पहली बार वोट डालेंगे 6505 नए मतदाता

सरकारी वाहन जीपीआरएस सिस्टम से लैस रहेंगे

By: Amit Mishra

Updated: 12 Oct 2018, 11:59 AM IST

विदिशा / सिरोज।  सिरोंज-लटेरी विधानसभा में इस बार 6505 मतदाता ऐसे होंगे, जो जीवन में पहली बार अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इन युवा मतदाताओं की उम्र 18-19 वर्ष के बीच है।

जबकि विधानसभा चुनाव में कुल 1 लाख 93 हजार 530 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। चुनाव में उपयोग आ रहे सरकारी वाहन जीपीआरएस सिस्टम से लैस रहेंगे जिससे सख्त मॉनीटरिंग हो सकेगी और उन्हें अपने क्षेत्र में मौजूद रहना ही पड़ेगा।

इन मतदान केन्द्रों पर होगा मतदान

सिरोंज-लटेरी विधानसभा क्षेत्र में 249 मतदान केन्द्रों पर मतदान होगा, इनमें से 13 क्षेत्र गड़बड़ी वाले हैं, जबकि 59 बूथ क्रिटिकल हैं। यहां 1 लाख 3 हजार 333 पुरुष और 90 हजार 195 महिला मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे। शहरी मतदान केन्द्र में सिरोंज में 40, लटेरी में 13, जबकि सिरोंज ग्रामीण में 93 और लटेरी ग्रामीण में 103 केन्द्र बनाये गये हैं।

विधानसभा क्षेत्र को कुल 26 सेक्टर में विभाजित किया गया है।जबकि तीन सेक्टर आफीसर रिजर्व रखे गए हैं। मतदान में सक्रिय रहने वाली सरकारी टीमों को जो वाहन प्रदान किए जाएंगे, उनमें सभी में जीपीआरएस सिस्टम लगे
होंगे, जिससे दल के अधिकारी किसी भी तरह अपने पाइंट से गायब नहीं रह सकेंगे।

 

प्वाइंट से गायब नहीं रह सकेगें अधिकारी
जो वाहन प्रदान किये जाएंगे उन सभी बाहनो में जीपी आर सिस्टम से लगा रहेगें जिससे दल के अधिकारी किसी भी तरह अपने अपने प्वाइंट से गायब नहीं रह सकेगें। यदि कोई दल निधारित स्थान पर नहीं है तो उसकी जानकारी तुरंत अधिकारियो को लग जाएगी। इन दलों को अलग अलग जिम्मेदारी सौपी गई है ।

 

इस चुनाव में सबसे बडी भूमिका युवा मतदाताओ की रहेगी। इस समय सिरोज विधानसभा का काम दो एसडीएम मिलकर देख रहे हैं। आइएएस विवेक कुमार तीन दिन पहले ही ग्यारसपुर से सिरोंज में एसडीएम के रूप में भेजे गए हैं, जबकि सिरोंज से ग्यारसपुर स्थानांरित हुए बृज बिहारी श्रीवास्तव को अभी भी चुनाव के ही काम में लगा रखा है। उन्हें रिलीव नहीं किया गया है।

 

चुनाव आयोग की सख्ती का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जो कार्यालय शाम होते ही बंद हो जातेथे, उनमें रात 12-12 बजे तक बैठक काम हो रहा है। सारा अमला चुनावी तैयारियों में जुटा है, यही कारण है कि तहसील में पक्षकारों की सुनवाई भी बहुत कम हो पा रही है।


हर वाहन और दलों के नेताओं पर रहेगी नजर
चुनाव में हर राजनैतिक दल के वाहनो और उनके द्वारा संचालित गतिविधियों पर कड़ी नजर रखी जाएगी। इसके लिए फ्लाइंग स्कॉट अलग-अलग चैकपोस्ट पर तैनात रहेगा। जितने वाहनों की अनुमति दी जाएगी, उतने ही वाहन उम्मीदवार अपने प्रचार में ले जा सकेंगा। सबका रोज का लेखा जोखा रखी जाएगी। पेड न्यूज के लिए भी केन्द्र बनाया गया है।


युवाओं की सबसे अधिक भागीदारी
विधानसभा चुनाव में पहली बार 18 से 19 वर्ष के 6505 युवा मतदाता मतदान करेगें। जबकि 20 से 29 वर्ष के 58959, &0 से &9 के 45789, 40 से 49 वर्ष के &8 221, 50 से 59 वर्ष के 22445, 60 से 6 9 वर्ष के 12744, जबकि 70 से 79 वर्ष के 6260 और 80 वर्ष से अधिक आयु के 2607 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे।

Amit Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned