पट्टा ऑनलाइन कराने भटक रहे किसान

पंचायत में नहीं हो पा रहे पट्टे ऑनलाइन

By: Anil kumar soni

Published: 27 Nov 2019, 01:08 PM IST

दीपनाखेड़ा। किसानों के पट्टे पंचायत द्वारा ऑनलाइन किया जाना है। लेकिन पंचायत में सरपंच, सचिव स्वयं यह कार्य करवाने की बजाए एमपी ऑनलाइन का रास्ता बता रहे हैं। जिससे किसान परेशान हो रहे हैं। ग्राम हिनोतिया के किसान देशराज यादव ने बताया कि पंचायत में पट्टे ऑनलाइन नहीं किए जा रहे, वहीं एमपी ऑनलाइन जाने पर वहां भी किसानों के पट्टे ऑनलाइन करने में तमाम दिक्कतें बताकर आनाकानी की जा रही है।

 

रोजगार सहायक भूपेंद्र राजपूत ने बताया कि पंचायत में फिंगरप्रिंट मशीन नहीं होने के कारण किसानों के पट्टे पंचायत से ऑनलाइन नहीं कर पा रहे हैं। इस संबंध में सिरोंज जपं सीईओ शोभित त्रिपाठी ने बताया कि स्केनिंग मशीन व्यवस्था पंचायतों में नहीं होने के कारण वहां पट्टों के ऑनलाइन करने का काम नहीं हो पा रहा है। इस कारण सचिव ग्रामीणों को एमपी ऑनलाइन की दुकानों पर भेज रहे हैं।

एमपीऑनलाइन तक पहुंचने में ही आ रहीं दिक्कतें
किसानों को पंचायत से एमपी ऑनलाइन केंद्र का रास्ता तो पट्टा ऑनलाइन करने के लिए बताया जा रहा है। लेकिन अधिकांश ग्रामीण क्षेत्रों में एमपी ऑनलाइन केंद्र ही नहीं हैं। ऐसे में ग्रामीणों को पट्टे ऑनलाइन कराने के लिए शहर के चक्कर लगाने को मजबूर हैं।

लेकिन जैसे-तैसे किसान एमपी ऑनलाइन केंद्र तक पहुंच भी जाता है, तो वहां उसे अपनी बारी के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता है और जब नम्बर आता है, तो सर्वर की समस्या के कारण उन्हें घंटों परेशान होना पड़ता है और ऐसे में वे एमपी ऑनलाइन के बार-बार चक्कर काटने को मजबूर हैं। किसानों का कहना है कि यदि पंचायत में पट्टे ऑनलाइन की व्यवस्था हो जाए तो किसानों की परेशानियों का समाधान हो जाएगा।

Show More
Anil kumar soni Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned