जमीन के टुकड़े को की थी मासूम भतीजे की हत्या

जमीन के टुकड़े को की थी मासूम भतीजे की हत्या
murder mystery

बदले की आग में झुलस रहे चाचा ने किया था अपहरण

वाराणसी. बदले की आग में झुलस रहे वहशी चाचा ने ही आठ साल के मासूम करण का अपहरण कर उसकी हत्या करने के बाद शव को वरुणा नदी के किनारे ठिकाने लगाया था। वाराणसी पुलिस ने वारदात के आठ दिन बाद मामले का खुलासा करते हुए करण का क्षत विक्षत शव बरामद किया। पुलिस ने अपहरण और हत्या के जुर्म में आरोपी चाचा पंकज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पंकज ने अपना अपराध् स्वीकार भी कर लिया है।

चार फ़ीट जमीन को लेकर था झगड़ा
सारनाथ में कपड़े की दुकान की चलाने वाले विजय मौर्य का अपने चाचा नन्दलाल के बेटे पंकज से चार फ़ीट जमीन को लेकर विवाद हुआ था। इस दौरान दोनों पक्षों में मारपीट भी हुई थी। पंचायत के बाद विजय ने अपना दावा जमीन से छोड़ दिया था लेकिन मारपीट के कारण पंकज विजय से रंजिश रखने लगा। हत्यारोपी पंकज ने पुलिस को बताया की बीते आठ जून को विजय के बेटे करण को बैट बॉल दिलाने के नाम पर घर के बाहर से अगवा कर लिया और उसको लेकर जंसा इलाके में पहुंचा। वहां किराये के कमरे में रुका और अगले दिन भितकुरि में वरुणा किनारे ले गया। मौका पाकर करण की गला दबाकर हत्या करने के बाद शव को बोरी में डालकर नदी किनारे फेंक दिया।

ऊपर वाले का इंसाफ
इस पूरे घटनाक्रम में हैरत की बात यह की पुलिस ने परिजनों के शक के आधार पर पंकज से दो बार पहले भी पूछताछ कर चुकी थी लेकिन उसने पुलिस को भी चकमा दे दिया था। ग्रामीणों ने बताया की करण  की हत्या के दो दिन बाद ही पंकज की गर्भवती पत्नी ने बच्चे को जन्म दिया लेकिन वह मरा हुआ पैदा हुआ। लोगबाग चर्चा करते दिखे कि पंकज ने ऐसा घिनौना पाप किया था इसलिए उसकी पत्नी को मरा हुआ बेटा पैदा हुआ।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned