पीएचइ के विरोध में एकजुट हुए नागरिक, दी आंदोलन की चेतावनी

250 लोगों ने हस्ताक्षर कर एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

By: govind saxena

Updated: 20 Sep 2021, 10:41 PM IST

ग्यारसपुर. नगर में पीएचइ के ठेकेदार द्वारा जल आवर्धन योजना में की गई अनियमितताओं और खोदी गई सडक़ों को नहीं सुधारने के कारण आए दिन सामने आ रही परेशानियों को देख नगर के लोग एकजुट हुए और पत्रिका में सोमवार को प्रकाशित इसी संबंधी खबर को आधार बनाकर करीब ढाई सौ लोगों के हस्ताक्षर वाले ज्ञापन के साथ एसडीएम से मिले और समस्या से निजात दिलाने की मांग करते हुए ठेकेदार द्वारा काम नहीं किए जाने पर आंदोलन की चेतावनी दी। इस पर एसडीएम ने उन्हें विभाग से बात कर दो-तीन दिन में काम पूरा कराने का भरोसा दिया है।

इन समस्याओं से जूझ रहे हैं लोग
नगर में 2 वर्ष पूर्व लगभग 50 लाख की लागत से जल आवर्धन योजना के तहत कार्य किया गया था। नागरिकों ने ज्ञापन में आरोप लगाया है कि पूरे नगर में जमीन के अंदर पाइप लाइन बिछाना थी परंतु ठेकेदार ने कहीं-कहीं पाइपलाइन सडक़ के ऊपर ही डाल दी, जिसमें दिए गए नल कनेक्शन में लगे लोहे के क्लैंप एवं कीलों से वाहनों के टायर पंचर होते हैं। कहीं-कहीं जमीन के अंदर पाइपलाइन डाली गई है तो वहां पर सडक़ खोदने के बाद सडक़ की रिपेयरिंग नहीं की गई जिससे वाहन चालक परेशान हो रहे हैं, क्योंकि आए दिन वाहन इस में गिरते रहते हैं। पाइप लाइन कई जगह से लीकेज हो रही है जिससे सडक़ों पर पानी बह रहा है। वही ंइस योजना के अंतर्गत विद्युत मोटर जलने पर ठीक कराने एवं रखरखाव के नाम पर राशि का दुरुपयोग किया जा रहा है। ज्ञापन सौंपने वालों में धर्मेंद्र विश्वकर्मा, स्वदीप रघुवंशी, दीपक रघुवंशी, रघुवीर सिंह, पंकज जैन, अनुराग सोनी, हेमंत रघुवंशी, शिवम नेमा, संजीव, भूरा, शहीद खां, अंकित सोनी, अबरार खां, कमलेश कुशवाह आदि अनेक लोग शामिल थे।

वर्जन...
समस्या के संबंध में पीएचइ के कार्यपालन यंत्री एवं एसडीओ से फोन पर बात हुई है। दो-तीन दिन के अंदर कार्य प्रारंभ किया जाएगा।
-बृजेंद्र रावत, एसडीएम ग्यारसपुर

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned