श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में दबंगई, पूजा के दौरान गर्भ गृह से इन्हें किया बाहर

Ajay Chaturvedi

Publish: Nov, 15 2017 01:37:05 (IST)

Varanasi, Uttar Pradesh, India
श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में दबंगई, पूजा के दौरान गर्भ गृह से इन्हें किया बाहर

मंदिर के सफाई कर्मचारी के आगे नहीं चल रही किसी की, सत्ताधारी दल के अध्यक्ष से लेकर सांसद तक को किया बाहर।

वाराणसी. श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में इन दिनों अराजकता का माहौल है। आम श्रद्धालुओं की कौन कहे वीवीआपी भी हो रहे हैं बैइज्जत। यहां तक कि सत्ताधारी दल के आला नेताओं की भी नहीं चल रही। एक ऐसा सफाई कर्मचारी जिसके आगे सारे अधिकारी बौने साबित हो रहे हैं। ये कर्मचारी जिसे चाहता है उसे पूजा के दौरान गर्भ गृह से बाहर कर देता है। वही तय करता है कि कौन मंदिर में दर्शन करने जाएगा और कौन नहीं। यह मामला अब कुछ ज्यादा ही गंभीर हो गया है। इस कर्मचारी के खिलाफ मंदिर के पुजारियों से लेकर दर्शनार्थी तक लामबंद हो गए हैं। सभी ने मिल कर उच्चाधिकारियों से शिकायत करने का निर्णय किया है।

बताते हैं कि श्री काशी विश्वनाथ मंदिर के मनबढ़ सफाई पर्वेक्षक की मनमानी से आम दर्शनार्थी तो परेशान थे ही अब वीवीआईपी भी उसके निशाने पर आ गए हैं। यह पर्यवेक्षक ही है जिसने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष को गर्भगृह में प्रवेश से रोक दिया था। अब ताजा मामले में इस पर्वेक्षक ने तमिलनाडु के सांसद को चलती पूजा से उठा दिया। लगातार बढ़ रही पर्वेक्षक के मनमानी से क्षेत्रीय नागरिक व दैनिक दर्शनार्थी भी परेशान हैं। उन्होंने इस कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर जल्द ही कमिश्नर को ज्ञापन देने का मन बना लिया है। व्यापार मंडल के उपाध्यक्ष नवीन गिरी और भाजपा नेता मुन्ना पाठक ने संयुक्त रूप से बताया की सफाई पर्वेक्षक की मनमानी और इस रवैये से इसके ऊपर इतनी शिकायत दर्ज है फिर भी अब तक कोई कार्रवाई न होने से उसका मनोबल लगातार बढ़ता ही जा रहा है।

आलम यह है कि तमिलनाडु, बैंगलोर, दिल्ली, सहित कई शहरों से आये भक्तो ने भी इसके इस व्यवहार से धर्मार्थ मंत्री सहित सीएम एप्प के माध्यम से शिकायत की पर कोई कार्रवाही नही हुई। आखिर ऐसा क्या है कि अधिकारी एक मामूली सफाई पर्वेक्षक पर अधिकारी कार्यवाही क्यों नही कर रहे है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned