BREAKING NEWS सपा में बगावत का बम, अखिलेश सेना का गठन

BREAKING NEWS सपा में बगावत का बम, अखिलेश सेना का गठन
akhilesh sena build

समाजवादी छात्र सभा के राष्ट्रीय सचिव के नेतृत्व में युवाओं की महापंचायत 

वाराणसी. समाजवादी पार्टी के कुनबे में मची रार के बाद अब समर्थकों में भी लाइन खींच गई है। समाजवादी पार्टी के अंदर लगातार चल रहे घमासान के बीच वाराणसी में सपा कार्यकर्ताओं ने बगावत का एक और बम फोड़कर सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव व उनके भाई सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव की मुश्किलें बढ़ा दी है।

समाजवादी पार्टी के युवा कार्यकर्ताओं ने मौजूदा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव में अपनी निष्ठा जताते हुए अखिलेश सेना का गठन कर दिया है। अखिलेश सेना के गठन की खबर मिलते ही पार्टी के विभिन्न फ्रंटल संगठनों से लेकर तमाम सपा पदाधिकारियों में खलबली मच गई। बनारस में अखिलेश सेना के गठन के बाबत बैठक शुरू होते ही सपा प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कमरे तक बात पहुंच गई। 

समाजवादी छात्र सभा के राष्ट्रीय सचिव आशुतोष सिन्हा के नेतृत्व में सपा के युवा कार्यकर्ताओं का एक गुट सिगरा थाना क्षेत्र स्थित एक संगोष्ठी हाल में जुटे। बैठक को युवाओं की महापंचायत का नाम दिया गया था। 

महापंचायत की अध्यक्षता करते हुए आशुतोष सिन्हा ने कहा कि उत्तर प्रदेश की कमान युवा मुख्यमंत्री के हाथों में जब से है तब से प्रदेश का चौमुखी विकास हुआ है। पार्टी के भीतर कुछ लोगों ने ऐसा माहौल बना रखा है जिससे अखिलेश यादव अलग-थलग पड़ गए है। मुख्यमंत्री ने युवाओं के लिए बहुत कार्य किए हैं। अब युवाओं को चाहिए कि मुश्किल की घड़ी में उनके साथ खड़े रहें। 

महापंचायत में युवाओं ने एक स्वर में समर्थन किया और फिर तय हुआ कि अखिलेश यादव द्वारा किए गए विकास कार्यों को जन-जन तक पहुंचाने के लिए अखिलेश सेना का गठन किया जाए। अखिलेश सेना का कार्य सिर्फ अखिलेश यादव की उपलब्ध्यिों को  जनता तक पहुंचाना होगा। 

बनारस में सपा कार्यकर्ताओं की बुलाई गई महापंचायत कौन सा गुल खिलाएगी यह देखना दिलचस्प होगा। अखिलेश सेना के गठन के सूत्रधार आशुतोष सिन्हा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के करीबी हैं और वर्तमान में समाजवादी छात्र सभा के राष्ट्रीय सचिव।  अब अखिलेश सेना का गठन कर युवाओं ने यह जता दिया है कि वे पूरी तरह से अखिलेश यादव के लिए समर्पित हैं और उन्हीं के निर्देशों पर चलेंगे। शिवपाल यादव तक भी उनके समर्थकों ने यह बात पहुंचा दी है। अब देखना होगा कि युवाओं को अखिलेश प्रेम पर शिवपाल सजा देते हैं या फिर छोड़ देते हैं। 

युवाओं की महापंचायत में जुटे कार्यकर्ता बीते कुछ दिनों से अखिलेश के साथ परिवार में हो रहे युद्ध से क्षुब्ध भी दिखे। कहा कि बीते पांच सालों में अखिलेश यादव के नेतृत्व में उन लोगों ने सपा के लिए जो किया वह सब धुलता नजर आ रहा है। चुनाव से ठीक पहले अखिलेश यादव के साथ जो कुछ हुआ वह कही से भी पार्टी के हित में नहीं था। युवाओं की महापंचायत में पार्षद वरुण सिंह, रामशरण बिंद, जगदीश यादव, हारुन अंसारी, शंकर विश्नानी, शानू सिन्हा, नवीन श्रीवास्तव, चंदन सिंह, मोहताब आलम, राहुल श्रीवास्तव समेत अन्य सपा कार्यकर्ता मौजूद रहे। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned