ओम प्रकाश राजभर के बाद उनके बेटे के खिलाफ योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, 7 और लोगों को हटाया

ओम प्रकाश राजभर के बाद उनके बेटे के खिलाफ योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, 7 और लोगों को हटाया
योगी आदित्यनाथ और ओम प्रकाश राजभर

Mohd Rafatuddin Faridi | Publish: May, 20 2019 02:31:06 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

  • योगी सरकार ने यूपी के निगम, परिषद और आयोग के अध्यक्ष व सदस्यों समेत सात को हटाया।

वाराणसी. लोकसभा चुनाव के दौरान लगातार बीजेपी के लिये टेंशन बने सहयोगी दल सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर का भाजपा ने चुनाव बाद हिसाब कर ही दिया। यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर को आखिरकार बर्खास्त कर दिया। बीजेपी उनके खिलाफ कोई एक्शन लेने के लिये लोकसभा चुनावों के बीत जाने का इंतजार कर रही थी। मतदान पूरा होने के 24 घंटे के भीतर ही योगी सरकार ने उनके खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया। उसके बाद राजभर के बेटे अरविंद राजभर को भी सुक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के अध्यक्ष पद से हटा दिया गया है।

 

Arvibd Rajbhar

 

ओम प्रकाश राजभर के अलावा योगी सरकार ने राजभर की पार्टी से जुड़े निगमों, परिषदों और आयोगों से जुड़े पांच अध्यक्ष व सदस्यों को भी हटा दिया, जिनमें राजभर के बेटे अरविंद राजभर भी शामिल हैं। लोकसभा चुनाव में सीट बंटवारे को लेकर नाराज ओम प्रकाश राजभर को मनाने के लिये चुनाव से ठीक पहले योगी सरकार ने उनकी पार्टी कार्यालय के लिये उनके विधायक के नाम से बड़ा बंगला लखनऊ में एलार्ट किया, इसके अलावा उनकी पार्टी से जुड़े पांच लोगों को मलाईदार पद भी दिये, बावजूद इसके राजभर ने अपनी पार्टी के टिकट पर उन 39 सीटों पर अपने प्रत्याशी खड़ा कर बीजेपी को हराने की कोशिश की, जहां उसके लिये गठबंधन से पहले ही कड़ा मुकाबला था।

 

बीजेपी चुनावों में राजभर वोटों की नाराजगी मोल लेना नहीं चाहती थी इसलिये खामोश रही। सातवें चरण का मतदान होते ही पहले ओम प्रकाश राजभर की कैबिनेट से छुट्टी की गयी। उसके बाद उनकी पार्टी के पांच नेताओं को भी मलाईदार पदों से हटा दिया। ओम प्रकाश राजभर के बेटे को सुक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के अध्यक्ष पद से, उत्तर प्रदेश बीज विकास निगम के अध्यक्ष/निदेशक राणा अजीत प्रताप सिंह (सुल्तानपुर), उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग आयोग सदस्य गंगा राम राजभर (संत कबीर नगर) व वीरेन्द्र राजभर (बलिया), यूपी पशुधन विकास परिषद सदस्य सुदामा राजभर (गाजीपुर), राष्ट्रीय एकीकरण परिषद सदस्य सुनील अर्कवंशी (हरदोई) और श्रीमती राधिका पटेल (सुल्तानपुर) को उनके पद से यूपी सरकार ने हटा दिया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned