यूपी बार कौंसिल अध्यक्ष दरवेश सिंह की हत्या, हाईकोर्ट में होगी सदस्यों की बैठक, बड़ा फैसला संभव

यूपी बार कौंसिल अध्यक्ष दरवेश सिंह की हत्या, हाईकोर्ट में होगी सदस्यों की बैठक, बड़ा फैसला संभव
यूपी बार कौंसिल अध्यक्ष दरवेश सिंह की हत्या, हाईकोर्ट में होगी सदस्यों की बैठक, बड़ा फैसला संभव

Ashish Kumar Shukla | Updated: 12 Jun 2019, 07:25:49 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

गुरूवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में बार कौंसिल की बड़ी बैठककर आगे की रणनीति पर फैसला किया जायेगा। उन्होने कहा कि हम इस मसले को लेकर मुख्ममंत्री से भी मिलेंगे और वकीलों की सुरक्षा को लेकर बात करेंगे

वाराणसी. यूपी बार कौंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की आगरा में गोली मारकर हत्या के बाद पूरे प्रदेश के वकीलों में काफी रोष है। हत्या के विरोध में वकीलों ने गुरूवार को कामकाज बंद का फैसला किया है। हत्या को लेकर पत्रिका से बातचीत में बार कौंसिल के सदस्यों और वाराणसी के वरिष्ठ अधिवक्ता हरिशंकर सिंह ने कहा कि इस घटना से पूरा प्रदेश मर्माहत है। गुरूवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट में बार कौंसिल की बड़ी बैठककर आगे की रणनीति पर फैसला किया जायेगा। उन्होने कहा कि हम इस मसले को लेकर मुख्ममंत्री से भी मिलेंगे और वकीलों की सुरक्षा को लेकर बात करेंगे।

हरिशंकर ने कहा सरकार की लापरवाही बनी हत्या की वजह

इस घटना से दुखी हरिशंकर सिंह ने कहा कि इसके पीछे सरकार की बड़ी लापरवाही भी कारण है। उन्होने कहा कि इतने बड़े पद पर होने के बाद भी सरकार ने बार कौंसिल अध्यक्ष को कोई सुरक्षा मुहैया नहीं कराई ये हैरानी की बात है। उन्होने कहा कि नेताओं के लिए तमाम अनावश्यक व्यवस्था है पर जो लोग कलम के दम पर न्याय की लड़ाई लड़ रहे हैं और बड़े पदों पर काम कर रहे हैं सरकार को उनकी सुरक्षा की भी कोई फिक्र नहीं है। उन्होने कहा कि अगर दरवेश को सुरक्षाकर्मी मिले होते तो हत्या नहीं हो पाती।

बता दें कि दो दिन पहले ही दरवेश यादव उत्तर प्रदेश बार काउंसिल की अध्यक्ष निर्वाचित हुई थीं। यूपी बार काउंसिल के इतिहास में वे पहली महिला अध्यक्ष बनी थीं। यूपी बार काउंसिल का चुनाव रविवार को प्रयागराज में हुआ था। दरवेश सिंह और हरिशंकर सिंह को बराबर 12-12 वोट मिले। दरवेश सिंह के नाम एक रिकॉर्ड यह भी है कि बार काउंसिल के 24 सदस्यों में वे अकेली महिला थीं। बुधवार को आगरा दीवानी न्यायालय परिसर में उनके ही करीबी वकील मनीष शर्मा से किसी बात को लेकर दरेवश की कहासुनी हो गई। जिसके बाद मनीष ने परिसर में पिस्टल से तीन गोली मारकर दरवेश की हत्या कर दी। उसके बाद मनीष से खुद को भी गोली मारी उन्हे आगरा मेडिकल कालेज में इलाज के लिए दाखिल कराया गया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned