BREAKING NEWS आकाशीय बिजली से गिरने तीन की मौत, दर्जनों घायल

BREAKING NEWS आकाशीय बिजली से गिरने तीन की मौत, दर्जनों घायल
sky lighting

पशुओं पर भी काल बनकर गिरी बिजली

वाराणसी. झमाझम बारिश ने काशीवासियों को उमस भरी गर्मी से राहत तो दी लेकिन बारिश के साथ ही आसमान से गिरी बिजली कई घरों में मातम का पैगाम ले आई। सोमवार को दोपहर में तेज बारिश के साथ तड़ककर गिरी बिजली ने गंगा किनारे मछली मार रहे दो अधेड़ मछुआरों की जान ले ली जबकि कई घायल हो गए। आकाशीय बिजली किसानों व पशुपालकों के जानवर भी काल के गाल में समा गए।
जानकारी के अनुसार लंका थाना क्षेत्र रमना मलहिया निवासी चंद्रबलि व उनके मित्र जयराम साहनी सामने घाट के समीप गंगा में मछली मार रहे थे। हवा के साथ तेज बारिश आने पर दोनों वहां मौजूद अन्य मछुआरों के साथ घर की ओर बढ़े। चंद कदम ही आगे बढ़े थे कि आकाशीय बिजली गिरी और आधा दर्जन लोग इसकी चपेट में आ गए। आकाशीय बिजली से बुरी तरहे झुलसे लोगों को लेकर क्षेत्रीय नागरिक बीएचयू ट्रामा सेंटर पहुंचे जहां चंद्रबलि और जयराम को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया जबकि लालचंद, सोहन, संदीप व दीपक को भर्ती कर उपचार किया गया। मामलू रूप से चोटिल लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद छोड़ दिया गया। लंका थाना क्षेत्र में ही बिजली गिरने से पशुपालक रोहित यादव की एक गाय और दो बछड़े झुलसकर मर गए। उधर रोहनिया थाना क्षेत्र के चंदापुर गांव में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से घर के बाहर काम कर रहीं लालबहादुर पटेल की पत्नी चंदा पटेल की मौत हो गई। मंडुआडीह थाना क्षेत्र स्थित एक तालाब के समीप आकाशीय बिजली गिरने से आसपास के मकानों के तमाम इलेक्टानिक्स उपकरण जल गए। लोहता के घमहापुर में घर के गलियारे में बैठी दीपमाला का पैर आकाशीय बिजली की चपेट में आने से बुरी तरह झुलस गया। बिजली उसके घर की छत पर गिरी थी।    
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned