बुनकरों को नहीं है सरकारी योजनाओं की जानकारी

बुनकरों को नहीं है सरकारी योजनाओं की जानकारी

Devesh Singh | Publish: Sep, 08 2018 05:40:26 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

साई इंस्टीट्यूट ऑफ रूरल डेवलपमेंट एंव हथकरघा व वस्त्र उद्योग विभाग की ने लगाया जागरूकता शिविर, विभिन्न योजनाओं के लिए मांगा गया आवेदन

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी सरकार बुनकरों के लिए कई योजना चला रही है लेकिन इन योजनाओं की जानकारी तक बुनकारों के पास नहीं है। शनिवार को साई इंस्टीट्यूट आफ रूरल डेवलपमेंट एंव हथकरघा व वस्त्र उद्योग विभाग ने लल्लापुरा के एओ मुस्लिम कॉलेज में कैंप का आयोजन किया। कैंप में बुनकरों को विभिन्न योजनाओं की जानकारी देने के साथ बुनकर कार्ड व अन्य सामाजिक योजनाओं के लिए आवदेन मांगा गया।
यह भी पढ़ेे:-घाट संध्या में कथक की प्रस्तुति

परियोजना प्रबंधक संदीप मौर्या ने बताया कि स्थानीय स्तर पर सर्वे करने से पता चला कि बुनकारों को सरकारी योजना की जानकारी नहीं है। स्थिति इतनी खराब है कि उनके पास बुनकर कार्ड तक नहीं है। कैंप लगा कर बुनकरों को विभिन्न सरकारी योजना की जानकारी दी गयी है। साथ ही बुनकर कार्ड व अन्य स्कीम के लिए उनसे आवेदन लिया गया है, ताकि सरकारी योजना का पूरा लाभ बुनकरों तक पहुंच सके। शिविर समन्वय क मो साजिद फरीदी ने कहा कि महात्मा गांधी बुनकर बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, प्रधानीमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, पावरलूम सामूहिक बुनकर योजना आदि की जानकारी दी गयी है, जिससे बुनकरों को न्यूनतम अंक पर दो लाख रुपये की आर्थिक सुरक्षा मिल सके। उन्होंने कहा कि बुनकरों को अपना व्यवसाय बढ़ाने के लिए पीएम मृद्रा योजना की भी जानकारी दी गयी है। इससे बुनकर आसानी से ५१ हजार से लेकर पांच लाख तक को ऋण प्राप्त कर सकेंगे। इसके अतिरिक्त कैंप में बुनकरों के लिए चलायी गयी अन्य योजनाओं को भी बताया गया है। साई इंस्टीट्यूट के निदेशक अजय सिंह ने कहा कि हमारा उद्देश्य बुनकरों को जागरूक करना है। बुनकरों को जब केन्द्र सरकार की योजनाओं की जानकारी होगी तो वह लाभ उठाने में सक्षम हो जायेंगे। ऐसा होते ही बुनकरों के जीवन स्तर में बड़ा बदलाव होगा। इस अवसर पर संस्थान की हेल्थ कोऑडिनेटर दीक्षा सिंह, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के समाजकार्य के छात्र अम्बीरश, यतेन्द्र, अंजलि सोनी आदि भी उपस्थित थे।
यह भी पढ़े:-उफनती वरुणा नदी में मौत की छलांग लगा रहे बच्चों को जिलाधिकारी ने दी नसीहत

Ad Block is Banned