अपैल माह में ही आ जाएगा इस बार यूपी बोर्ड का रिजल्ट

कॉपियों का मूल्यांकन 17 या 18 मार्च से हो सकता है शुरू

By: Sunil Yadav

Updated: 07 Mar 2018, 12:06 PM IST

वाराणसी. इस बार यूपी बोर्ड हाईस्कूल परीक्षा के परिणाम इंटरमीडिएट की परीक्षा से पहले जारी हो सकता है। बोर्ड ने छात्र हितों को ध्यान में रखते हुए इस बार 10वीं व 12वीं के परिणाम एक साथ घोषित करने की 2015 से शुरू हुई परंपरा को तोड़ने जा रहा है। और अप्रैल के दूसरे या तीसरे सप्ताह में यूपी बोर्ड के परिणाम घोषित होने की संभावना बताई जा रही है।

इसके लिए कॉपियों का मूल्यांकन 17 या 18 मार्च से शुरू होने जा रहा है। सूत्रों की माने तो इस बार पहले हाईस्कूल की कॉपियां जंचवाई जाएंगी। साथ ही यह जानकारी भी मिली है कि शासन ने माध्यमिक शिक्षा विभाग के अफसरों को हाईस्कूल का परिणाम इंटरमीडिएट से पहले जारी करने का निर्देश दिया है। जिसकी वजह 10वीं पास कर 11वीं में जाने वाले छात्रों की पढ़ाई का नुकसान कम से कम हो, बताया जा रहा है। वहीं इस निर्देश के बाद बोर्ड ने हाईस्कूल का परिणाम पहले देने की तैयारियां शुरू कर दी है।


यूपी बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने 10वीं का परिणाम इंटरमीडिएट के परिणामों से पहले घोषित करने की तैयारियों से इनकार नहीं किया। जिसके बाद से यह तय माना जा रहा है कि इस बार हाईस्कूल का परिणाम इंटरमीडिएट के परिणामों से पहले ही आ जाएगा। वही इससे पहले वर्ष 2015 में तत्कालीन माध्यमिक शिक्षा निदेशक और बोर्ड के सभापति अमरनाथ वर्मा ने यूपी बोर्ड का परिणाम एक साथ घोषित करने की परंपरा शुरू की थी। जिसके बाद उस वर्ष 17 मई को 10वीं-12वीं के परिणाम घोषित हुए थे।

 

बोर्ड एग्जाम में सख्ती के चलते परिणामों पर टिकी है सबकी नजर


गौरतलब है कि इस बार योगी सरकार द्वारा बोर्ड परीक्षाओं को नकल विहीन कराने के निर्णय के साथ ही, सभी केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में परीक्षाओं के आयोजन के चलते लाखों छात्रों ने पहले ही परीक्षा छोड़ दी है। जिसके बाद एक बार फिर लोग पूर्व की कल्याण सरकार के समय बोर्ड एग्जाम में हुई सख्ती को याद करने लगे थे। ऐसे में इस बार के यूपी बोर्ड एग्जाम के परिणामों पर सब की नजर टिकी हुई है।

Sunil Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned