Dev Deepawali With PM Modi: देव दीपावली पर पीएम मोदी ने पहला दीप किया रोशन तो एक साथ जल उठे 15 लाख दीपक़ और बन गया रिकार्ड

  • पीाम नरेन्द्र मोदी ने देखी काशी की देव दीपावली
  • काशी में दीपमालाओं की अद्भुत छटा ने मोहा पीएम नरेन्द्र मोदी का मन,
  • पहला दीप रोशन करते ही आधे घंटे में जल उठे 15 लाख दीप
  • चेतसिंह घाट पर हुआ अधे घंटे का विशेष लेजर शो

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
वाराासी. लाखों टिमटिमाते दियों के टेम से जगमग करते गंगा घाट, बीच से कलकल कर बहती गंगा की अविरल धारा और हर तरफ बिखरी रोशनी। ऐसा लग रहा था मानो देव दीपावली पर एक बार पूरी आकाशगंगा ही काशी में उतर आयी हो। गंगा के दोनों ओर दीपमालाओं की अद्भुत छटा थी। काशी की ऐतिहासिक देव दीपावली की इस आभा को देखकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी गदगद हुए। उन्होंने कहा कि मां गंगा के सानिध्य में काशी प्रकाश का उत्सव मना रही है। भोलेनाथ के आशीर्वाद से मुझे भी इसमें डुबकी लगाने का अवसर मिल रहा है।

 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पहली बार काशी की देव दीपावली में शामिल हुए। पीएम के लिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या के दीपोत्सव की तर्ज पर काशी की देवी दीपावली का इंतजाम किया था। गंगा घाट पर ऐतिहासिक रोशनी की गई थी। पहली बार गंगा पार भी लाखों दिये रोशन किये गए थे। पीएम मोदी ने राजघाट पर देव दीपावली का पहला दिया जलाया तो आधे घंटे के अदंर ही 15 लाख दिये जगमगाने लगे और यह एक रिकॉर्ड बन गया। छोटा सा संबोधन करने के बाद पीएम ने लग्जरी क्रूज पर सवार होकर गंगा की लहरों से घाटों पर जगमग असंख्य दियों की आभा देखी। चेतसिंह घाट पर पर्यटन विभाग की ओर से आयोजित लेजर शो देखने के बाद रविदास घाट पहुंचकर वहां से सारनाथ चले गए, जहां उन्होंने लाइट एण्ड साउंड शो देखा।

 

 

इसके पहले पीएम दोपहर 2.23 बजे पीएम बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचे तो वहां सीएम योगी और राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने उनका स्वागत किया। वहां से खजुरी सभा स्थल गए जहां से उन्होंने 2447 करोड़ की लगात से बने राजातालाब-हंडिया नेशनल हाइवे चौड़ीकराण का उद्घाटन किया। वहां उन्होंने मंच से काशी में लगातार किये जा रहे विकास कार्यों की चर्चा की तो किसान आंदोलन पर विपक्ष को भी आड़े हाथ लेकर उस पर भ्रम फैलाने का खेल खेलने का आरोप लगाया।

 

पीएम वहां से हेलिकाॅप्टर से गंगा पार डोमरी पहुंचे और वहां से मोहक फूलों से सजे लग्जरी क्रूज पर सवार होकर सीधे काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे। वहां उन्होंने पूजा अर्चना की और इसके बाद विश्वनाथ काॅरिडोर निर्माण कार्यों का अवलोकन किया। उन्होंने निर्माण कार्य को प्रजेंटेशन एक फिल्म के जरिये देखा। इसके बाद वो राजघाट पहुंचे। जहां उन्होंने देव दीपावली का दीप प्रज्वलित किया।

 

 

इस दौरान उन्होंने अपने संबोधन में चीन को भी जवाब दिया। उन्होंने कहा कि चाहे सीमा पर घुसपैठ की कोशिश हो, विस्तारवादी ताकतों का दुस्साहस हो या फिर देश के भीतर देश को तोड़ने वाली साजिशें, भारत आज सबका मुहतोड़ जवाब दे रहा है। पीएम ने यह भी कहा कि गंगा की अविरल धारा की तरह विकास की गंगा भी यहां बहती रहेगी। उन्होंने कहा कि हमारा ध्यान देश की संस्कृति बचाने पर है।

 

 

इसके बाद पीएम वहां से क्रूज पर सवार होकर करीब एक घंटे तक गंगा की लहरों से देव दीपावली के नजारे देखे। करीब 20 मिनट से अधिक देर तक उन्होंने चेतसिंह घाट पर आयोजित लेजर शो देखा। वहां से पीएम रविदास घाट पहुंचे और वहां उन्होंने संत को पुष्प अर्पित करने के बाद सड़क मार्ग से सारनाथ के लिये रवाना हो गए। पीएम ने सारनाथ में धम्मेख स्तूप पर लाइट एंड साउंड शाे भी देखा, जिसकी शुरुआत उन्होंने ही कुछ दिन पहले वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये की थी। इसके बाद वो बाबतपुर एयरपोर्ट गए जहां से दिल्ली के लिये रवाना हो गए।


खास बातें

  • काशी के सभी 84 घाटों के साथ गंगा पार रेती पर 15 लाख से अधिक दिये जलाए गए
  • काशी के घाटों को 200 क्विंटल फूलों से सजाया गया था।
  • 20 क्विंटल फूल से महाआरती के लिये मंच तैयार किया गया।
  • सजावट के लिये 200 तरह के अलग-अलग फूल इस्तेमाल किये गए
  • पीएम का लग्जरी क्रूज और गंगा आरती का मंच फूलों से तैयार किया गया था
  • स्वागत के लिये विशेष गुलाब कश्मीर से मंगवाए गए थे
  • दार्जिलिंग से गोदावरी के फूल भी मंगाए गए थे
  • 15 घाटों पर विशेष सांस्कृतिक आयोजन हुए
  • पीएम ने विश्वनाथ काॅरिडोर का निर्माण कार्य फिल्म प्रजेेटेशन के जरिये देखा
  • राजघाट पर पीएम ने जलाया देव दीपावली का पहला दिया
  • विशेष फूलों से सजे लग्जरी क्रूज शिप पर सवार होकर देखी देव दीपावली
  • पीएम ने चेतसिंह घाट पर 20 मिनट से ज्यादा समय तक लेजर शो देखा
Narendra Modi
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned