दस दिन बाद जागी नपा, अब शुरू कराई बेतवा की सफाई

पत्रिका ने नदी में पड़े अवशेषों पर दिलाया था ध्यान

विदिशा. बेतवा में दशहरे के दिन से प्रतिमाओं के पड़े अवशेषों की सफाई मंगलवार से शुरू कर दी। इन अवशेषों व नदी में व्याप्त कचरे से नदी प्रदूषित हो रही थी। पत्रिका ने 22 अक्टूबर के अंक में नदी में व्याप्त गंदगी और प्रदूषित हो रहे पानी से मछलियों की मौत का मामला उठाया था। सुबह करीब 6.30 बजे नपा का अमला बेतवा नदी पर मशीनें व अन्य साधनों के साथ पहुंचा और मुक्तिधाम सेवा समिति के श्रमदानियों के साथ मिलकर नदी से कचरा व प्रतिमाओं के अवशेषों को निकालने का कार्यशुरू किया। इस दौरान हाइड्रा, डंपर, टे्रक्टर-ट्रॉली, जेसीबी आदि मशीनों के अलावा करीब 15 कर्मचारी नपा के इस कार्य में जुटे रहे। इस दौरान चरणतीर्थ के पुराने पुल से हाइड्रा के जरिए अवशेषों को नदी से निकाल कर पुल की एक ओर किया जाता रहा। इस दौरान नपा के कर्मचारियों के साथ मुक्तिधाम सेवा समिति से जुड़े श्रमदानी भी नदी में उतरे और इस कार्य में मदद करते रहे।

 

चार डंपर अवशेष व कचरा निकाला
सुबह करीब तीन घंटे चले नदी की सफाई के इस अभियान में करीब चार डंपर अवशेष व कचरा हाइड्रा, जेसीबी आदि के जरिए निकाला गया। नदी के एक ओर इक_े किए गए इन अवशेषों को डंपर में भरकर फिंकवाया गया। नपा कर्मचारियों के मुताबिक करीब चार डंपर अवशेष व कचरा निकाला गया है। नदी की सफाईका यह कार्य जारी रहेगा।

 

नदी में पहले मर चुकी थी मछलियां
मालूम हो कि बेतवा के चरणतीर्थ पुल के पास नदी में अभी भी अवशेष व कचरा जहां तहां भरा पड़ा है। पानी सड़ांध मार रहा है। 21 अक्टूबर को इस पुल के पास एवं इस क्षेत्र में खारी घाट व चरणतीर्थ के छोटे पुल के पास इस गंदे पानी व पानी में केमिकल आदि मिलने से बड़ी संख्या में मछलियां मर गई थीं।

 

शाम तक नदी में नहीं आया डेम का पानी
इधर नपा ने शहर की पेयजल व्यवस्था के लिए हलाली बांध से पानी मांगा है। नपा कर्मचारियों के अनुसार पानी डेम से छोड़ा जा चुका पर शाम तक यह पानी नदी में नहीं आया था। बेतवा में कम पानी होने से शहर की प्यास बुझाने वाला कालीदास डेम में भी तीन चार दिन का ही पानी शेष है। शहर की पेयजल व्यवस्था सुचारू बने रहे इसकेे लिए नपा ने हलाली से दो-तीन किश्तों में पानी मांगा है।

 

अब तक अकेले जुटी थी मुक्तिधाम सेवा समिति
इस कार्य में दशहरे की सुबह से मुक्तिधाम सेवा समिति के श्रमदानी अकेले ही नदी से अवशेष निकालने के कार्य में जुटे थे। दस दिन बाद जब नपा का अमला आया तो यह कार्यऔर आसान हो गया। नपा के अमले में स्वास्थ्य विभाग प्रभारी हरीश सोनी, राकेश राजपूत, दरोगा धनराज चावरिया, पवन खरे, बद्री मानसिंह, उत्तम आदि शामिल रहे। मुक्तिधाम सेवा समिति के सचिव मनोज पांडे सहित नियमित श्रमदानी विनय जैन, संतोष गुप्ता, मोहित राठौर, शिवकुमार तिवारी, राजकुमार प्रजापति, रत्नेश सोनी, कृपाराम, मुन्नालाल तिवारी एवं फुटबॉल क्लब के कोच रविकांत नामदेव, उदित शर्मा, आदित्य, अमन, योगेंद्र एवं पर्यावरणविद नीरज चौरसिया आदि नदी से कचरा व अवशेष निकालने में जुटे रहे।

 

बेतवा में प्रतिमाओं के अवशेष निकालने का कार्य शुरू कर दिया गया है। एक-दो दिन में में यह कार्य पुरा कर लिया जाएगा। पहले दिन करीब 4 डंपर कचरा नदी से निकाला गया।
-हरीश सोनी, प्रभारी, स्वास्थ्य शाखा, नपा

हलाली से सोमवार की दोपहर करीब 1.30 बजे पानी छोड़ा गया है। इससे 20 मिलियन घनफिट वाले डेम को भरा जाएगा। आवश्यकता पडऩे पर दोबारा पानी लिया जाएगा।
-वायएस भदौरिया, जल व्यवस्था प्रभारी, नपा

Krishna singh
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned