घर का बोझ न उठा स्का तो खुद को उठा लिया

घर का बोझ न उठा स्का तो खुद को उठा लिया
suicide

आर्थिक तंगी से त्रस्त राजमिस्त्री ने लगायी फांसी

वाराणसी. परिवार का बोझ जब नहीं उठा सका तो खुद को दोषी मानते हुए उसने खुद को दुनिया से अलविदा कह दिया।
लोहता थाना क्षेत्र के घमहापुर मे शनिवार को भोर मे शिवमूरत ४0 वर्ष नामक ने फाँसी लगाकर अपनी इहलीला समाप्त कर ली। परिजनों के मुताबिक़  आर्थिक तंगी के चलते वह परेशान चल रहा था। घमहापुर निवासी शिवमूरत तीन भाईयों मे सबसे बडा था। सभी अलग-अलग रहकर कमाते खाते है। 
शिवमूरत अपनी पत्नी सीता, बेटे अरविन्द, दो बेटियों पूजा,आरती के साथ रहकर राजगीर मिस्त्री का काम करके घर चलाते थे। इधर पुत्री की शादी को लेकर पूरा परिवार परेशान चल रहा था। भोर में किसी समय उसने छत की कुण्डी में रस्सी लगाकर फ़ासी लगा ली।इसी दौरान किसी ने लोहता थाने पर सुचना दे दिया।मौके पर पहुची पुलिस ने शव को उतारकर अन्त्य परीक्षण हेतु भेज दिया।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned