मंडलायुक्त की चेतावनी, सावन में काशी विश्वनाथ आने वाले भक्तों को हुई परेशानी तो नपेंगे अधिकारी

Varanasi Commissioner instructions for sawan kashi vishwanath mandir - सावन माह में काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Mandir) में दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी न हो इसके लिए कमिश्नर ने अधिकारियों को कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि भक्तों को किसी प्रकार की परेशानी हुई तो अधिकारियों का नपना तय है।

By: Karishma Lalwani

Updated: 18 Jul 2021, 01:45 PM IST

वाराणसी. Varanasi Commissioner instructions for sawan kashi vishwanath mandir . सावन माह में काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Mandir) में दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह की परेशानी न हो इसके लिए कमिश्नर ने अधिकारियों को कड़ी चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि भक्तों को किसी प्रकार की परेशानी हुई तो अधिकारियों का नपना तय है। बेहतर होगा की तैयारियों को मुकम्मल कर लिया जाए। उन्होंने श्रद्धालुओं के आवागमन को देखते हुए परिसर के मार्गों को सही करने का निर्देश पीएसपी प्रोजेक्ट लिमिटेड कंपनी के जीएम को दिया।मंदिर परिसर में भी श्रद्धालुओं के प्रवेश और निकास के अलग-अलग व्यवस्था करने का निर्देश मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को दिए गए हैं।

इस तरह रहेगी व्यवस्था

मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने इस बारे में कहा कि मैदागिन से आने वाले श्रद्धालुओं को गेट नंबर 4 छत्ता द्वार होते हुए मंदिर में भेजा जाएगा। इसके बाद मंदिर परिसर के गेट ए से प्रवेश देकर गर्भगृह के पूर्वी प्रवेश द्वार पर जल चढ़ाने की व्यवस्था की जाएगी। ढुंडीराज गली, बांस फाटक से आने वाले श्रद्धालुओं को मंदिर परिसर के गेट डी से प्रवेश देकर गर्भगृह के पश्चिमी द्वार पर जल चढ़ाने की व्यवस्था की जाएगी। इसी तरह सरस्वती फाटक की ओर से आने वाले दर्शनार्थियों को गर्भगृह के दक्षिणी द्वार पर और वीआईपी के अलावा सुगम दर्शन के टिकट धारकों को गेट सी से प्रवेश कराकर गर्भगृह के उत्तरी द्वार पर दर्शन कराया जाएगा।

झांकी दर्शन की व्यवस्था रहेगी

हर बार की तरह इस बार भी झांकी दर्शन की व्यवस्था बनी रहेगी। मंदिर के आसपास वाली गलियों को सही करने के निर्देश नगर निगम को दिया। प्रकाश व्यवस्था के लिए पर्याप्त लाइटिंग करने लगी रहेगी। दर्शनार्थियों के लिए उचित इंतजाम किए जाने के निर्देश दिए गए।

ये भी पढ़ें: सोशल मीडिया से युवाओं को किया जाता है टारगेट, क्रैश कोर्स पास करने के बाद बड़ी घटना को अंजाम देने की मिलती है जिम्मेदारी

ये भी पढ़ें: 7 तरह के विशेष पत्थरों से चमकेगा काशी विश्वनाथ कॉरिडोर, नक्काशी खंभे और मेहराब से तैयार मुख्य परिसर

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned