नए सॉफ्टवेयर में फंसा कर्मचारियों का वेतन

10 हजार से अधिक सरकारी कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला

By: योगेंद्र Sen

Published: 10 Feb 2018, 11:56 AM IST

विदिशा। जिला कोषालय में नए साफ्टवेयर की कुछ तकनीकी कमियों के कारण जनवरी माह का वेतन उलझकर रह गया। 10 हजार से अधिक सरकारी कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल सका है। जिससे उन्हें आर्थिक परेशानी हो रही है। जिला कोषालय से मिली जानकारी के अनुसार जिले भर में करीब 25 हजार नियमित और अनियमित अधिकारी-कर्मचारियों को वेतन दिया जाता है। विभिन्न योजनाओं के बिल भी यहीं से पास किए जाते हैं। जनवरी माह से पायलट प्रोजेक्ट के तहत आईएक्सएमआईएक्स साफ्टवेयर में काम करना शुरु किया गया है। जिसमें फिलहाल कुछ धीमी गति से हो पा रहा है। इस कारण फरवरी की सात तारीख निकलने के बावजूद 10 हजार से अधिक कर्मचारियों को भुगतान नहीं हो सका है। करीब 4 हजार विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति का भुगतान अटका हुआ है। इसके अलावा अन्य शासकीय भुगतान में भी विलंब हो रहा है।

नया साफ्टवेयर आने के कारण कुछ परेशानी तो आ रही है। कुछ विभागों के डीडीओ द्वारा समय पर बिल प्रस्तुत नहीं किए गए हैं। इस कारण उनके कर्मचारियों का भुगतान अब तक नहीं हो सका है। एक हफ्ते में लगभग सभी का भुगतान हो जाएगा। पायलट प्रोजेक्ट के तहत जिले को चुना जाना गर्व की बात है। यहां की सफलता के बाद इसे प्रदेश भर में लागू किया जाएगा।
- एके परिहार, जिला कोषालय अधिकारी विदिशा

पटरी पार करते समय ट्रेन की चपेट में आया यात्री
इधर, रेलवे प्लेटफार्म-तीन के पास टे्रन की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। जीआरपी ने बताया कि ग्राम नरोदा निवासी 40 वर्षीय शिवलाल अहिरवार मेमू ट्रेन से उतरकर पटरी पार करते समय बिलासपुर एक्सप्रेस की चपेट में आ गया। जिससे उसकी मौत हो गई। वहीं जानकारों का कहना है कि ट्रेन हादसों से बचने के लिए जागरूकता जरूरी है। क्यों कि इसके पहले भी रेल हादसे में कई लोगों की जान रेलवे ट्रेक पार करने में जा चुकी है। ग्रामीण क्षेत्र में मवेशियों को चराने ले जाते ग्रामीण भी रेलवे ट्रेक पार करने में सावधानी नहीं रखते है। सावधानी ने इन हादसों में कमी लायी जा सकती है।

योगेंद्र Sen Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned