वाराणसी. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय परिसर से बाहर एम्स की स्थापना को लेकर चल रहे अभियान के तहत रविवार को शहर के साहित्याकर और तमाम बुद्धिजीवियों का जुटान हुआ। सभी ने एक स्वर से इसका समर्थन किया और तय किया गया कि इस मुद्दे पर जल्द ही पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र भेजा जाएगा। वैसे भी इस अभियान को लगातार समर्थन मिल रहा है। किसान, मजदूर, उद्योगपति, अधिवक्ता, बुद्धिजीवी, लेखक, कथाकार, आलोचक, रंगकर्मी, तथा राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त एथलीट तथा उनके एसोसिएशन के पदाधिकारी तक इस आंदोलन से जुड़ने लगे हैं। इसी कड़ी में रविवार को पराड़कर स्मृति भवन में संगोष्ठी आयोजित की गई जिसमें साहित्यकार, उद्यमी और तमाम बुद्धिजीवियों का समागम हुआ। इस गोष्ठी में तय हुआ कि संयुक्त रूप से प्रधानमंत्री जो को पत्र भेजा जाएगा।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned