scriptIn the poor construction work, the statues of great men were not even | घटिया निर्माण कार्य में महापुरुषों की प्रतिमा स्थलों को भी नहीं छोड़ा | Patrika News

घटिया निर्माण कार्य में महापुरुषों की प्रतिमा स्थलों को भी नहीं छोड़ा

कार्य में गुणवत्ता में कमी की गवाही दे रही यह प्रतिमाएं

विदिशा

Published: June 21, 2022 01:10:46 am

विदिशा। शहर में महापुरुषों की प्रतिमाओं को स्थापित करने का बेहतर कार्य हुआ। इन प्रतिमाओं के पीछे उद्देश्य यही था कि लोग इनके जीवन से प्रेरणा लेंगे लेकिन निर्माण कार्य करने वाली एजेंसियां इन प्रतिमा स्थलों के पेडस्टल निर्माण कार्य में भी लापरवाही करने से बाज नहीं आई और प्रतिमा स्थलों पर लगे टाइल्स कुछ वर्षों में ही उखड़कर गिरने लगे जो निर्माण कार्य की गुणवत्ता का खुद बखान कर रहे हैं।

गांधी स्थल से गायब टाइल्स

ऐसा ही देखने को मिल रहा है नीमताल चौराहा िस्थत गांधी प्रतिमा स्थल पर जहां राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा स्थल के पेडिस्टल केे टाइल्स टूट कर गिर चुके हैं। स्थल पर खूबसूरती के लिए बनाए गए घेरे पर से भी कई स्थानों से यह टाइल्स गायब है। गांधी की जयंती, पुण्यतिथि या राष्ट्रीय पर्व पर सभी राजनीतिक दल के लोग इस स्थान पर पहुंचकर उन्हें याद करते हैं। राजनीतिक दलों केे लिए धरना आंदोलन का भी यह प्रमुख स्थान रहा है पर गांधी के इस स्थल पर पेडस्टल से टूटते, बिखरते टाइल्स व पेडस्टल की मरम्मत पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
इस हाल में पूर्व राष्ट्रपति का प्रतिमा का स्थल
इसी तरह देश के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का प्रतिमा स्थल जीर्णशीर्ण हालत में पहुंच गया है। प्रतिमा स्थल, पेडस्टल व आसपास लगे सभी टाइल्स उखड़ चुके। यहां स्वच्छता की भी कमी है। एसएटीआई गेट के सामने लगी यह प्रतिमा करीब 9 फीट की है। 7 लाख 41 हजार में यह प्रतिमा बुलवाई गई थी और पेडस्टल पर करीब 3 लाख 37 हजार 923 रुपए खर्च किए गए पर निर्माण कार्य में गुणवत्ता की कमी के कारण यह प्रतिमा स्थल जीर्णशीर्ण हालत में पहुंच चुका है। प्रतिमा को देख आस्था से सिर झुकता है लेकिन लाखों रुपए खर्च करने के बाद भी यह स्थान कुछ देर ठहरने लायक नहीं बन सका है।
शिवाजी व विवेकानंद प्रतिमा के पेडस्टल को भी मरम्मत की जरूरत
इसी तरह मेडिकल कॉलेज मार्ग के मोड़ पर लगी वीर शिवाजी की प्रतिमा के पेडिस्टल की हालत भी ज्यादा ठीक नहीं है। छत्रपति शिवाजी की यह विशाल प्रतिमा 11 फीट ऊंची है। करीब 16 लाख 81 हजार रुपए खर्च कर इस प्रतिमा को तैयार कराकर यहां स्थापित कराया गया था। गरिमामय कार्यक्रम के दौरान प्रतिमा को 3 लाख 38 हजार 986 रुपए के पेडस्टल का निर्माण कराकर इस प्रतिमा को स्थापित किया गया लेकिन मोटी राशि खर्च करने के बाद भी पेडस्टल पर लगे टाइल्स ज्यादा समय तक टिकाऊ नहीं रह सके। प्रतिमा के आगे की ओर लगे सभी टाइल्स गिर चुके और इस खामी को छुपाने के लिए टाइल्स की कलर में ही एक बैनर लगाकर इसे ढकने का प्रयास किया गया है। वहीं ईदगाह चौराहा िस्थत विवेकानंद प्रतिमा स्थल के टाइल्स भी उखड़े हुए हैं।
यह है उदाहरण मजबूती का

शहर के कुछ इंजीनियरों के मुताबिक पेडस्टल से टाइल्स का निकलना गिरना या टूटना घटिया व गुणवत्ता युक्त कार्य न होना ही माना जाएगा। क्योंकि शहर में पुराना अस्पताल तिराहा पर पं. रविशंकर शुक्ल की प्रतिमा स्थल का पेडस्टल मजबूत कार्य का उदाहरण है। जहां करीब 16 वर्ष पूर्व मप्र के प्रथम मुख्यमंँत्री पं. रविशंकर शुक्ल की प्रतिमा स्थापित की गई थी और यह प्रतिमा स्थल एवं पेडस्टल इतने वर्ष बाद भी मजबूती के साथ िस्थत है। इसमे लगे टाइल्स वर्षों बाद भी यथावत है। इसी तरह सावरकर बाल विहार, मालवीय उद्यान एवं तिलक चौक स्थल पर भी में कई दशकों पूर्व महापुरुषों की प्रतिमाओं के पेडस्टल बने थे, लेकिन वे आज भी सुरक्षित है। मालूम हो कि पिछले पांच वर्ष में शहर में कई प्रतिमाएं लगाई गई हर पेडस्टल के निर्माण में 3 से 6 लाख तक की राशि खर्च हुई लेकिन दो तीन वर्ष में ही पेडिस्टल के टाइल्स गिरने, टूटने व गायब होने लगे हैं।

वर्जन

कई बार लोग भी टाइल्स आदि निकाल ले जाते हैं। पेडस्टल निर्माण में क्या कमी रह गई कार्य की गुणवत्ता दिखवाई जाएगी। प्रतिमा स्थलों का निरीक्षण कर कार्य को दुरुस्त कराया जाएगा।
-अनिल पिप्पल, प्रभारी कार्यपालन यंत्री, नपा
घटिया निर्माण कार्य में महापुरुषों की प्रतिमा स्थलों को भी नहीं छोड़ा
घटिया निर्माण कार्य में महापुरुषों की प्रतिमा स्थलों को भी नहीं छोड़ा

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

बिहार : महागठबंधन सरकार का आज मंत्रिमंडल विस्तार, 31 मंत्री लेंगे शपथFIFA ने भारतीय फुटबॉल महासंघ को किया सस्पेंड; महिला वर्ल्ड कप की मेजबानी भी छीनीपूर्व PM अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि आज, राष्ट्रपति, पीएम मोदी सहित कई नेताओं ने दी श्रद्धांजलिBJP के बड़े नेता और बिहार के पूर्व मंत्री सुभाष सिंह का दिल्ली में निधन, तेजस्वी यादव ने दी श्रद्धांजलिBilkis Bano Gang Rape: आजीवन कारावास की सजा काट रहे सभी 11 दोषी रिहा, राज्य सरकार की माफी योजना के तहत जेल से आए बाहरIndependence Day 2022: भारत की आजादी के 75 साल पूरे होने पर इन देशों ने दी बधाईयां और कही ये बातभारतीय स्टार वीर महान ने WWE में अपने दुश्मन को मार-मारकर किया 'अधमरा', Raw में मचा घमासानKarnataka News: शिवमोग्गा में सावरकर के पोस्टर को लेकर बढ़ा विवाद, धारा 144 लागू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.