18 अक्टूबर को सूर्यदेव करेंगे तुला राशि में प्रवेश, इन तीन राशियों की बदल जाएगी किस्मत

18 अक्टूबर को सूर्यदेव करेंगे तुला राशि में प्रवेश, इन तीन राशियों की बदल जाएगी किस्मत
rashifal

Sarweshwari Mishra | Publish: Oct, 09 2019 04:59:20 PM (IST) | Updated: Oct, 09 2019 04:59:21 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

12 राशियों में से केवल एक राशि सिंह का स्वामित्व सूर्य देव को प्राप्त है

वाराणसी. प्रतिदिन सूर्य की उपासना करने से शारीरिक तेज और आत्मविश्वास में वृद्धि होती है। सूर्य देव को नवग्रहों का राजा माना जाता है। सभी 12 राशियों में से केवल एक राशि सिंह का स्वामित्व सूर्य देव को प्राप्त है। सूर्य देव 18 अक्टूबर को 00:41 बजे कन्या से तुला राशि में प्रवेश करेंगे और 17 नवम्बर 00:30 बजे तक इसी राशि में रहेंगे।


मेष राशि
सूर्य देव का गोचर मेष राशि से सप्तम भाव में प्रवेश करेंगे। इसे विवाह भाव भी कहा जाता है। सूर्य के गोचर के चलते आपके वैवाहिक जीवन में कुछ परेशानियां आ सकती है। इसके साथ ही पारिवारिक स्थिति थोड़ी बिगड़ सकती है। भाई-बहनों से कहासुनी हो सकती है। सूर्य के गोचर के दौरान क्रोध अधिक बढ़ सकता है। इस समय अपने मन को नियंत्रित करने की कोशिश करें। बिजनेस में आपसी मतभेदों के कारण पार्टनर के साथ कुछ विवाद हो सकता है। प्रेम संबंधों में भी इस दौरान कुछ परेशानियां हो सकती हैं।

वृषभ राशि
सूर्य देव का गोचर इस राशि से षष्ठम भाव में होगा। सूर्य के इस गोचर के दौरान आपको अच्छे फल मिलने की उम्मीद है। इस समय आप अपने लक्ष्य के प्रति केंद्रित रहेंगे। आपके अंदर हर स्थित का डटकर सामना करने का भाव रहेगा। इस राशि के छात्रों के लिए सूर्य का यह गोचर बहुत लाभदायक रहने वाला है। सरकारी नीतियों से आपको लाभ होने की भी संभावना है।

कर्क राशि
सूर्य के तुला राशि में गोचर के दौरान आपका चतुर्थ भाव सक्रिय अवस्था में रहेगा। इस भाव को सुख भाव भी कहा जाता है। इस गोचर के दौरान आपकी माता की सेहत में गिरावट आ सकती है। जिसके चलते आपको मानसिक तनाव हो सकता है। वैवाहिक जीवन में किसी बात को लेकर जीवनसाथी के साथ कहासुनी हो सकती है जिसका असर आपकी प्रोफेशनल जिंदगी पर भी पड़ेगा।

सिंह राशि
सूर्य देव आपकी राशि से तृतीय भाव में गोचर करेंगे। इस दौरान आपको किसी पुरानी बीमारी से छुटकारा मिल सकता है। नौकरी पेशा से जुड़े लोगों को कार्यक्षेत्र में नया मुकाम हासिल हो सकता है। सामाजिक जीवन में भी आप अच्छा प्रदर्शन करेंगे और अपनी तार्किक बुद्धि से लोगों को अपनी ओर आकर्षित करेंगे।

कन्या राशि
सूर्य ग्रह का गोचर कन्या राशि से द्वितीय भाव में होने के कारण आपकी वाणी में इस दौरान कर्कशता आ सकती है। आपके बात करने का तरीका आपके कुछ करीबियों को आपसे दूर कर सकता है। इसलिए इस दौरान आपको सोच-समझकर बात करने होगी। छोटी-छोटी बातों को लेकर आप परिवार के लोगों पर क्रोधित हो जाएंगे, इससे परिवार में अशांति बनी रहेगी।सूर्य के इस गोचर की अवधि में आपको आंखों से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। इस समय आपको अपने खर्चों पर लगाम लगाने की जरुरत है।

तुला राशि
सूर्य देव का संचरण आपकी राशि से प्रथम भाव या आपके लग्न भाव में होगा। ये गोचर आपको स्वास्थ्य संबंधी कुछ परेशानियां दे सकता है। इसके साथ ही आपके व्यवहार में भी इस समय चिड़चिड़ापन आएगा। बेवजह छोटी-छोटी बातों पर अपने परिवार वालों के साथ झगड़ा कर सकते हैं। अपने गुस्सैल स्वभाव को बदलने की कोशिश करें वरना आप अपना ही नुकसान कर बैठेंगे।

वृश्चिक राशि
सूर्य का गोचर वृश्चिक राशि से द्वादश भाव में होगा। कारोबारियों को इस दौरान विदेश यात्रा करनी पड़ सकती है। मानसिक तनाव से परेशान रहेंगे। इस समय आपको कोई भी ऐसा काम नहीं करना चाहिए जिससे आपकी छवि खराब हो। बुरे लोगों की संगति में रहने से बेहतर होगा कि आप अकेले रहें। खर्चों में बढ़ोतरी हो सकती है. इस दौरान आपको शारीरिक दर्द और आंतों से जुड़ी परेशानियां हो सकती हैं।

धनु राशि
सूर्य का आपकी राशि से एकादश भाव में संचरण होगा। सूर्य के गोचर के दौरान आपको अच्छे फल मिलने की पूरी उम्मीद है। कार्यक्षेत्र में इस समय आपको अपने सीनियर्स का साथ मिलेगा और लाभ प्राप्ति के नये मार्ग खुलेंगे। आपके स्वास्थ्य में सकारात्मक बदलाव आएगा। आप अपने परिवार वालों के साथ किसी धार्मिक यात्रा पर जा सकते हैं। पिता के साथ आपके संबंधों में भी निखार आएगा और उनके जरिये आपको लाभ होने की भी पूरी संभावना है।

मकर राशि
सूर्य देव का गोचर आपकी राशि से दशम भाव में होगा। इस भाव को कर्म भाव भी कहा जाता है। आप सरकारी नौकरी करते हैं तो इस दौरान आपका प्रमोशन हो सकता है। कार्यक्षेत्र में इस समय आपके सम्मान में वृद्धि हो सकती है। किसी बात को लेकर किसी से कहासुनी हो सकती है, इसलिए शब्दों का चुनाव सोच समझकर करें। पारिवारिक जीवन में इस वक्त कुछ उतार-चढ़ाव आ सकते हैं।

कुंभ राशि
कुंभ राशि के जातकों के लिए सूर्य का गोचर उनकी राशि से नवम भाव में होगा। इस दौरान आपके पिता के स्वास्थ्य में गिरावट आने की संभावना है। किसी बात को लेकर पिता के साथ आपका मनमुटाव भी हो सकता है। आर्थिक पक्ष कमजोर रह सकता है। इस समय आपको अपने विरोधियों से सावधान रहने की जरुरत है. जीवन में आ रही परेशानियों को दूर करने के लिए इस समय आपको अपने किसी भरोसेमंद दोस्त से मिलना चाहिए।


मीन राशि
सूर्य का गोचर आपकी राशि से अष्टम भाव में हो रहा है। इस भाव को आयु भाव भी कहा जाता है. इस गोचरीय काल में आप अपने लक्ष्य से भटक सकते हैं और लक्ष्य को हासिल करने में आपको परेशानियां भी आ सकती हैं। इस दौरान आपको धैर्य बनाए रखने की जरूरत है। किसी अच्छे दोस्त की सलाह ले सकते हैं। इस गोचर के दौरान आपको अपने गुस्से पर काबू रखना होगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned