50 करोड़ का भुगतान अटका, सात हजार अध्यापक हो रहे परेशान

50 करोड़ का भुगतान अटका, सात हजार अध्यापक हो रहे परेशान

Deepesh Tiwari | Updated: 10 Jul 2019, 01:07:25 PM (IST) Vidisha, Vidisha, Madhya Pradesh, India

- शिक्षक कई बार दे चुके हैं ज्ञापन, नहीं हो रही सुनवाई
- डीईओ द्वारा पांच बार पत्र लिखने के बावजूद बीईओ नहीं करवा पा रहे अमल

विदिशा@अनिल सोनी की रिपोर्ट...
जिलेभर के करीब 7 हजार अध्यापकों का छठवें वेतनमान के एरियर के साथ ही दो बार बढ़े डीए का करीब 50 करोड़ के भुगतान डीईओ द्वारा चार बार पत्र लिखने के बावजूद नहीं किया गया। भुगतान के लिए अध्यापक भी कई बार शासन-प्रशासन से गुहार लगा चुके, लेकिन अब तक सुनवाई नहीं हो सकी है।

आजाद अध्यापद संघ के जिलाध्यक्ष चंद्रभूषण किरार ने बताया कि छठवें वेतनमान का एरियर सभी अध्यापकों को तीन किश्तों में दिया जाना था। पहली किश्त का भुगतान मई 2018 में होना था, जिसका भुगतान मार्च 2019 में हो सका। वह भी सभी अध्यापकों को नहीं हुआ।

कई संकुल के सैकड़ों अध्यापकों को पहली किश्त का भुगतान भी अब तक नहीं हो सका है। इसी प्रकार दूसरी किश्त का भुगतान मई 2019 में होना था, लेकिन ग्यारसपुर और गुलाबगंज संकुल के अलावा जिलेभर के किसी भी संकुल में अध्यापकों को छठवें वेतनमान के एरियर की दूसरी किश्त का भुगतान नहीं हो सका। प्रत्येक अध्यापक को करीब 20 हजार से 50 हजार रुपए की राशि इसके तहत मिलना है।

वेतन भुगतान भी अटका
अध्यापकों ने बताया कि हर माह एक तारीख को वेतन अकाउंट में आ जाता था, लेकिन इस बार आठ तारीख बीत जाने के बावजूद उन्हें जून माह का भुगतान नहीं मिला है।

पिछले वर्ष का बढ़ा एरियर भी नहीं मिला
अध्यापकों को बढ़े हुए छह प्रतिशत डीए के पांच माह का भुगतान एक जुलाई 2018 को होना था। लेकिन एक साल बीत जाने के बावजूद इस राशि का भुगतान अध्यापकों को अब तक नहीं हो सका। जिलेभर के एक भी अध्यापक को यह राशि नहीं मिली। मालूम हो कि प्रदेश के अन्य जिलों में इसका भुगतान हो चुका है, सिर्फ विदिशा जिले में ही अध्यापकों के भुगतान में आनाकानी हो रही है।

इस साल का एरियर भी नहीं मिला
मालूम हो कि जनवरी 2019 में छह प्रतिशत डीए फिर सरकार द्वारा बढ़ाया गया था, लेकिन पांच माह बीत जाने के बावजूद इसका भुगतान भी अब तक नहीं हो सका है। प्रत्येक अध्यापक का करीब छह से आठ हजार रुपए का भुगतान इसके तहत होना है।

जल्द भुगतान नहीं हुआ, तो करेंगे आंदोलन
प्रदेश के अन्य जिलों में छठवें वेतनमान के एरियर के साथ ही बढ़े हुए छह प्रतिशत डीए तथा हड़ताली अवधि का काटा वेतन सभी अध्यापकों को मिल चुका है। सिर्फ विदिशा जिले में ही अध्यापकों को एरियर की राशि के भुगतान के लिए परेशान होना पड़ रहा है। जल्द भुगतान नहीं हुआ, तो संघ आंदोलन करने पर मजबूर होगा।
- केशव रघुवंशी, प्रांतीय सचिव, आजाद अध्यापक संघ

 

हड़ताली अवधि का कटा वेतन भी अभी तक नहीं मिला
अध्यापकों द्वारा विभिन्न मांगों के निराकरण के लिए सितम्बर 2015 में करीब 10 दिन किए गए प्रदर्शन के दौरान काटे गए वेतन को दिलवाए जाने के लिए भी संबंधितों को डीईओ द्वारा निर्देशित किया गया है, लेकिन इस राशि का भुगतान भी अब तक नहीं हो सका है।

बीईओ तो कहीं बाबू कर रहे लेटलतीफी
जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा बीईओ (डीडीओ) को बार-बार पत्र लिखकर छठवें वेतनमान के एरियर सहित बढ़े हुए छह प्रतिशत के भुगतान के साथ ही हड़ताली अवधि का कटा वेतन दिए जाने के लिए निर्देशित किया गया, लेकिन कहीं बीईओ संकुल से बिल बनवाकर ट्रेजरी तक नहीं भेज पा रहे हैं, तो कहीं बाबू बिल बनाने में आनाकानी कर रहे हैं।

अध्यापकों के छठवें वेतनमान के एरियर के साथ ही बढ़े हुए छह प्रतिशत एरियर आदि के भुगतान के बिल बन चुके हैं। सिर्फ बजट का अभाव है, बजट आते ही बिल ट्रेजरी में लगा दिए जाएंगे।
- अतुल मुदगल, डीईओ, विदिशा

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned