सरकारी स्कूल के शिक्षकों ने रैली निकालकर सौंपा ज्ञापन

सरकारी स्कूल के शिक्षकों ने रैली निकालकर सौंपा ज्ञापन
विदिशा। तहसीलदार को ज्ञापन सौंपते शिक्षक।

Anil Kumar Soni | Updated: 23 Sep 2019, 11:24:45 AM (IST) Vidisha, Vidisha, Madhya Pradesh, India

शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्य में लगाए जाने का विरोध

विदिशा। शासकीय स्कूल के शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्य में लगाए जाने का विरोध शुरु होने लगा है। जिसके चलते सरकारी स्कूल के शिक्षकों के संगठन शासकीय शिक्षा बचाओ संघ के बैनर तले डाइट परिसर में बैठक हुई। वहीं अध्यापकों ने पुरानी पेंशन बहाली और नई पेंशन एनपीएस छोडऩे पर चर्चा की गई। इसके बाद सभी रैली के रुप में कलेक्ट्रेट पहुंचे और तहसीलदार सरोज अग्निवंशी को मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन विभिन्न मांगों के निराकरण के लिए भेजा।

वापस स्कूल भेजा जाए
डाइट परिसर में हुई बैठक में सभी ने अपने-अपने विचार रखे और चरणवद्ध आंदोलन की रणनीति बनाई गई। वक्ताओं का कहना था कि सरकारी स्कूल के शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्य में लगाए जाने से स्कूल के बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होती है। अभी करीब 100 से अधिक शिक्षकों को बीएलओ कार्य में लगा रखा है। जिन्हें वापस स्कूल भेजा जाए।


बंद होने की कगार पर
संघ के प्रांतीय अध्यक्ष सौदानसिंह ने कहा कि सरकारी स्कूल में बच्चों को कक्षा एक में प्रवेश पांच साल की आयु में दिया जाता है, जबकि निजी स्कूल में तीन साल की आयु से नर्सरी में प्रवेश दिया जाता है। इससे पांच साल की आयु होने तक अधिकांश बच्चे निजी स्कूल में प्रवेश ले लेते हैं। जिसके चलते सरकारी स्कूल में बच्चों के प्रवेश कम हो रहे हैं। वर्ष 2016-17 में बच्चों की कम उपस्थिति के कारण जिले की 54 प्राथमिक शालाओं को बंद करना पड़ा। वहीं 200 स्कूल में सिर्फ 10 से 15 बच्चे पढ़ रहे हैं, जो बंद होने की कगार पर हैं।

पुरानी पेंशन बहाली की मांग
बैठक के दौरान जिलेभर से अध्यापकों के साथ कुछ अन्य विभागों के कर्मचारी भी मौजूद रहे। सभी ने एक सुर में कहा कि सरकार पुरानी पेंशन की बहाली करे और नई पेंशन एनपीएस छोडऩे की बात कही। इसके लिए संकुल स्तर पर मुहिम चलाए जाने के सुझाव आए। बीआरसी अनिल शर्मा, वरिष्ठ अध्यापक नवलसिहं रघुवंशी, सौदानसिंह सूर्यवंशी, हुकमसिंह सूर्यवंशी, केशव रघुवंशी, अर्चना त्रिपाठी आदि ने अपने विचार रखे। बैठक के बाद सभी रैली के रूप में पुरानी कलेक्ट्रेट पहुंचे, जहां ग्रामीण तहसीलदार सरोज अग्निवंशी को ज्ञापन सौंपा गया। इस दौरान चंद्रभूषण किरार, भूपेंद्रसिंह किरार, रामकृष्ण रघुवंशी, कैलाश जाटव, मनोज श्रीवास्तव, संतोष जैन आदि मौजूद रहे।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned