लीला के लिए नंदवाना से आज भगवान जाएंगे रामलीला परिसर

ऐतिहासिक रामलीला का 120 वां वर्ष

By: govind saxena

Published: 12 Jan 2021, 08:58 PM IST

विदिशा. नगर की ऐतिहासिक रामलीला के 120 वें वर्ष के आयोजन के लिए भगवान के श्रीविग्रह नंदवाना के प्राचीन लक्ष्मीनारायण मंदिर से 13 जनवरी को विमान से रामलीला परिसर के लिए रवाना होंगेे। परंपरानुसार वे 14 जनवरी से लगातार 12 दिन यानी 25 जनवरी तक रामलीला परिसर में ही रहकर अपनी लीलाओं का संचालन करेंगे और फिर 26 जनवरी को वापस लक्ष्मीनारायण मंदिर में आ जाएंगे।
रामलीला दर्शन समिति के मनोज शर्मा ने बताया कि हमेशा की तरह रामलीला शुरू होने से पहले लक्ष्मीनारायण मंदिर से भगवान को रामलीला परिसर लाकर राम मंदिर में विराजित किया जाएगा और उनसे निर्विघ्न लीला की प्रार्थना की जाएगी। इसके साथ ही दिग्बंधन यानी दिशाओं को बांधने का काम होगा। यह दिग्बंधन भी चारों दिशाओं में पूजा कर सभी देवी देवताओं को रामलीला के आमंत्रण और हनुमान जी को रामलीला की जिम्मेदारी सौंपने की मंशा से होता है। इसमें रामलीला समिति से जुड़े लोग पूजा कर रामलीला की विधिवत शुरूआत करते हैं। इसके चलते नंदवाना लक्ष्मीनारायण मंदिर से भगवान विमान में 3 बजे रामलीला परिसर लाने के लिए चलेंगे। श्रद्धालु इस विमान को अपने कंधों पर लेकर आते हैं और भक्तिभाव से रामलीला परिसर में उन्हें विराजित किया जाता है। भगवान की यह प्रतिमा रामलीला के पूरा होने तक रामलीला परिसर में ही रहती है और राज्याभिषेक के बाद अगले दिन भगवान वापस लक्ष्मीनारायण मंदिर में आते हैं।

रामलीला में इस बार कब क्या...
कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार रामलीला का स्वरूप भी बदला गया है। 27 दिन चलने वाली रामलीला इस बार 12 दिन की ही होगी। 14 जनवरी को शिव विवाह, नारदमोह, प्रतापभानु लीला और रावण जन्म हो जाएगा। 15 को इंद्र मेघनाद युद्ध और राम जन्मोत्सव, ताडक़ा सुबाहु वध होगा। 16 को सीता स्वयंवर, परशुराम संवाद होगा। 17 को राम बारात, दशरथ सभा, ब्राम्हण भोज, 18 को राम वनवास और गंगा तरण, 19 को भरत मिलाप और खरदूषण वध, 20 को सीताहरण, बालि वध, लंका दहन, 21 को सेतुबंध, रामेश्वर स्थापना, अंगद संवाद, लक्ष्मण शक्ति होगी। 22 जनवरी को अतिकाय, कुंभकरण, मेघनाद वध होंगे। 23 को अहिरावण और नारांतक वध और 24 जनवरी को रावण वध होगा। 25 को राम राज्याभिषेक के साथ रामलीला का समापन होगा।

govind saxena Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned