मंडी में बुजुर्ग किसान की हालत बिगड़ी तो तुरंत ही शुरू हुई उपज की तुलाई

मंडी में बुजुर्ग किसान की हालत बिगड़ी तो तुरंत ही शुरू हुई उपज की तुलाई

Krishna singh | Publish: Jan, 20 2019 06:05:04 AM (IST) Vidisha, Vidisha, Madhya Pradesh, India

एक हफ्ते से 68 किसान कर रहे थे तुलाई का इंतजार, एसडीएम ने अपने वाहन से किसान को पहुंचाया जिला अस्पताल, शाम को हो गई छुट्टी

विदिशा. मिर्जापुर स्थित कृषि उपज मंडी में बने धान के समर्थन मूल्य केंद्र पर उपज बेचने आए बुजुर्ग किसान की उपज हफ्ते भर बाद भी नहीं तुल पाने के कारण शनिवार की सुबह उसकी तबियत ज्यादा खराब हो गई। जिससे वह गिर गया और साथी किसानों ने उसे संभाला। जिसकी जानकारी लगते ही एसडीएम सीपी गोहल सहित जिला खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी नुजहत बकाई, मंडी सचिव केके वगवैया आदि अधिकारी पहुंचे और किसान की हालत देखते हुए उसे एसडीएम ने अपने वाहन से जिला अस्पताल पहुंचाया। वहीं किसान की हालत बिगड़ी तो एक हफ्ते से तुलाई का इंतजार कर रहे किसानों की उपज की तुलाई कुछ ही समय में शुरू हो गई।

 

मालूम हो कि 15 जनवरी को समर्थन मूल्य पर खरीदी का अंतिम दिन था। जिसके चलते बरखेड़ी के बुजुर्ग किसान प्रतापसिंह यादव 13 जनवरी की सुबह एक ट्रॉली धान लेकर मंडी परिसर पहुंच गए थे, लेकिन 13 को रविवार की वजह से तुलाई नहीं की गई। वहीं सोमवार को भी तुलाई नहीं हो सकी। फिर 15 सुबह से तुलाई हुई, लेकिन उनका नम्बर फिर भी नहीं लग सका और रात तक वे अपनी बारी का इंतजार करते रहे और अगले दिन 16 जनवरी को उन्हें बताया गया कि समर्थन मूल्य पर खरीदी बंद हो गई है, क्योंकि 15 को पोर्टल ही बंद हो गया था। जिससे वे मायूस हो गए। उनके साथ ही करीब 68 किसानों की उपज की तुलाई नहीं हो सकी। इनमें से कुछ तो वापस गांव चले गए थे, लेकिन तुलाई की उम्मीद में करीब 40 किसान मंडी परिसर में ही डेरा डाले रहे क्योंकि कुछ अधिकारियों ने उनके नाम लिखे थे और तुलाई का भरोसा दिलाया था। लेकिन 19 जनवरी तक कोई तुलाई नहीं हुई, तो किसानों के सब्र का बांध टूट गया। वहीं बुजुर्ग किसान यादव की कड़ाके की सर्दी में एक हफ्ते से रहने के कारण बीती रात तबियत खराब होने लगी और शनिवार की सुबह उनके सीने में दर्द होने लगा। जिसके चलते अन्य किसान साथियों ने उन्हें संभाला। जानकारी लगते ही किसान नेता मोहरसिंह रघुवंशी पहुंचे और प्रशासन को इस मामले की जानकारी दी। जिसके चलते कुछ ही समय में एसडीएम सहित अन्य अधिकारी पहुंचे और सबसे पहले किसान को जिला अस्पताल पहुंचाया।

 

मंडी में एक हफ्ते से रूके थे 40 किसान
बरखेड़ी के ही एक अन्य किसान नथनसिंह ने बताया कि वे भी 13 जनवरी के ही दो ट्रॉली लेकर तुलाई के लिए पहुंचे थे, लेकिन शनिवार की सुबह तक तुलाई नहीं हो सकी। इसी प्रकार बरखेड़ा के कुमेरसिंह ने बताया कि वे 14 तारीख को आ गए थे। थान्नेर के संतोष कोरी और बरखेड़ी के दीपक शर्मा आदि ने बताया कि उनके साथ ही करीब 35 से 40 किसान 13 जनवरी को ही मंडी परिसर पहुंच गए थे, लेकिन दो दिन छुट्टी के कारण तुलाई नहीं की और अंतिम दिन आ गया। वहीं 15 की रात तक तुलाई नहीं होने पर किसानों से कह दिया कि अब तुलाई नहीं होगी।

 

कड़ाके की सर्दी में हुए परेशान, नहीं थीं सुविधाएं
किसानों का कहना था कि मंडी परिसर में वे दिन-रात कड़ाके की सर्दी में रहे, लेकिन रात को ठंड से बचने और हाथ सेंकने के लिए मंडी प्रबंधन ने लकड़ी तक के इंतजाम नहीं किए थे। वहीं पीने के पानी के नाम पर तीन दिन से एक ही टैंकर खड़ा है।

 

किसानों ने अधिकारियों को घेरा, तब हुई तुलाई
बुजुर्ग किसान को अस्पताल पहुंचाने के बाद वहां मौजूद अन्य किसानों ने अधिकारियों को घेरा और उनकी उपज की तुलाई करवाने की मांग की। जिस पर एसडीएम ने बताया कि 15 तारीख तक मंडी परिसर में आने वाले सभी 68 किसानों की सूची बना दी गई है और तुलाई भी उन्होंने तुरंत अपने सामने ही शुरू करवाई। शाम तक सभी किसानों की तुलाई हो गई।

 

अधिकारी बोले-शासन को भेजा है प्रस्ताव
समर्थन मूल्य केंद्र पर 15 जनवरी के बाद आने वाले कई किसानों को एसडीएम ने बताया कि पोर्टल 15 को बंद हो जाने के कारण वे समर्थन मूल्य पर तुलाई नहीं करवा सकत, लेकिन इसकी सूचना शासन को भेज दी है, वहां से जैसे ही निर्देश मिलेंगे तत्काल शेष किसानों की तुलाई शुरू की जाएगी और उन्होंने ऐसे सभी किसानों को वापस गांव जाने के लिए कहा। जिस पर कुछ किसान अधिकारियों से बहस करते नजर आए, लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हो सकी।

 

15 जनवरी तक समर्थन मूल्य केंद्र पर जो भी किसान आ गए थे, उनकी सूची बनवाई गई थी और ऐसे सभी किसानों के उपज की तुलाई शनिवार को शाम तक करवा दी गई। वहीं 15 जनवरी के बाद आने वाले किसानों की उपज खरीदी की सूचना शासन को भेजी है, वहां से निर्देश मिलने पर आगे का कार्य होगा। वहीं बीमार हुए बुजुर्ग किसान का जिला अस्पताल में उपचार के बाद उसे छुट्टी कर दी गई।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned