दूसरों की लाश ढोने वाले का शव उठाने वाला कोई नहीं था

दूसरों की लाश ढोने वाले का शव उठाने वाला कोई नहीं था
road accident

सड़क पार करते समय ट्रक की चपेट में आने से मौत

वाराणसी.  गरीबी के चलते वह लावारिस लाशों को ढोता था। पुलिस के कहने पर कभी श्मशान तो कभी पोस्टमार्टम हाउस का चक्कर लगाता था। उसे इस काम में सुकून मिलता और सोचता था उसे उपरवाला इस नेक काम का इनाम जरूर देगा। नियति का खेल तो देखिये वह खुद लावारिस लाश बन गया था। सड़क पर उसका शव पड़ा था पर उसे उठाने वाला कोई नहीं था।

कैंट रेलवे स्टेशन एरिया में मंगलवार सुबह सड़क पार करते समय 35 वर्षीय विनोद की तेज रफ़्तार ट्रक की चपेट में आने से मौके पर मौत हो गयी। हादसे के बाद उसका शव सड़क पर पड़ा रहा लेकिन कोई उसे पहचानता नहीं था। सूचना पर सिगरा पुलिस पहुंची तो माथे पर बल पड़ गया क्योंकि उनके लिए लावारिस लाशों को ढोने वाला आज खुद मृत पड़ा था। पुलिस ने स्थानीय व मजदूरों की मदद से उसके शव को रास्ते से हटवाया और कागजी कार्रवाई में जुट गयी।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned