जिले में नए 164 संक्रमित, 52 सिर्फ विदिशा के

1446 एक्टिव केस जिले में अब भी मौजूद

By: govind saxena

Published: 18 Apr 2021, 10:26 PM IST

विदिशा. जिले में अब तक 6044 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं, इनमें से 1446 एक्टिव केस जिले में अब भी मौजूद हैं, लेकिन राहत की बात यह है कि 4 हजार 500 से ज्यादा लोग स्वस्थ भी हुए हैं। हालांकि 90 से ज्यादा लोग असमय ही काल के गाल में भी समाए हैं। लेकिन कोरोना संक्रमण से पीडि़त लोगों में से बड़ी संख्या में लोग स्वस्थ हो चुके हैं। रविवार को जिले में 164 नए संक्रमित सामने आए हैं, जिनमें से 52 सिर्फ विदिशा के हैं।

हॉट स्पॉट बनता जा रहा ग्यारसपुर
कोरोना की सेकंड वेव में विदिशा शहर के साथ ही ग्यारसपुर ब्लॉक हॉट स्पॉट बनता जा रहा है। रोजाना यहां बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित सामने आ रहे हैं। रविवार की रिपोर्ट में गंजबासौदा में 35, नटेरन में 8, सिरोंज में 3, लटेरी में 13, ग्यारसपुर में 32 और कुरवाई में 21 लोग संक्रमित पाए गए हैं।

17 दिन में 256 कोरोना संक्रमित स्वस्थ होकर लौटे
विदिशा. यह सुखद है कि इस मुश्किल वक्त में अब हमारे पास अपना खुद का मेडिकल कॉलेज है। कल्पना करें कि अगर विदिशा में ये नहीं होता तो हालात क्या होते। स्टॉफ की कमी और जटिल केस आने पर कुछ केस बिगडऩे या मरीजों के न बच पाने या असुविधा होने की नौबत से भी इंकार नहीं कर सकते। लेकिन यह भी सही है कि इसी मेडिकल कॉलेज की बदौलत विदिशा जिले सहित आसपास के कई जिलों के भी सैंकड़ों मरीज यहां स्वास्थ्य लाभ ही नहीं ले रहे बल्कि स्वस्थ होकर अपने घरों को भी लौट रहे हैं। अप्रेल के 18 दिन में ही 256 लोग विदिशा मेडिकल कॉलेज से स्वस्थ होकर अपने घरों को लौटे हैं।
शासकीय अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा महाविद्यालय के डीन डॉ. सुनील नंदीश्वर ने बताया कि अप्रेल माह में अब तक 256 कोरोना संक्रमितों को स्वस्थ होने पर कॉलेज से डिस्चार्ज किया जा चुका है। इसी तरह 17 अप्रेल को ही आइसीयू में भर्ती 5 क्रिटिकल मरीजों को अपेक्षाकृत बेहतर होने पर हाइ डिपेंडेंसी यूनिट(एचडीयू) में, दो मरीजों को एचडीयू से नार्मल ऑक्सीजन वाले सेक्शन में और 4 मरीजों को नार्मल ऑक्सीजन वाले सेक्शन से भी एसिम्पटोमेटिक कोरोना वार्ड में शिफ्ट किया गया है।

रविवार को 10 ने दम तोड़ा
रविवार को विदिशा के 10 कोरोना संक्रमितों ने मेडिकल कॉलेज में दम तोड़ा है। इनमें जैन सोशल ग्रुप के संस्थापक अध्यक्ष राकेश जैन(महावीर एग्रो) की पत्नी सविता जैन, देवजूरी के बंसीलाल प्रजापति, ढलकपुरा विदिशा के लालाराम मालवीय, स्वर्णकार कॉलोनी के गुरुचरण सेठी, जेलरोड के कोमलसिंह, नीमताल चौराहे की चिरोंजीबाई, करैया के दौलत सिंह, सतियाखेड़ी के मो. नासिर, बंटीनगर के हाकमसिंह तथा पूरनपुरा के फूलसिंह शामिल हैं।

बाजार रहा पूरा बंद, चोरी छिपे भी नहीं खुलीं दुकानें
प्रशासन की सख्ती और 26 तक कोरोना कफ्र्यू बढ़ाने के साथ ही किराना दुकानों को भी बंद रखने के आदेश के बाद रविवार को पूरे दिन बाजार में सन्नाटा पसरा रहा। चंद वाहन आते-जाते रहे। फल-सब्जी के ठेले कहीं कहीं खड़े और घूमते नजर आए। खरीफाटक पर चंद दुकानें खुली रहीं, लेकिन इसके अलावा पूरा बाजार बंद रहा। दिन में नायब तहसीलदार पारुल जैन ने घूमते हुए लोगों से पूछताछ कर फटकार लगाई तो शाम को कलेक्टर डॉ. पंकज जैन खुद ही शहर का हाल जानने निकल पड़े। कई जगह रविवार को सेनेटाजेशन भी कराया गया।

आटा चक्की वाले परेशान, गाइडलाइन में कोई जिक्र नहीं
उधर कलेक्टर द्वारा प्रतिबंधों की गाइडलाइन में सभी सेक्टर का जिक्र है, लेकिन आटा चक्कियों का कोई जिक्र नहीें है, कि वे कब और कैसे संचालित होंगी। विनोद आटा चक्की के संचालक विनोद कुशवाह ने बताया कि प्रशासन ने आटा चक्कियों के बारे में कुछ नहीं कहा है, जबकि ये सबसे ज्यादा आवश्यक सेवाओं में शामिल हैं, इससे दुविधा हो रही है। लोगों का आटा चक्की पर पड़ा है, पिसवाने के लिए भी फोन आ रहे हैं, लेकिन गाइडलाइन में जिक्र न होने के कारण चक्की नहीं खोल पा रहे हैं।

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned