चीफ प्रॉक्टर को हटाने के लिए BHU VC से मिलने जा रहे छात्रों को रोका गया, हंगामे के बाद हुई मुलाकात

कुलपति से मिलने जाते वक्त छात्रों को फिर रोका गया, बंद किया गया केंद्रीय कारागार का चैनल गेट। छात्र बैठे धरने पर।

By: Ajay Chaturvedi

Published: 19 Jan 2019, 08:59 PM IST

वाराणसी. काशी हिंदू विश्वविद्यालय की चीफ प्रॉक्टर प्रो रोयाना सिंह को पद से हटाने की मांग को लेकर 17 दिन तक धरना देने वाले छात्र शनिवार को फिर मिले कुलपति प्रो राकेश भटनागर से। हालांकि वीसी तक पहुंचने के लिए उन्हें काफी जहमत उठानी पड़ी। जैसे वो केंद्रीय कार्यालय की ओर निकले, इसकी भनक चीफ प्रॉक्टर को लगी तो उन्होंने केंद्रीय कार्यालय के सभी गेट बंद करवा दिए। सुरक्षाकर्मियों की तैनाती कर दी ताकि किसी भी सूरत में छात्र कुलपति से नहीं मिल सकें। लेकिन छात्र भी कुलपति से मिलने के लिए अडिग रहे। ऐसे में पहले उन्होने गेट खुलवाने की कोशिश की लेकिन जब बात नहीं बनी तो वहीं धरने पर बैठ गए फिर किसी तरह चैनल गेट खुलवाकर वीसी तक पहुंचे।

बता दें कि गत दिसंबर में जब समाजवादी छात्रसभा की बीएचयू इकाई के अध्यक्ष आशुतोष सिंह के नेतृत्व में तमाम छात्र संगठनों के नेता 17 दिन तक धरने पर बैठे थे चीफ प्रॉक्टर को हटाने के लिए तभी वीसी प्रो भटनागर ने नर्सिंग छात्रों और विधि संकाय के छात्रों के उपद्रव के मामले की जांच के लिए फैक्ट फाइंडिंग कमेटी गठित की थी। वीसी ने छात्रों से एक महीने की मोहलत मांगी थी और आश्वस्त किया था कि जांच रिपोर्ट आते ही उचित कार्रवाई की जाएगी। उनके आश्वासन पर ही छात्रों ने धरना स्थगित किया था। अब वह एक महीने की मियाद भी बीत गई लेकिन न फैक्ट फाइंडिंग कमेटी की रिपोर्ट आई न चीफ प्रॉक्टर के खिलाफ कोई कार्रवाई हुई।

ऐसे में छात्रों का समूह शनिवार को कुलपति से मिलने के लिए निकला था। लेकिन उन्हें वीसी से मिलने से रोकने की कोशिश की गई। हालांकि छात्रों के धरने पर बैठने की सूचना पर जिला व पुलिस प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और ताला खुलवा कर उन्हें कुलपति से मिलवाया। छात्र नेता आशुतोष ने पत्रिका को बताया कि कुलपति ने जांच अधिकारी के अवकाश पर होने का हवाला देते हुए और एक महीने की मोहलत मांगी लेकिन छात्रों ने उन्हें एक सप्ताह की मोहलत दी। साथ ही चेताया कि हफ्ते भर में कार्रवाई नहीं हुई तो वो फिर से आंदोलन छेड़ेंगे जिसकी जिम्मेदारी खुद कुलपति की होगी।

यहां यह भी बता दें कि ये छात्र चीफ प्रॉक्टर को हटाने के मुद्दे पर सपा सांसद धर्मेंद्र यादव और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी मिल चुके हैं। धर्मेंद्र यादव ने जहां मानव संसाधन विकास मंत्री को पत्र लिखा है वहीं गृहमंत्री फोन पर कुलपति से वार्ता कर विश्वविद्यालय का माहौल दुरुस्त करने को कह चुके हैं।

 

BHU  <a href=students protest" src="https://new-img.patrika.com/upload/2019/01/19/bhu-001_4004085-m.jpg">
Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned