने सिंबल साइकिल पर लड़ेगी। इतना ही नहीं 18 अप्रैल और 31 अगस्त को सभी जिला व महानगर इकाइयों को निर्देश दिए जा चुके हैं। बावजूद इसके अभी तक किसी भी जिले से चुनाव तैयारी तथा प्रत्याशियों की सूची नहीं प्राप्त हुई है। प्रदेश अध्यक्ष ने सभी जिला व महानगर अध्यक्षों से तत्काल तैयारी रिपोर्ट के साथ संभावित प्रत्याशियों की सूची तलब की है।

सपा

प्रदेश अध्यक्ष द्वारा जारी दिशा निर्देश

0 प्रदेश अध्यक्ष की ओर जारी पत्र में कहा गया है कि जिला स्तर पर प्रत्याशी तय करने अथवा प्रत्याशियों की सूची प्रदेश कार्यालय को संस्तुत करने के लिए फौरन चयन समिति का गठन किया जाए। कमेटी में जिला व महानगर अध्यक्ष, महासचिव, सांसद, पूर्व सांसद, विधायक, पूर्व विधायक, विधानसभा अध्यक्ष तता विधानसभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशियों को शामिल किया जाएगा। बैठक महासचिव आयोजित करेंगे।

0 नगर निगम वाले 16 महानगरों में चयन कमेटी के सदस्य के तौर पर जिलाध्यक्ष, महानगर अध्यक्ष, महानगर सचिव, सांसद, पूर्व सासंद, नगर क्षेत्र के विधायक, पूर्व विधायक, पूर्व प्रत्याशी तथा विधानसभा अध्यक्ष होंगे।

0 नगर पंचायतों के अध्यक्ष व सभासदों के प्रत्याशी चयन के लिए भी तत्काल चयन समिति का गठन कर लिया जाए। साथ ही सभासद पद के लिए प्रत्याशी का चयन अंतिम रूप से कर लिया जाए। पालिका परिषद के अध्यक्ष के लिए यथा संभव कमेटी एक नाम तय कर ले। एक नाम तय करने पर सहमति न बनती हो तो उस नगर पालिका परिषद केअध्यक्ष पद के प्रत्याशी के लिए अधिकतम तीन नाम का पैनल बना कर हर हाल में 23 अक्टूबर तक प्रदेश कार्याय को भेज दिया जाए।

0 नगर निगमों के पार्षद व मेयर पद के प्रत्याशी का चयन कमेटी द्वारा करके प्रदेश कार्यालय को भेजा जाएगा। प्रत्याशियों की अंतिम सूची प्रदेश अध्यक्ष जारी करेंगे। कमेटी यह प्रयास करे कि पार्षद के लिए प्रत्येक वार्ड से एक-एक नाम तय हो। जिन वार्डों से एक नाम पर सहमति नहीं बन पाती है तो उसके लिए तीन नाम का पैनल भेजा जाए। मेयर पद के लिए भी एक नाम पर सहमति बनाने का प्रयास किया जाए। ऐसा न होने पर तीन नाम का पैनल भेजा जाए।

0 प्रदेश स्तर पर प्रदेश अध्यक्ष के अलावा रामगोविंद चौधरी, अहमद हसन, एसआरएस यादव, राजेंद्र चौधरी की चयन समिति जिलों से प्राप्त सूची का परीक्षण कर प्रत्याशियों के नाम की अंतिम सूची राष्ट्रीय अध्यक्ष को भेजेंगे। अधिकृत प्रत्याशियों को प्रदेश कार्यालय से निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित प्रारूप 7 क और 7 ख पर अधिकार पत्र जारी किए जाएंगे। प्रदेश अध्यक्ष ने मेयर, पार्षद तथा नगर पालिका परिषद के अध्य पद के प्रत्याशियों के लिए सूची भेजने की खातिर निर्धारित प्रारूप पत्र भी जारी किया है। चयन सूची को अंतिम रूप देने में सहयोग के लिए जिला स्तर पर किसी पदाधिकारी या नेता को प्रभारी बनाया जाएगा।

 

सपा

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned