पुलिस के रडार पर बाहुबलियों का कुनबा, बेटों और पत्नियाें तक पहुंची कार्रवाई की आंच, नहीं बख्शे जाएंगे मददगार

पुलिस ने मुख्तार अंसारी के दोनों के बेटों पर घोषित किये 25-25 हजार के ईनाम। विजय मिश्रा की फरार एमएलसी पत्नी रामलली मिश्रा और बेटे के खिलाफ कोर्ट ने दिया कुर्की का आदेश। खोजे जा रहे बाहुबली अतीक अहमद के मददगार।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश पुलिस का अपराध नियंत्रण और ऑपरेशन क्लीन अभियान के तहत माफिया और अपराधियों पर ताबड़तोड़ कार्रवाइयां जारी हैं। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी, पूर्व सांसद अतीक अहमद और विजय मिश्रा जैसे माफिया कार्रवाई की जद में हैं। इनके और इनके गैंग से जुड़े लोगों के असलहे जब्त करने व संपत्तियों पर कार्रवाई के बाद अब पुलिस ने परिवार के दूसरे सदस्यों पर भी शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों के नाम पर लखनऊ में बनी इमारत जमींदोज करने के बाद अब उनकी गिरफ्तारी की कवायद शुरू हो गयी है। दोनों बेटों पर पुलिस ने 25-25 हजार रुपये का ईनाम घोषित कर दिया है। उधर जेल में बंद बाहुबली विधायक विजय मिश्रा की एमएलसी पत्नी व बेटे के खिलाफ भी कोर्ट ने कुर्की का आदेश जारी कर दिया है। दोनों फरार चल रहे हैं। पुलिस अतीक के बेटे और दो लाख के ईनामी उमर को भी शिद्दत से तलाश कर रही है। फिलहाल अतीक के मददगारों पर भी शिकंजा कसना शुरू हो गया है।

 

mukhtar ansari sons

 

जेल में मुख्तार, दोनों बेटे होंगे गिरफ्तार! 25-25 हजार का ईनाम घोषति

मुख्तार अंसारी के बाद अब कार्रवाई की आंच उनकी पत्नी से होती हुई दोनों बेटों तक पहुंच चुकी है। गाजीपुर में मुख्तार की पत्नी व दो सालों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस की निगाह अब उनके दोनों बेटों पर है। लखनऊ पुलिस ने मुख्तार के दोनों बेटों नेशनल शूटर अब्बास अंसारी और उमर अंसारी के खिलाफ 25-25 हजार रुपये का ईनाम घोषित किया है। पुलिस दोनों के खिलाफ जल्द ही गैर जमानती वारंट निकालने की कवायद में जुटी है। बीते 27 अगस्त को लखनऊ के हजरतगंज इलाके के डाॅलीबाग में अब्बास और उमर के नाम की दो इमारतें पुलिस प्रशासन ने जमींदोज कर जमीन को अपने कब्जे में ले लिया। आरोप है कि सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा करके दोनों बिल्डिंगें बनायी गई थीं। बताते चलें कि मुख्तार अंसारी का बड़ा बेटा अब्बास अंसारी ने 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में बसपा के टिकट पर मऊ की घोसी विधानसभा सीट से चुनाव लड़कर, एक लाख से अधिक वोट हासिल किया था। अब्बास अंसारी नेशनल शूटर है। उसपर अनुमति के बगैर शस्त्र लाइसेंस लखनऊ से दिल्ली ट्रांसफर कराने और एक ही लाइसेंस पर पांच-पांच असलहे रखने के आरोप में 12 अक्टूबर 2019 को लखनऊ की महानगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ था, जिसकी जांच एसटीएफ ने की थी।

bahubali vijay mishra Family

 

विजय मिश्रा की पत्नी और बेटे भगोड़े घोषित

बाहुबली विजय मिश्रा जेल में बंद हैं तो उनकी पत्नी और बेटा गिरफ्तारी से बचने के लिये फरार चल रहे हैं। अब कोर्ट ने दोनों को भगोड़ा घोषित कर उनके खिलाफ कुर्की का नोटिस जारी किया है। अगर पत्नी एमएलसी रामलली मिश्रा और बेटा विष्णु मिश्रा 15 अक्टूबर तक हाजिर नहीं हुए तो उनकी कुर्की करा दी जाएगी। ज्ञानपुर विधानसभा से चौथी बार विधायक बने बाहुबली विजय मिश्रा रिश्तेदार के मकान में बरन रहने व सम्पत्तियों पर कब्जा करने के लिये वसीयत लिखने का दबाव बनाने के आरोप में चित्रकूट जेल में बंद हैं। इसी मुकदमे में उनकी पत्नी और बेटा भी शामिल हैं। दोनों गिरफ्तारी से बचने के लिये कोर्ट गए, लेकिन वहां से भी उनकी याचिका खारिज हो गई। दोनों के लगातार फरार चलने और कोर्ट में हाजिर न होने के मामले को गंभीरता से लेते हुए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत ने दोनों को भगोड़ा घोषित करते हुए कुर्की का नोटिस जारी कर 15 अक्टूबर तक हाजिर होने का अल्टिमेटम दिया है। एसपी राम बदन सिंह ने बताया कि भदोही पुलिस ने रामलली के प्रयागराज में कई मकानों के ब्यौरा जुटाना शुरू कर दिया है।

 

Atiq Ahmad Umar Ahmad

 

नहीं बख्शे जाएंगे अतीक अहमद के मददगार

अहमदाबाद जेल में बंद पूर्व सांसद बाहुबली अतीक अहमद के गैंग और करीबियों पर कार्रवाई के बाद पुलिस अब उनके मददगारों को खोज रही है, जिन्होंने या तो उनके अपराधों पर पर्दा डालने में मदद की, या फिर उनके आपराधों और आपराधिक कृत्यों को देखते हुए भी नजरअंदाज कर दिया। क्रिमिनल छवि होने के बावजूद उसे नजरअंदाज करते हुए उन्हें और उनके गैंग से जुड़े लोगों के असलहों के लाइसेंस के वेरिफिकेशन पास कर दिये। सरकार के निर्देश पर पुलिस हेडक्वार्टर एेसे लोगों की लिस्ट तैयार कर रहा है, जिसमें सबसे ऊपर पुलिस वाले हैं। पुलिस अफसरों की मानें तो इस बात की जांच की जा रही है कि अतीक और उसके गैंग से जुड़े लोगाें की वेरिफिकेशन रिपोर्ट कैसे पास होती गई, जिससे उन्हें असलहों के लाइसेंस आसानी से मिल गए। वेरिफिकेशन करने वालों की गलती मिली तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। पुलिस अतीक से जुड़े 30 ऐसे मामलों का पता लगा चुकी है, जिनमें से ज्यादातर मामलों में गलत पते और क्रिमिनल रिकाॅर्ड छिपाकर असलहों के लाइसेंस लिये गए। ऐसे लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगस और उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी, जिन्होंने इन असलहों के लाइसेंस की फाइल वेरिफिकेशन करते हुए पास किया था।

 

बताते चलें कि बाहुबली अतीक अहमद के खिलाफ पुलिस प्रशासन ने ताबड़तोड़ कार्रवाईयां करते हुए अतीक और उनके परिवार समेत गैंग से जुड़े 20 से अधिक असलहों के लाइसेंस निलंबित कर शस्त्र जमा करा लिये हैं। अतीक अहमद के अलाव उनका भाई पूर्व विधायक खालिद अजीम अशरफ भी गिरफ्तार हो चुका है। दो लाख का ईनामी बेटा उमर अभी पुलिस की पकड़ से बाहर है। इसके अलावा अब तक अतीक की 200 करोड़ की सम्पत्ति पर पुलिस ने कार्रवाई की है। अभी हाल ही में लूकरगंज में अतीक के कब्जे से नजूल की जमीन छुड़ाई गई है जिसकी कीमत 100 करोड़ से ऊपर बतायी जाती है।

Show More
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned