BREAKING धनुष-बाण लेकर उत्तर प्रदेश में गरजेंगे शिवसेना के शेर

BREAKING धनुष-बाण लेकर उत्तर प्रदेश में गरजेंगे शिवसेना के शेर
shivsena

शिवसेना प्रमुख का एलान-तीन सौ सीट पर लड़ेंगे चुनाव, पूर्वांचल में 25 सीटों पर उतारे प्रत्याशी, सकते में बीजेपी

वाराणसी. भारतीय जनता पार्टी के लिए उत्तर प्रदेश की चुनावी रणभूमि दिन ब दिन मुश्किलें बढ़ा रही हैं। मिशन 2017 फतह करने के लिए बीजेपी को नाको चने चबाने पड़ेंगे। महाराष्ट्र में भाजपा की सहयोगी शिवसेना ने यूपी के चुनावी संग्राम में अपना लंगर भी डाल दिया है। हिंदुत्व के एजेंडे को लेकर यूपी के चुनावी संग्राम में मोर्चा लेने उतरी शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने तीन सौ सीटों पर लडऩे का एलान किया है। 
महाराष्ट्र में बीजेपी की नजरअंदाजी से खफा शिवसेना ने यूपी में चुनाव में शिरकत करने के लिए शुरूआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र के पड़ोसी जिले भदोही से भरत दुबे को चुनावी रण में उतारकर किया है। साथ ही पूर्वांचल के जौनपुर, प्रतापगढ़, इलाहाबाद समेत यूपी के अन्य जिलों से 25 उम्मीदवार चुनाव मैदान में धनुष बाण लेकर उतरे हैं।

बीजेपी नहीं नमाजी सरकार से है मुकाबला
महाराष्ट्र में सहयोगी शिवसेना के उत्तर भारतीय समन्वयक विनय शुक्ल का दावा है कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी नहीं नमाजी सरकार से उनका मुकाबला है। सपा सरकार को नमाजी सरकार कहना बिलकुल भी गलत है। उत्तर प्रदेश में आज हिंदूओं की हालत कश्मीर जैसी हो गई है। सैकड़ों हिंदू उत्तर प्रदेश की भूमि छोड़कर अन्य प्रांतों में बस चुके हैं। अमरनाथ यात्रा रोकने की कोशिश, आतंकी के मारे जाने पर हिंसा यह सब सपा जैसे राजनीतिक दलों के मुस्लिम तुष्टीकरण का नतीजा है। यूपी में गुंडे, माफियाओं पर कोई रोक नहीं है। उधर मोदी सरकार इस समय विकास के एजेंडे पर अपना पूरा ध्यान फोकस किए हैं। उत्तर प्रदेश में भी बीजेपी राम मंदिर के बजाय विकास के मुद्दे पर चुनाव लडऩे को तैयार है। ऐसे में उत्तर प्रदेश के हिंदुओं की आस अब शिवसेना पर टिकी है। पश्चिम बंगाल और बिहार में शिवसेना को मिले वोट भी बता रहे हैं कि जनता का शिवसेना में भरोसा बढ़ा है। इसी भरोसे को कायम रखने के लिए शिवसेना उत्तर प्रदेश के चुनावी संग्राम में कूद रही है। एक सवाल के जवाब में कहा कि हो सकता है कि शिवसेना के उम्मीदवार के चलते बीजेपी को कुछ नुकसान हो और एनडीए से हमारा गठबंधन टूट जाए लेकिन हम हिंदूत्व के एजेंडे और यूपी में अकेले दम पर चुनाव लडऩे से पीछे नहीं हटेंगे। 

बनारस से होगी महिला प्रत्याशी, लखनऊ में होगी बैठक
शिवसेना समन्वयक विनय शुक्ल ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से भी उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। हिंदू संस्कृति की राजधानी काशी से अतिशीघ्र एक महिला उम्मीदवार को जनता के सामने लाएंगे। शिवसेना ने उन्हें ही टिकट देगी जो अपने क्षेत्र से जुड़े होंगे। बाहरी या नोट की गद्दी पर सोने वालों को शिवसेना टिकट नहीं देगी। 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned