विदिशा में शवों को जगह नहीं, नीचे जलाना पड़ रहीं चिताएं

चार दिन में 17 की मौत, स्वास्थ्य विभाग आंकड़ों पर मौन

By: govind saxena

Published: 14 Apr 2021, 10:24 PM IST

विदिशा. अब भी समय है सतर्क हो जाएं, हालात बेकाबू होते जा रहे हैं, सावधानी से ही बचा जा सकता है। अब कोरोना संक्रमण से प्रभावित होने वालों का ही आंकड़ा नहीं बढ़ रहा, बल्कि कोरोना से रोजाना मौतों का ग्राफ भी तेजी से बढ़ चला है। रोजाना 4-6 लोग कोरोनाकाल के गाल में समा रहे हैं। पिछले चार दिन में ही 17 लोगों की मौत कोरोना से हो चुकी है। हालात ये हैं कि अब विदिशा का मुक्तिधाम भी छोटा पड़ रहा है। यहां अंतिम संस्कार के लिए 13 चबूतरे हैं, लेकिन चिताओं को जलाने अब जगह नहीं। बुधवार को कई चिताएं चबूतरों से नीचे जलाना पड़ीं। यही कारण है कि अब नया श्मशान बनाने मजबूर होना पड़ रहा है।

झूठ बोलते हैं स्वास्थ्य विभाग के ये आंकड़े
स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े लोगों को कितना गुमराह करने वाले हैं, इसका अंदाजा सीएमएचओ डॉ. केएस अहिरवार के हस्ताक्षर से जारी किए जाने वाले हेल्थ बुलेटिन से लगता है। हेल्थ बुलेटिन में 10 अप्रेल तक कोरोना से मौतों की संख्या कुल 77 और 11 अप्रेल तक 78 बताई जा रही थी, जो 14 अप्रेल की शाम को कुल 80 बता दी गई। यानी जिले में 12, 13 को कोई मौत नहीं हुई और 14 अप्रेल को मात्र दो लोगों की मौत कोरोना से हुई है। जबकि हम बताते हैं आपको विदिशा जिले में कोरोना से मौत की हकीकत-
11 अप्रेल- 4 की मौत
12 अप्रेल- 3 की मौत
13 अपेल- 4 की मौत
14 अप्रेल- 6 की मौत

जिले में 177 नए संक्रमित, विदिशा में 155
बुधवार की शाम जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार जिले में 177 नए कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इनमें से सर्वाधिक 155 विदिशा, नटेरन 15, ग्यारसपुर 1, बासौदा 5 तथा सिरोंज के 1 व्यक्ति पॉजीटिव पाए गए हैं। जिले में अब एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 966 हो गई है। जिले में बुधवार को 755 नए सैंपल लिए गए, जबकि पहले से 636 सैंपल की रिपोर्ट पेंडिंग है।

दस नए शवदाह स्थल का निर्माण शुरू
कोरोना संक्रमण से मरने वालों और मौजूदा श्मशान घाट पर शवदाह स्थलों की स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने मुक्तिधाम के पीछे ही दस नए शवदाह स्थल बनाने का काम शुरू किया है। बुधवार को इनका लेआउट कर काम शुरू कर दिया गया। यहां पेड़ों की छंटाई कर मुरम डाली गई है और अस्थाई शवदाह स्थल बनाने का काम जेसीबी से करवाया जा रहा है। मुक्तिधाम सेवा समिति के सचिव मनोज पांडेय ने बताया कि स्थान का चयन करके दस अस्थाई शवदाह स्थल बनाए जा रहे हैं, जिनका मौजूदा हालात में उपयोग होगा। आवश्यकता पडऩे पर इनकी संख्या और बढ़ाई जा सकती है।

मुश्किल हालात, कहां करें अंतिम संस्कार
मुक्तिधाम पर बुधवार को चिताओं को जलाने की जगह नहीं थी। मौजूदा मुक्तिधाम में 13 शवदाह स्थल चबूतरों पर बने हैं, लेकिन इनमें से कोई भी खाली नहीं था। स्थिति यह थी कि हर चबूतरे के नीचे चिताएं जल रहीं थीं। मुक्तिधाम में 13 शवदाह स्थलों की जगह 22 चिताएं थीं। यानी 8 चिताओं को चबूतरे से अलग नीचे जलाना पड़ा था। यहां अपने भतीजे संजय गुप्ता का अंतिम संस्कार करने पहुंचे संतोष गुप्ता ने बताया कि पिछले चार-पांच दिन से यही हालात हैं। कोरोना से मरने वालों के कारण जगह कम पडऩे लगी है। अब चबूतरे से नीचे ही चिताएं जलाई जा रही हैं। जगह नहीं है कहां करें अंतिम संस्कार।


मुक्तिधाम के पीछे दफन किए जा रहे शव
जहां मुक्तिधाम में अतिरिक्त शवदाह स्थल बनाए जा रहे हैं, वहीं कोरोना से पीडि़त मुस्लिम समाज के लोगों को दफन करने के लिए मुक्तिधाम से आगे प्रशासन ने इंतजाम किए हैं। बुधवार को भी वहां मुस्लिम समाज के व्यक्ति को दफन कराने के लिए प्रशासन और नगरपालिका की टीम पहुंची। जेसीबी से कब्र खुदवाकर उसमें शव को दफनाया गया। बताया गया है कि बुधवार को विदिशा में 6 लोगों का अंतिम संस्कार किया गया, ये सभी कोरोना पीडि़त थे। इनमें तीन विदिशा और तीन रायसेन के मृतक शामिल हैं।

बाजार में कई बार जाम, भारी भीड़
सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को प्रशासन ने लॉकडाउन के बावजूद किराना और खाद्य सामग्री की दुकानों को दोपहर 12 से शाम 5 बजे तक खोलने की छूट दी है, लेकिन इस दौरान कई अन्य दुकानें भी खुलने लगी हैं। इस छूट के समय शहर में भारी भीड़ उमड़ रही है। बुधवार को शहर के कई इलाकों में इतनी भीड़ थी कि निकलना मुश्किल हो रहा था। बार-बार जाम से निकासा, बांसकुली, बड़ा बाजार, तिलक चौक, खरीफाटक और गुरुद्वारे के पास वाली रोड पर निकलना मुश्किल हो रहा था।

दुकानें बंद कराईं, चालान किए
नवागत तहसीलदार रितु मुदगल ने बुधवार को बाजार में निकलकर सख्ती से कार्रवाई की। उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के दौरान खोलने की अनुमति के बावजूद अवैध तरीके खोली गई दुकानों पर कार्रवाई की गई है। कलेक्टर के आदेश पर यह कार्रवाई की गई है। करीब 40 दुकानों पर यह कार्रवाई हुई है। इस दौरान जो लोग मास्क नहीं लगाए मिले लोगों पर भी चालान किए गए।

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned