Patrika Exclusive-UP Board का कड़ा एक्शन 3500 छात्र परीक्षा से डिबार, प्रधानाचार्यों पर भी होगी कार्रवाई

एक से ज्यादा स्कूलों से परीक्षा के लिए कराया था रजिस्ट्रेशन। सभी संस्थागत छात्र।

By: Ajay Chaturvedi

Published: 18 Dec 2018, 04:45 PM IST

Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

डॉ अजय कृष्ण चतुर्वेदी

वाराणसी. यूपी बोर्ड ने नकल पर नकेल कसने के क्रम में बड़े फर्जीवाड़े को पकड़ा है। बोर्ड ने वाराणसी परिक्षेत्र के तीन हजार से ज्यादा छात्रों को अगले साल फरवरी में शुरू होने वाली हाईस्कूल और इंटर परीक्षा से डिबार कर दिया है। इतना ही नहीं बोर्ड ने सभी संबंधित प्रधानाचार्यो को नोटिस जारी किया है। इनसे जवाब मांगा गया है। इनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। बोर्ड के क्षेत्रीय सचिव सतीश सिंह ने पत्रिका से खास बातचीत में यह जानकारी दी।

सिंह ने बताया कि इस बार पकड़े गए सभी छात्र संस्थागत हैं। इन्हें छात्रों को अनुक्रमांक आवंटित करने वाली फर्म के माध्यम से पकड़ा गया है। इसमें किसी ने गाजीपुर और जौनपुर तो किसी ने जौनपुर और फतेहपुर से पंजीकरण कराया था। ऐसे में जब अनुक्रमांक आवंटन की बात आई तो संबंधित फर्म में डुप्लीकेसी पकड़ में आई। ऐसे में पहले इन सभी छात्रों से संबंधित विद्यालयों के प्रधानाचार्यों व प्रधानाध्यापकों को नोटिस भेज कर स्पष्टीकरण मांगा गया। बताया कि नोटिस के बावजूद अभी सभी प्रधानाचार्यों ने जवाब नहीं भेजा है। उन्हें अब भी मौका है वो अपना पक्ष दे सकते हैं। जवाब न देने वाले प्रधानाचार्यों के बारे में यह मान लिया जाएगा कि उनकी मिलीभगत से ही यह फर्जीवाड़ा किया गया है। ऐसे में इन प्रधानाचार्यों के विरुद्ध भी कार्रवाई होगी।

उन्होंने बताया कि पिछले साल बनारस परिक्षेत्र के 41 हजार छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। लेकिन वो व्यक्तिगत परीक्षार्थी थी। उन सभी को परीक्षा से डिबार किया गया था। ऐसे में इस बार व्यक्तिगत परीक्षार्थी तो सामने नहीं आए लेकिन संस्थागत छात्रों के बारे में फर्जीवाड़ा पकड़ा गया। क्षेत्रीय सचिव ने बताया बोर्ड परीक्षा की सारी व्यवस्था ऑनलाइन होने के चलते अब फर्जीवाड़ें के मामले आसानी से पकड़ में आ जा रहे हैं। लेकिन संस्थागत छात्रों का फर्जीवाड़ा सामने आना चिंचतनीय है लेकिन सभी संबंधित प्रधानाचार्यों पर कार्रवाई के बाद इस पर अंकुश लग जाएगा।

 

यूपी बोर्ड के अपर सचिव सतीश सिंह
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned