गैस सिलेंडर के दाम में बढोत्तरी के खिलाफ महिला कांग्रेस ने कुछ ऐसे जताया विरोध

राजीव चौक पर तपती दोपहरी में बैठ दिया धरना, केंद्र व राज्य सरकार को जम कर कोसा, गोहरी पर बनाई रोटी।

By: Ajay Chaturvedi

Published: 06 Jun 2018, 04:09 PM IST

Varanasi, Uttar Pradesh, India

वाराणसी. गैस सिलेंडर के दाम में हो रही लगातार वृद्धि के विरोध में प्रदेश कांग्रेस के तत्वावधान में विरोध का एक अनूठा आयोजन किया गया। मूल्यवृद्धि के विरोध स्वरुप कांग्रेस से जुड़ी महिलाओं ने मैदागिन स्थित राजीव गांधी की प्रतिमा के समक्ष उपले जलाये व तावा पर रोटी सेक उपस्थित लोगों को चटनी के साथ खिलाया और केन्द्र सरकार को जमकर कोसा। इससे पूर्व कांग्रेसजनों ने सिलेंडर के प्रतीक पोस्टर पर फूल अर्पित करते हुए नारे भी लगाए, " गैस के दाम कम करो - मोदी कुछ तो शर्म करो", ''बंद करो अब यह मनमानी- सरकार नहीं दुबारा आनी'', ''गरीब का चूल्हा रोता है मोदी सरकार एक धोखा है।''

आयोजन का नेतृत्व उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की सदस्य पूनम कुण्डु ने किया। मौके पर उपस्थित कांग्रेसजनों ने गैस मूल्यवृद्धि के बहाने महिलाओं के अन्य मुद्दों पर भी भाजपा की केन्द्र व राज्य सरकार को आड़े हांथों लिया उन्होंने कहा कि पेट्रो पदार्थों की मूल्यवृद्धि विशेषतः पेट्रोल, डीजल व गैस मूल्यों की निरंतर मूल्यवृद्धि ने आम परिवारों के बजट को ही गड़बड़ा दिया है और आश्चर्य तो यह है कि जो कल तक विपक्ष में रहकर पेट्रो मूल्यवृद्धि को आम आदमी पर बोझ बताते थे आज वही इसे विकास के लिए आवश्यक बताते फिर रहे हैं। विरोध करो तो कहते हैं कि अपने मेकअप का खर्चा कम करें महिलाएं, अपनी स्कूटी छोड़ पैदल चलें सेहत अच्छी रहेगी।

महिलाओं के प्रति जितनी अभद्रता से भाजपा व उनके समर्थक टिप्पणी करते हैं वह कभी नहीं सुना व देखा गया हद तो अब यह है कि अब तो जनप्रतिनिधि भी बलात्कारी निकल रहे। वक्ताओं ने आरोप लगाया कि जब से भाजपा सरकार केन्द्र में सत्तासीन हुई है रोज एक नई घोषणा बनारस के विकास व महिला उत्थान की कर रही है तथा जिस शौचालय योजना का जमकर प्रचार प्रसार वह कर रही उसकी बानगी यह है कि आज तक सरकार अलग से एक महिला शौचालय भी नहीं ेबनवा सकी शहर के मुख्य बाजार व मार्गों पर घाट किनारे कपड़े बदलने के लिए जो कपड़ा घर बने वह भी आज बेपर्दा हो गए। अब केवल ढांचा ही दिखता है। महिला उत्पीड़न व महिला अत्याचार की घटनाओं पर सरकार संवेदनशील नहीं है। छेड़खानी रोकने के लिए एण्टी रोमियो दस्ता आज किस मंत्री या अधिकारी की सेवा में है यह पता ही नहीं, महिला स्वास्थ्य सेवाओं के प्रति उदासीनता का यह आलम है कि शहर तो शहर गांव के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बंद पड़े हैं जो खुले भी हैं उनमें दवा व डाक्टर ही नहीं उपलब्ध हैं।

आयोजन व सभा में प्रमुख रुप से चेयरमैन रेखा शर्मा, श्वेता राय,वीणा पाण्डेय, किरण सिंह, मीरा तिवारी, पार्षद मीनू शर्मा, शिखा मौर्या ,प्रिया दिछित , महालछ्मी शुक्ला, अनिल श्रीवास्तव " अन्नु ", डॉ जितेन्द्र सेठ, विपिन सिंह,आशीष कुमार, रोहित पाण्डेय,आदि शामिल थे। संचालन सेवादल शहर अध्यक्ष प्रभात वर्मा ने किया ।

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned