scriptfirst forced the girl by tying her to a tree, then put her to death | दरिंदे ने बच्ची को पहले पेड़ से बांधकर जबरदस्ती की, फिर मौत के घाट उतारा | Patrika News

दरिंदे ने बच्ची को पहले पेड़ से बांधकर जबरदस्ती की, फिर मौत के घाट उतारा

पुलिस ने 24 घंटे में ही अंधे कत्ल का किया खुलासा

विदिशा

Updated: August 04, 2021 09:57:58 pm

विदिशा. अपनी मां के पीछे-पीछे करोंदा तोडऩे के लिए निकली 11 साल की बच्ची को क्या पता था कि मां आगे निकल चुकी है और रास्ते में एक दरिंदे की नीयत उसे अकेला देखकर डोल जाएगी। दरिंदा और कोई नहीं बच्ची के गांव का ही चरवाहा था जो उस बच्ची के मवेशियों को भी रोज चराने जंगल ले जाया करता था। बच्ची को अकेला और भटकता देख आरोपी चरवाहे में वहशियत जागी, उसने उसे पास बुलाया और फिर उसके ही दुपट्टे से पेड़ से बांधकर जबरदस्ती की, बच्ची चरवाहे को पहचानती थी, इसलिए राज खुलने के डर से बाद में आरोपी ने उसी दुपट्टे से उसका गला भी घोंट दिया। पुलिस ने अंधे कत्ल के इस मामले का 24 घंटे के भीतर ही खुलासा कर दिया।
दरिंदे ने बच्ची को पहले पेड़ से बांधकर जबरदस्ती की, फिर मौत के घाट उतारा
दरिंदे ने बच्ची को पहले पेड़ से बांधकर जबरदस्ती की, फिर मौत के घाट उतारा
अकेला देख वहशियत जागी
घटना शमशाबाद तहसील के सतपाड़ा थाने के डबरी गांव की है। मृतका 11 वर्षीय बच्ची की मां मंगलवार सुबह करीब 11 बजे अपने घर से जंगल में करोंदोतोडऩे गई थी। मां के जाने के कुछ देर बाद ही बच्ची भी पिता को बताकर मां के पीछे रवाना हो गई। लेकिन मां कुछ आगे निकल गई थी और बच्ची भटक गई थी। इसी दौरान गांव के चरवाहे 25 वर्षीय राजेश आदिवासी की नजर उस पर पड़ी तो बच्ची को अकेला देखकर उसके मन में वहशियत जाग उठी। पेड़ से उसी के दुपट्टे से बांधकर राजेश ने बच्ची के साथ जबरदस्ती की और फिर पहचान उजागर होने के डर से उसी दुपट्टे से उसका गला घोंट दिया। जब बच्ची की मां घर लौटी तो बच्ची को न पाकर तलाश शुरू हुई।
पहले गायब होने और फिर शव मिलने की सूचना
मंगलवार की ही शाम 4.30 बजे बच्ची के गुम होने की पुलिस को सूचना दी गई, सतपाड़ा थाना प्रभारी लक्ष्मण डाबरी मौके के लिए रवाना होते इसी बीच करीब 15 मिनट बाद ही जंगल में बच्ची का शव मिलने की खबर आ गई। थाना प्रभारी ने मौके पर पहुंचकर वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी और एफएसएल टीम, एसपी आदि ने मौका मुआयना किया। मौके पर शव पेड़ से दुपट््टे की मदद से बंधा था। उसी दुपट्टे से हाथ और गला बंधा था।
एसपी की योजना काम आई
हत्या की आशंका पर एसपी विनायक वर्मा ने तत्काल टीम गठित की और परिस्थितियों को देखते हुए जंगल से संबंधित लोगों और संदिग्धों को तलाशने को कहा। आरोपी को तलाशने के लिए एसपी की रणनीति का असर हुआ और रात को ही पुलिस ने 4-5 लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की। इन्हीं में से एक राजेश आदिवासी चरवाहे की उस समय जंगल में मौजूदगी पाई गई। पूछताछ में राजेश ने अपना जुर्म स्वीकार किया। उधर शव को रात को ही विशेष अनुमति लेकर मेडिकल कॉलेज विदिशा लाया गया, जहां वीडियोग्राफी के साथ ही तीन डॉक्टर्स की पैनल ने देर रात उसका पोस्टमार्टम किया और शार्ट पीएम रिपोर्ट में दुष्कृत्य की पुष्टि की।

कई धाराओं में प्रकरण दर्ज
आरोपी नेे बताया कि वह मृतका को जानता था, गांव के साथ ही उसके मवेशी भी वह रोज चराने जाता था, लेकिन जंगल में उसे अकेला देखकर यह हरकत कर बैठा। शार्ट पीएम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ भादंवि की धारा 363, 366, 376, 376 ए-बी, 377, 302 सहित अन्य धाराओं और पाक्सो एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार किया। आरोपी को गुरुवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

CM चन्‍नी का बड़ा आरोप, जाते-जाते ईडी के अफसरों ने कहा, ‘PM का दौरा याद रखना’भारत विरोधी कंटेंट चलाने वाले यूट्यूब चैनलों के खिलाफ होगा एक्शन- अनुराग ठाकुरभारत ने निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर बैन 28 फरवरी तक बढ़ायाभाजपा की स्टार प्रचारकों की लिस्ट से 8 महत्वपूर्ण नेता और केंद्रीय मंत्री गायब, BJP ने साइड कर दिया?अपर्णा यादव और स्वामी प्रसाद मौर्य की बेटी को BJP ने बनाया पोस्टर Girlरेगिस्तान में यहां छुपा है 4800 खरब लीटर पानी का खजानाकल होगा Toyota का धमाका! नए सेग्मेंट में एंट्री के साथ लॉन्च होगी नई पिक-अप Hilux, जानिए क्या है इसमें ख़ासविराट कोहली बोले-'जब पापा की मौत हुई, तब मेरी आंखों में आंसू नहीं थे'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.