नारी हिंसा के खिलाफ PM के क्षेत्र की महिलाओं ने बुलंद की आवाज

नारी हिंसा के खिलाफ PM के क्षेत्र की महिलाओं ने बुलंद की आवाज
नारी हिंसा के खिलाफ चौपाल

Ajay Chaturvedi | Updated: 13 Sep 2019, 03:25:24 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

-नारी हिंसा के खिलाफ आदर्श ग्राम नागेपुर में महिलाओं ने लगाई चौपाल
- महिलाओं ने बाल विवाह महिला हिंसा, भेदभाव को मिटाने का लिया संकल्प

मिर्जामुराद/ वाराणसी. प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम नागेपुर में शुक्रवार को महिलाओं ने बाल विवाह, महिला हिंसा व लिंग भेद के खिलाफ चौपाल लगाई। चौपाल में उन्होंने महिलाओं पर हो रहे अत्याचार और उत्पीड़न का जमकर विरोध किया। सामाजिक संस्था ग्राम्या लोक समिति, संस्थान, एशियन ब्रीज इंडिया और ग्रामीण पुनर्निर्माण संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम में नागेपुर, बेनीपुर, गनेशपुर गाँव से सैकड़ों महिलाओं किशोरी लड़कियों ने भाग लिया।

इस मौके पर महिलाओं ने एक स्वर से कहा कि हर रोज महिलाओं को थप्पड़ों, लातों, पिटाई, अपमान, धमकियों, यौन शोषण और अनेक अन्य हिंसात्मक घटनाओं का सामना करना पड़ रहा है। यहां तक कि उनके जीवन साथी या उसके परिवार के सदस्य उन्हें बराबरी का हक और सम्मान तक नही देते हैं ।इन सबके बावजूद हमें इस प्रकार की हिंसा के बारे में अधिक पता नहीं चलता है क्योंकि शोषित व प्रताड़ित महिलाएं इसके बारे में चर्चा करने से घबराती हैं। डरती व झिझकती हैं। चौपाल में इसके खिलाफ आवाज उठाने का संकल्प लिया गया।

नारी हिंसा के खिलाफ चौपाल

ग्राम्या संस्थान की निदेशक बिन्दू सिंह ने बताया कि महिला पर हिंसा करने के लिए पुरुष अनके बहाने बनाता है जैसे कि- वह शराब के नशे में था, वह अपना आपा खो बैठा या फिर वह महिला इसी लायक है । लेकिन वास्तविकता यह है कि वह हिंसा का रास्ता केवल इसलिए अपनाता है जिससे वह घर व समाज में हिंसा के माध्यम से पितृसत्तात्मक व्यवस्था को कायम रख सके। महिला को इस तरह के भेदभाव व हिंसा का विरोध करने के साथ साथ पुरुषों को अपने इस मानसिकता को बदलने की भी जरूरत है।

लोक समिति संयोजक नन्दलाल मास्टर ने बताया कि नागेपुर बेनीपुर गनेशपुर आदि गांवों में लिंगभेद और महिला हिंसा बाल विवाह दहेज को रोकने के लिये विशेष अभियान चलाया जायेगा।

चौपाल में ग्राम्या संस्था चंदौली की टीम ने कठपुतली नाटक में माध्यम से लिंगभेद व महिला हिंसा पर लोगों को जागरूक किया। कार्यक्रम की शुरुआत ग्राम्या संस्था की बिंदु सिंह, नीतू, लोक समिति संयोजक नन्दलाल मास्टर और गांव की महिलाओं ने दीप प्रज्वलित करके किया। इस मौके पर त्रिभुवन, गनेश, मदनमोहन, कन्नगी, नीतू सिंह, आशीष, रणविजय, सरिता, सौफिया, सुरेन्द्र सिंह, अनीता, सोनी, रामबचन, पंचमुखी, आशा, मधुबाला, श्यामसुन्दर, बिंदु, सीता, सरोजा, कमला, सितारा, मन्जू आदि मौजूद रहे।

नारी हिंसा के खिलाफ चौपाल
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned